पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • New Variant Of Corona Spread In Aligarh VIce Chancellor Of AMU Sent Sample To ICMR; Write A Letter And Say This Virus Is Killing Many People, Check It

अलीगढ़ में कोरोना का नया वैरिएंट?:AMU के कुलपति ने ICMR को सैंपल भेजा; खत लिखकर कहा- ये वायरस बहुत लोगों की जान ले रहा है, इसकी जांच कराएं

अलीगढ़3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से डराने वाली खबर आ रही है। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के कुलपति ने यहां कोरोना का नया और खतरनाक वैरिएंट फैलने की आशंका जताई है। कुलपति प्रो. तारिक मंसूर ने कुछ सैंपल कलेक्ट करवाकर जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज, दिल्ली और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) को भेजा है।

प्रो. तारिक मंसूर ने ICMR के DG को खत लिखकर इन सैंपल्स की जांच कराने की मांग भी की है। बता दें कि पिछले 18 दिन में AMU के 16 वर्किंग प्रोफेसर को कोरोना निगल चुका है। यूनिवर्सिटी में कोरोना से पहली मौत पूर्व प्रॉक्टर और डीन स्टूडेंट वेलफेयर प्रोफेसर जमशेद अली सिद्दीकी की 20 अप्रैल को हुई थी। ये सभी प्रोफेसर अलीगढ़ शहर में अलग-अलग जगह पर रहते थे।

कुलपति ने लिखा- मेरे कई प्रोफेसर्स और स्टाफ की मौत हुई
AMU के कुलपति ने ICMR को लिखे पत्र में बताया, '16 AMU शिक्षकों, कई रिटायर्ड शिक्षकों और कर्मचारी, जो विश्वविद्यालय कैंपस और आस-पास के इलाकों में रहते थे उनकी कोरोना से मौत हो चुकी है। पिछले कुछ दिनों में इसकी संख्या तेजी से बढ़ी है।

ऐसा माना जाता है कि विश्वविद्यालय से सटे सिविल लाइंस क्षेत्र में एक अलग तरह का वायरस फैल रहा है। हमारे लैब से भेजे गए कोविड 19 सैंपल्स को आप अपने लैब में चेक कराएं, ताकि इससे पता चल सके कि वायरस का ये नया स्ट्रेन कितना खतरनाक है। ताकि हम समय रहते बचाव के अन्य तरीके भी अपना सकें।'

हैदराबाद में मिल चुका है नया वैरिएंट
आंध्र प्रदेश में हाल ही में कोरोना का नया स्ट्रेन मिला है। इसे AP Strain और N440K नाम दिया गया है। सेंटर फॉर सेल्यूलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (CCMB) के वैज्ञानिकों का दावा है कि भारत में मौजूदा स्ट्रेन के मुकाबले नया वैरिएंट 15 गुना ज्यादा खतरनाक है।

नए वैरिएंट से संक्रमित होने वाले मरीज 3-4 दिनों में हाइपोक्सिया या डिस्पनिया के शिकार हो जाते हैं। इस स्थिति में सांस मरीज के फेफड़े तक पहुंचना बंद हो जाती है। सही समय पर इलाज और ऑक्सीजन सपोर्ट नहीं मिलने पर मरीज की मौत हो जाती है। भारत में इन दिनों इसी के चलते ज्यादातर मरीजों की मौत हो रही है।

विशेषज्ञों के मुताबिक अगर समय रहते इसकी चेन को तोड़ा नहीं गया तो कोरोना की ये दूसरी लहर और भी ज्यादा भयावह हो सकती है, क्योंकि ये मौजूदा स्ट्रेन B.1617 और B.117 से कहीं ज्यादा खतरनाक है।

16 मई तक AMU कार्यालय बंद
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के सभी कार्यालय 16 मई तक बंद रहेंगे। हालांकि, इस दौरान ऑनलाइन कक्षाएं जारी रहेंगी। AMU के रजिस्ट्रार अब्दुल हमीद (IPS) ने बताया कि इस दौरान मेडिकल फैसेलिटी, साफ-सफाई, बिजली, पानी की सप्लाई, आवासीय हाल सेवाएं, केंद्रीय आटोमोबाइल कार्यशाला, टेलीफोन विभाग, भूमि और उद्यान विभाग, प्राक्टर कार्यालय और कंप्यूटर केंद्र सहित इमरजेंसी सेवाओं से जुड़े बाकी कार्यालय खुले रहेंगे।

खबरें और भी हैं...