बरेली...स्मैक तस्कर गिरफ्तार:कई महीनों से पुलिस को थी तलाश, आरोपी दर्ज हैं 12 से अधिक मुकदमे

बरेली21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फतेहगंज पश्चमी थाने से वांछित - Dainik Bhaskar
फतेहगंज पश्चमी थाने से वांछित

बरेली में फतेहगंज पश्चमी थाने से वांछित और कई महीने से फरार चल रहे स्मैक तस्कर शाहिद उर्फ कल्लू को पुलिस ने धर दबोचा। इस दौरान आरोपित के पास से पुलिस ने 260 ग्राम स्मैक बरामद की। हालांकि इस दौरान तस्कर के 5 साथी भागने में कामयाब रहे। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर सभी की तलाश शुरू कर दी है। गिरफ्तार आरोपित के खिलाफ करीब 12 मामले दर्ज है। वह काफी दिनों से फरार चल रहा था।

एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि पुलिस की ओर से चलाए जा रहें। अभियान के अंतर्गत प्रभारी निरीक्षक दयाशंकर के नेतृत्व में लगातार अंकुश लगाने के लिए मुहिम चलाई जा रही हैं। शनिवार देर शाम मीरगंज पुलिस को खबर मिली कि फतेहगंज पश्चिम का वांछित स्मैक तस्कर शाहिद उर्फ कल्लू साथियों के साथ मीरगंज में ही छिपा हुआ हैं। स्मैक की एक बड़ी खेप को कहीं पहुंचाने की फिराक में है।

मीरगंज थाने के दरोगा जितेंद्र सिंह और देवराज सिंह हमराही दो कांस्टेबल नीरज और चमन राणा के साथ कुल्छा खुर्द गांव के समीप हाईवे पर घेराबंदी की। उसी दौरान स्मैक तस्कर कल्लू उर्फ शाहिद और उसके साथियों पर नजर पड़ी। पुलिस को देख सभी भागने लगे। लेकिन, पुलिस नेशहिद को दबोच लिया लेकिन उसके 5 साथी भागने में कामयाब रहे।

लाखों की स्मैक हुई बरामद
तलाशी के दौरान उज़के पास से 262 ग्राम स्मैक व 500 रुपए नकद और मोबाइल पुलिस ने बरामद किया। शाहिद ने बताया कि वह अपने साथियों के साथ इस स्मैक को उत्तराखंड बेचने जा रहा था। कल्लू तो पुलिस के हत्थे चढ़ गया। लेकिन, इसके साथी इशाकत पुत्र सखावत, नदीम पुत्र शकील, मुन्ना पुत्र नत्थू, मलिक पुत्र शाकिब व सोनू कालिया निवासी फतेहगंज पश्चिमी भागने में सफल रहें। पुलिस ने सभी के विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

स्मैक तस्करों का गढ़ बना बरेली
बता दे कि झुमका सिटी के नाम से मशहूर बरेली अब नशे के धंधे के लिए जाना जाने लगा है। पिछले 11 महीने में बरेली पुलिस 370 तस्करों को एनडीपीएस में जेल भेज चुकी है। फिर भी तस्करों पर लगाम नहीं लग सकी है।