पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुख्तार के शूटर की हत्या का केस:इलाहाबाद हाईकोर्ट का आदेश- अब गाजियाबाद सीबीआई कोर्ट में मुन्ना बजरंगी मामले की सुनवाई होगी, बागपत जेल में मुन्ना को गोली मारी गई थी

प्रयागराज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुन्ना बजरंगी और उसकी हत्या का आरोपी सुनील राठी।
  • सीबीआई ने तबादले की अर्जी दी थी
  • 8 जुलाई 2018 को बागपत जेल में हुई थी मुन्ना बजरंगी की हत्या

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने गुरुवार को बाहुबली मुख्तार अंसारी के शाॅर्प शूटर रहे मुन्ना बजरंगी की हत्या के मामले को गाजियाबाद की सीबीआई कोर्ट में ट्रांसफर करने का निर्देश दिया है। जस्टिस सुनीत कुमार ने जिला जज बागपत से कहा कि मुकदमे की पूरी पत्रावली सीबीआई कोर्ट की विशेष अदालत को भेजी जाए। उन्होंने यह आदेश मामले की जांच कर रही सीबीआई की अर्जी को स्वीकार करते हुए दिया है। इस केस में आरोपी सुनील राठी के खिलाफ आपराधिक मुकदमे चल रहा है।

दोषियों को जल्द सजा दिलाने के लिए केस ट्रांसफर करने की मांग उठाई थी
सीबीआई के वरिष्ठ अधिवक्ता का कहना था कि खेकरा थाने से कोर्ट में जमा सभी मूल दस्तावेजों के साथ केस को सीबीआई अदालत को ट्रांसफर किया जाए, ताकि मामले में साजिश समेत हत्या की जांच कर दोषियों को सजा दिलाई जाए। 7 माह पहले प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह ने पति के हत्या की सीबीआई से जांच कराने के लिए याचिका दायर की थी। जिस पर कोर्ट ने जांच सीबीआई को सौंपते हुए दूसरे जेल से 12 घंटे के भीतर मुन्ना बजरंगी को बागपत जेल भेजने और उसकी जेल मे हत्या के षडयंत्र की विस्तृत जांच का निर्देश दिया था। कोर्ट ने कहा था कि षडयंत्र के पीछे के लोगों का पता लगाया जाए और पता किया जाए कि क्या वास्तव में सुनील राठी ने ही हत्या की है? सीबीआई ने जांच अपने हाथ में लेकर केस को सीबीआई अदालत में तबादला करने की मांग की थी, जिसे हाईकोर्ट ने स्वीकार कर लिया है।

सुनील राठी ने 12 गोली मारी थी, जुर्म भी कबूल किया था
पूर्व बसपा विधायक लोकेश दीक्षित से रंगदारी मांगने के आरोप में बागपत कोर्ट में बजरंगी की पेशी होनी थी। इसी कारण उसे 8 जुलाई 2018 की देर रात झांसी जेल से बागपत लाया गया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मुन्ना बजरंगी के शरीर में 12 गोलियों के निशान पाए गए थे। वहीं, उसके शरीर पर भी कई चोट के निशान मिले थे। मुन्ना बजरंगी की हत्या बागपत जेल में बंद गैंगस्टर सुनील राठी ने की थी। पुलिस पूछताछ में सुनील ने अपना जुर्म कबूल कर लिया था। राठी ने कहा था कि दोनों के बीच बहस हुई थी। इसके बाद राठी ने गोली मारकर बजरंगी की हत्या कर दी थी। मुन्ना बजरंगी पर 40 हत्याओं, लूट, रंगदारी की घटनाओं में शामिल होने का केस दर्ज थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें