पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लखनऊ:शिया धर्म गुरु मौलाना कल्बे जव्वाद ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कहा- शिया मुसलमानों ने कारगिल युद्ध में भी साथ दिया था, फिर भारतीय सेना के साथ हैं

लखनऊ8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शिया धर्म गुरु मौला कल्वे जव्वाद ने पीएम को लिखा पत्र।
  • कल्वे जव्वाद ने पत्र में कहा- भारत और चीन के बीच तनाव की स्थिति है
  • बोले- मुसलमान हमेशा भारतीय सीमाओं की रक्षा के लिए देश के साथ है

शिया धर्म गुरु और मौलाना कल्बे जव्वाद नकवी ने भारत चीन के बीच तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर आश्वासन दिया है की भारत के शिया मुसलमान भारतीय सेना के साथ हैं। उन्होंने कहा कि पूरे भारत के शिया मुसलमान हमेशा की तरह भारत की सीमाओं की रक्षा के लिए आपके हाथ हैं।

शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद नकवी ने प्रधानमंत्री को लिखे गए पत्र में कहा कि गत दिनों से भारत-चीन की सेना पर तनाव की स्थिति है, विशेषकर गलवान घाटी में चीनी सैनिकों द्वारा भारतीय सैनिकों के साथ अमानवीय बर्ताव किया गया, जिसका जवाब हमारे वीर सैनिकों ने बहादुरी से दिया।

भारत का शिया मुसलमान देश के साथ -कल्वे जव्वद

कहा, इसी प्रकार लेह लद्दाख सरहद पर भी तनाव है। आपके नेतृत्व में भारत की सेना किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आश्वासन दिया कि लेह लद्दाख के शिया मुसलमान ही नहीं पूरे भारत के शिया मुसलमान हमेशा की तरह भारत की सीमाओं की रक्षा के लिए आपके हाथ हैं और भारतीय सेना के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।

उन्होंने कहा कि कारगिल युद्ध के अवसर पर भी शिया मुसलमानों ने भारत की सेना का पूरा साथ दिया था। उन्होंने कहा भारत की सीमाओं की रक्षा के लिए आप के द्वारा लिए गए फैसले में हमारी क़ौम देश के साथ है। वह अपने प्राणों की आहुति देने से पीछे नहीं हटेगी। अपने पत्र में उन्होंने पैगंबर हजरत मोहम्मद की हदीस का वर्णन भी किया जिसमें कहा गया है कि "देश से प्रेम ईमान की निशानी है"।

कल्वे जव्वाद ने पीएम को लिखा पत्र।
कल्वे जव्वाद ने पीएम को लिखा पत्र।
0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें