पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Officers Arrived To Settle The Quota Dispute; Young Man Shot In The Chest In Front Of CO And SDM, Died On The Spot

यूपी में अधिकारियों के सामने हत्या:भाजपा विधायक के करीबी ने पुलिस अफसरों और एसडीएम के सामने युवक के सीने में 4 गोलियां मारीं, सरकारी दुकान को लेकर था विवाद

बलियाएक वर्ष पहले
फोटो बलिया की है। इसमें लाल शर्ट में आरोपी धीरेंद्र। फोटो वीडियो से ली गई है।

उत्तर प्रदेश के बलिया में गुरुवार को पुलिस अधिकारियों और एसडीएम के सामने एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मामला दुर्जनपुर के बैरिया का है। यहां कोटे की दो दुकानों का विवाद सुलझाने के लिए सीओ चंद्रकेश सिंह, बीडीओ बैरिया गजेंद्र प्रताप सिंह और एसडीएम सुरेश पाल पहुंचे थे। विवाद धीरेंद्र सिंह और जयप्रकाश उर्फ गामा पाल के बीच था।

पुलिस के मुताबिक, धीरेंद्र ने जयप्रकाश के सीने में 4 गोलियां मार दीं और फरार हो गया। धीरेंद्र बैरिया के भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह का करीबी बताया जा रहा है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इस घटना का वीडियो ट्वीट किया है और घटना की निंदा की है।

आजमगढ़ डीआईजी सुभाष चंद दुबे घटनास्थल पहुंच गए हैं। इस बीच, बलिया पुलिस अधीक्षक को घटनास्थल पर ही रहने का निर्देश दिया गया है। जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होगी, तब तक बलिया के एसपी मौके पर ही रहेंगे। इस बीच, मौके पर भारी संख्या में पुलिस व पीएसी बल तैनात किया गया है।

गांव में तनाव की स्थिति बनी हुई है। आरोपियों की अभी तक गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। इस मामले में 8 नामजद और 25 अज्ञात के खिलाफ FIR दर्ज की गई है। एसीएस अविनाश के. अवस्थी ने बताया कि बलिया में हुई घटना के मामले में मुख्यमंत्री ने एसडीएम समेत वहां मौजूद पुलिसकर्मी और अधिकारी को सस्पेंड करने के आदेश दिए हैं। दोषी पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

विवाद सुलझाने के लिए पंचायत हुई, अधिकारी भी पहुंचे थे

ग्राम सभा दुर्जनपुर व हनुमानगंज की कोटे की दो दुकानों के कोटे के लिए पंचायत भवन पर बैठक बुलाई गई थी। एसडीएम बैरिया सुरेश पाल, सीओ बैरिया चंद्रकेश सिंह, बीडीओ बैरिया गजेंद्र प्रताप सिंह के साथ ही रेवती थाने की पुलिस फोर्स मौजूद थी। दुकानों के लिये 4 स्वयं सहायता समूहों ने आवेदन किया था।

दुर्जनपुर की दुकान के लिए दो समूहों के बीच मतदान कराने का निर्णय लिया गया। अधिकारियों ने कहा कि वोटिंग वही करेगा, जिसके पास आधार या कोई दूसरा पहचान पत्र होगा। एक पक्ष के पास कोई आईडी प्रूफ नहीं था। इसको लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद शुरू हो गया।

विवाद बढ़ने के बाद चले लाठी-डंडे और ईंट-पत्थर
विवाद के दौरान लाठी-डंडे और ईंट-पत्थर चलने लगे। एक पक्ष ने फायरिंग शुरू कर दी। दुर्जनपुर के जयप्रकाश उर्फ गामा पाल को धीरेंद्र ने ताबड़तोड़ चार गोलियां मार दीं। जयप्रकाश को लेकर लोग सीएचसी पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इलाके में तनाव को देखते हुए फोर्स तैनात की गई है।