• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Rashtriya Swayamsevak Sangh's Lucknow Meeting Today; Dattatreya Hosabale, Arun Kumar CM Yogi Will Appear, RSS Will Review The Functioning Of The Government

RSS के दरबार में UP सरकार की पेशी:सरकार के कामकाज को लेकर 5 घंटे तक चली समन्वय बैठक, CM योगी और डिप्टी सीएम केशव भी रहे मौजूद; सरकार के कामकाज पर हुई चर्चा

लखनऊ4 महीने पहले

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले RSS (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) एक्टिव हो गया है। RSS के पदाधिकारी यूपी सरकार के कामकाज की समीक्षा करने और तालमेल बैठाने के लिए लखनऊ में चल रही संघ की दो दिवसीय बैठक खत्म हो गई है। करीब 5 घंटे तक चली इस समन्वय में मंगलवार को UP भाजपा की कोर कमेटी ने हिस्सा लिया। बताया जा रहा है कि बैठक में मिशन 2022 को लेकर चर्चा हुई है।

संघ की इस बैठक में कोर कमेटी की तरफ से CM योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डॉ. दिनेश शर्मा, भाजपा के प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह तथा अन्य के इस बैठक में शामिल हुए। संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले बैठक में मौजूद रहे। साथ ही भाजपा कोआर्डिनेटर बनाए गए अरुण कुमार ने बैठक में पहली बार हिस्सा लिया।

कोरोना अवधि में किए गए कार्यों पर हुआ मंथन

संघ की इस बैठक में सरकार व संगठन ने कोरोना अवधि में किए गए कार्यों के साथ ही आगामी कार्यक्रमों पर मंथन किया। विधानसभा चुनाव 2022 को ध्यान में रखते हुए इस बैठक में संघ की तरफ से अहम सुझाव दिए गए हैं। साथ ही सरकार और संगठन में बेहतर तालमेल पर जोर दिया गया।

इसमें संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले और अरुण कुमार के सामने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव मौर्य भी पहुंचे थे। बताया जा रहा है कि दोनों सरकार के कामकाज की रिपोर्ट संघ के पदाधिकारियों को सौंपी।

BJP के 4 बड़े नेताओं को भी बुलाया गया था
संघ की इस बैठक में BJP के चार बड़े नेताओं को भी बुलाया गया है। इसमें पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव बीएल संतोष, यूपी के प्रभारी राधा मोहन सिंह, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और संगठन मंत्री सुनील बंसल शामिल हैं। इन सभी से भी पार्टी के कामकाज और सरकार के बीच तालमेल को लेकर संघ के पदाधिकारी डिटेल में बातचीत की। पार्टी कार्यकर्ताओं की नाराजगी और कोरोनाकाल के दौरान जनता में सरकार के प्रति हुई नाराजगी को दूर करने के लिए रणनीति भी तैयार होगी।

RSS की क्या तैयारी है?

  • चुनाव में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक बड़े हिंदुत्व के चेहरे के रूप में पेश किया जाएगा।
  • अयोध्या में राम मंदिर, अनुच्छेद 370, जनसंख्या नियंत्रण, धर्मांतरण और राष्ट्रवाद जैसे मुद्दे उठाए जाएंगे।

अरुण कुमार को नई जिम्मेदारी मिलने के बाद पहली बैठक
अभी तक भाजपा में समन्वय की जिम्मेदारी संघ की ओर से सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल के पास थी। सह सरकार्यवाह अरुण कुमार को भाजपा में समन्वय की जिम्मेदारी मिलने के बाद भाजपा और संघ की यह पहली बैठक है। आगामी यूपी विधानसभा चुनाव 2022 को देखते हुए इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है।

हर 6 महीने में होने वाली इस बैठक में सभी संगठनों के प्रदेश अध्यक्ष व संगठन मंत्री शामिल होते हैं। संघ ने संगठनात्मक दृष्टि से उत्तर प्रदेश को 6 प्रांतों में बांटा है। इसलिए लखनऊ में चल रही समन्वय में बैठक में अवध प्रांत, कानपुर प्रांत, काशी प्रांत, गोरक्ष प्रांत, मेरठ व बृज प्रांत के संघ की प्रांतीय टोली के लोग शामिल हैं। इसमें इन छह प्रांतों के प्रांत प्रचारक, सह प्रांत प्रचारक, प्रांत संघचालक, सह प्रांत संघचालक और प्रांत कार्यवाह, सह प्रांत कार्यवाह बुलाए गए हैं।

पहले दिन की बैठक में संघ, संगठन और सरकार की चर्चा हुई
शनिवार को पहले दिन की बैठक में सभी क्षेत्रीय प्रचारक, प्रांत प्रचारक और प्रांत की टोलियां शामिल हुईं। इस बैठक में संघ, संगठन और सरकार के काम काज को लेकर चर्चा हुई। सूबे में संघ की भूमिका को लेकर भी बात हुई।

खबरें और भी हैं...