यूपी: बस पॉलिटिक्स / प्रियंका बोलीं- भाजपा अपने झंडे पोस्टर लगा ले, मगर राजनीति से ऊपर उठकर हो बसों का इस्तेमाल, प्रदेश अध्यक्ष निजी मुचलके पर रिहा

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, यूपी की प्रभारी हैं।
X

  • बस को लेकर प्रियंका गांधी व योगी सरकार में सियासत जारी
  • कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को लखनऊ पुलिस ने अपनी कस्टडी में लिया

दैनिक भास्कर

May 20, 2020, 06:08 PM IST

लखनऊ/आगरा. प्रवासी श्रमिकों के लिए कांग्रेस की तरफ से 1000 बसें चलाने को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी व योगी आदित्यनाथ सरकार के बीच मुद्दा गरमाता जा रहा है। बुधवार दोपहर बाद प्रियंका गांधी ने वीडियो संदेश ट्वीट करके योगी सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका ने कहा- राजनीति से ऊपर उठकर बसों को चलने दिया जाए। भाजपा चाहे तो बसों पर अपने झंडे और पोस्टर भी लगा दे। यह कहना चाहें कि, ये बसें उनकी हैं तो भी करें। लेकिन इन बसों का मजदूरों के हितों में इस्तेमाल होना चाहिए। प्रियंका ने दावा किया है कि, उन्होंने लॉकडाउन के बाद से यूपी के 67 लाख लोगों की मदद की है। इनमें सात लाख लोग यूपी के बाहर फंसे थे।

सबको अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए

प्रियंका ने कहा- हम सबको अब अपनी जिम्मेदारी समझनी पड़ेगी। ये भारत के वो लोग हैं जो भारत की रीढ़ हैं। जिनके खून और पसीने से ये देश चलता है। अपने राजनीतिक स्वार्थ से परहेज कर हर किसी को सकारात्मक भाव से सेवाभाव से लोगों की मदद में शामिल होना चाहिए। आज चार बजे बॉर्डर पर खड़े इन बसों को 24 घंटे हो जाएंगे। अगर आपको इस्तेमाल करनी है तो इस्तेमाल करिए, हमें अनुमति दीजिए। अगर आपको भाजपा के झंडे और स्टीकर लगाने हैं, बेशक लगाइए। अगर आपको कहना है कि आपने उपलब्ध करवाई है तो वो भी कहिए। लेकिन इन बसों को चलने दीजिए। 

लल्लू के समर्थन में पदाधिकारी धरने पर बैठे

मंगलवार को यूपी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू आगरा में फतेहपुर सीकरी थाना क्षेत्र स्थित राजस्थान बॉर्डर पर श्रमिकों से मिलने पहुंचे थे। यहां उन्होंने बसें चलवाने को लेकर धरना दिया था। इसके बाद पुलिस ने लल्लू, पार्टी उपाध्यक्ष प्रदीप माथुर व जिलाध्यक्ष मनोज दीक्षित व विवेक बंसल के खिलाफ महामारी एक्ट में केस दर्ज किया। उन्हें गिरफ्तार कर पुलिस लाइन में रखा गया। इस गिरफ्तारी के खिलाफ कांग्रेसी धरने पर बैठ गए। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान नहीं रखा गया। पुलिस कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को कोर्ट लेकर पहुंची है। यहां भी नेता नारेबाजी करते हुए पहुंचे। कोर्ट ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष लल्लू को 20 हजार के निजी मुचलके पर 17 जुलाई तक के लिए रिहा कर दिया है। वहीं, अन्य नेताओं को भी रिहाई मिली है। लेकिन लखनऊ पुलिस ने लल्लू को अपनी कस्टडी में ले लिया है। उन पर हजरतगंज में धोखाधड़ी के तहत मामला दर्ज है।

ये तस्वीर आगरा की है। यहां कचेहरी में कांग्रेसियों ने प्रदर्शन किया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना