पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हार का प्रतिशोध:बौखलाकर JCB से खुदवा डाली सड़क, गांव का प्रधान रहते खुद बनवाई थी; अफसर बोले- कार्रवाई करेंगे

लखनऊ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यूपी में हार से बौखलाए पूर्व प्रधान ने आठ साल पुरानी वह सड़क खुदवा डाली जिसे उसने अपने ही कार्यकाल में बनवाया था। - Dainik Bhaskar
यूपी में हार से बौखलाए पूर्व प्रधान ने आठ साल पुरानी वह सड़क खुदवा डाली जिसे उसने अपने ही कार्यकाल में बनवाया था।

पूर्व प्रधान की मनमानी को इस बार जनता ने पंचायत चुनाव में आईना दिखा दिया तो वह हार बर्दाश्त नहीं कर सका। हार से बौखलाकर जेसीबी से सड़क खुदवा डाली। चौकाने वाला यह मामला बाराबंकी जिले का है। प्रधान पद पर इस बार भी ताल ठोंकने वाले पूर्व प्रधान को जीत का पूरा भरोसा था, लेकिन जनता ने उन्हें सिरे से नकार दिया। बस फिर क्या था, उन्होंने अपने कार्यकाल में बनवाई गई सड़क को खुदवा डाला, ताकि लोगों को परेशानी हो। यह सड़क उनके ही कार्यकाल में आठ साल पहले बनाई गई थी। बता दें कि इस बार चुनाव में साइना गांव के निवासी रामबाबू शुक्ला यहां से प्रधान चुने गए हैं।

मिट्टी में मिला दी दो सौ मीटर सड़क

यह मामला बाराबंकी जिले के सुबेहा थाना क्षेत्र की रोहना मीरपुर ग्राम पंचायत के अहिरन सरैयां गांव का है। यहां के पूर्व प्रधान दीपक कुमार तिवारी का नाम पंचायत चुनाव परिणाम में तीसरे नंबर पर आया तो उनका गुस्सा फूट पड़ा। बौखलाए दीपक ने अपने गुर्गों के साथ जेसीबी लगाकर अपने कार्यकाल में बनाई सड़क ही खुदवा डाली। यह सड़क तकरीबन 200 मीटर लंबी थी। ग्रामीणों ने बताया कि दीपक ने यह सड़क आठ साल पहले तब बनवाई थी जब वे प्रधान हुआ करते थे। इसके बाद एक बार चुनाव हार गए थे। हालांकि, इस चुनाव से पहले दीपक ही प्रधान थे।

अफसर बोले- कार्रवाई की जाएगी

गांव के एक अन्य पूर्व प्रधान कृपा शंकर तिवारी ने बताया कि इस बार चुनाव में दीपक तिवारी तीसरे नंबर पर हैं। चुनाव परिणाम आने के बाद दीपक को पता चला कि अहिरन सरैयां गांव से कम वोट मिले हैं तो वह अपने गुर्गों के साथ जेसीबी लेकर पहुंचे और सड़क खुदवा डाली। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत अधिकारियों से की है। ग्रामीणों के मुताबिक, अधिकारियों ने जांच कराकर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।