पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अलीगढ़ का छात्र यूएसए में बना 10वीं का स्कूल टॉपर:अमेरिका पढ़ने गए मोटर मैकेनिक के बेटे ने हाईस्कूल में किया टॉप; स्टूडेंट ऑफ द मंथ से भी नवाजा गया था

अलीगढ़3 महीने पहले
अपने स्कूल के प्रशस्ति पत्र के साथ मोहम्मद शादाब।
  • एएमयू में मोहम्मद शादाब ने 9वीं की पढ़ाई की थी, इसके बाद हासिल की स्कॉलरशिप
  • बेलफास्ट एरिया हाईस्कूल में अपनी कक्षा में किया टॉप, 12 जुलाई को आया था रिजल्ट, सभी विषयों में मिले ए ग्रेड

कहते हैं कि गरीबी कभी पढ़ाई के आड़े नहीं आती। इसे सच कर दिखाया है अलीगढ़ के रहने वाले मोहम्मद शादाब ने। शादाब में अमेरिका (यूएसए) में पढ़ने के लिए छात्रवृत्ति हासिल की थी। अब उसने बेलफास्ट एरिया हाईस्कूल में अपनी कक्षा में टॉप किया है। इससे पहले उसे फरवरी माह में स्टूडेंट ऑफ द मंथ के खिताब से नवाजा गया था। शादाब के पिता अरशद नूर मोटर मैकेनिक हैं। बेटा किस स्कूल का टॉपर बना है, यह बाेलने में भले ही उनकी जुबान साथ नहीं देती, लेकिन उनके चेहरे का नूर बढ़ गया है। वे उसे आईपीएस बनाना चाहते हैं। लेकिन बेटा आगे चलकर संयुक्त राष्ट्र में मानवाधिकार अधिकारी बनकर काम करना चाहता है।  

अमेरिका में शादाब।
अमेरिका में शादाब।

इस तरह अमेरिका में पढ़ने की मिली मदद

जमालपुर निवासी मोहम्मद शादाब ने बताया कि 2019 में उसने नौंवी कक्षा की पढ़ाई एएमयू से की। उसके बाद कैनेडी लुगर यूथ एक्सचेंज एंड स्टडी यानि "यस स्कॉलरशिप" के लिए चयन हुआ था। तकरीबन 6 राउंड पूरे करने के बाद उसने यह सफलता हसिल की थी।

शादाब के स्टूडेंट ऑफ द मंथ की वेबसाइट पर स्टोरी।
शादाब के स्टूडेंट ऑफ द मंथ की वेबसाइट पर स्टोरी।

शादाब को हाईस्कूल की पढ़ाई के लिए कैलिफोर्निया भेजा गया था। उसको यस स्कॉलरशिप के तहत 28 हजार अमेरिकी डॉलर यानि भारतीय मुद्रा के अनुसार तकरीबन 20 लाख रुपए बतौर स्कॉलरशिप दिए गए थे। इसके बाद उसने अमेरिका में कैलिफोर्निया के बेलफास्ट एरीया हाईस्कूल से अच्छे अंक हासिल कर स्कूल टॉप किया है। शादाब ने बताया कि उसकी क्लास में 800 छात्र थे और उनके बीच उसने टॉप किया है। उसको इंटरनेशनल स्टूडेंट ऑफ द मंथ पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया।

मोहम्मद शादाब के पिता अरशद नूर।
मोहम्मद शादाब के पिता अरशद नूर।

वंदे भारत मिशन के तहत स्वदेश लौटा शादाब

मोहम्मद शादाब गरीब परिवार से हैं। शादाब ने कहा कि, मेरे परिवार की आर्थिक हालत ठीक नहीं है। मैं अपने माता-पिता की मदद करना चाहता हूं, ताकि वे मुझ पर गर्व कर सकें। मैं भारत सरकार का आभारी हूं कि उन्होंने मुझे पढ़ने के लिए अमेरिका भेजा। वहां मुझे भारत का झंडा फहराने का मौका दिया। बता दें कि शादाब के पिता अलीगढ़ के सारसौल के नजदीक बस, ट्रक की रिपेयरिंग का काम करते हैं। शादाब की इस कामयाबी पर परिवार में खुशी का माहौल है और उत्साहित होकर उसके पिता अरशद नूर उसे आईपीएस बनाना चाहते हैं। ताकि वह देश की सेवा कर सके। मोहम्मद शादाब पिछले दिनों वंदे भारत मिशन के तहत अमेरिका से भारत लौटा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें