14 वर्षीय किशोरी से 3 दिनों तक गैंगरेप:अपहरण कर बोलेरो में उठाकर ले गए थे आरोपी; कार्रवाई के लिए कोतवाली पहुंचा पिता तो नहीं दर्ज हुई FIR

अमेठी7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुसाफिरखाना कोतवाली इलाके मे� - Dainik Bhaskar
मुसाफिरखाना कोतवाली इलाके मे�
  • सीओ ने कहा कि जांच की जा रही है, यदि मामला सही होगा तो लिखा जाएगा मुकदमा

उत्तर प्रदेश के अमेठी में 14 वर्षीय नाबालिग किशोरी से गैंगरेप का मामला प्रकाश में आया है। आरोप है कि, शौच के लिए घर से निकली किशोरी का गांव के ही युवकों ने अपहरण किया। बोलेरो गाड़ी से उसे ले जाकर अज्ञात स्थान पर गैंगरेप किया। तीन दिनों के बाद आरोपी किशोरी को घर से दूर छोड़कर फरार हो गए। पीड़ित किशोरी के पिता ने पुलिस में शिकायत किया तो पुलिस मुकदमा दर्ज करना उचित नही समझा।

मिली जानकारी के अनुसार, घटना जिले के मुसाफिरखाना कोतवाली अंतर्गत एक गांव की है। पीड़िता के पिता के अनुसार, 7 मई की रात 9 बजे उसकी पुत्री घर से 200 मीटर दूर स्थित बाग में शौच के लिए गई थी। उसी समय गांव के कुछ युवक वहां बोलेरो गाड़ी से पहुंचे, पुत्री का मुंह दबाकर उसे जबरन गाड़ी में बैठाकर अज्ञात स्थान पर ले गए।

आरोप ये भी है कि घटना को अंजाम देने वाले युवकों ने बारी-बारी किशोरी के साथ बलात्कार किया, और 9 मई की रात 8 बजे किशोरी को घर से कुछ दूरी पर छोड़कर चले गए। जाते हुए आरोपियों ने पीड़िता को जान से मारने की धमकी भी।

आधा दर्जन लोगों पर लगा बलात्कार का आरोप
वहीं पीड़ित किशोरी के पिता का कहना है कि, कृष्ण कुमार चौहान से जमीन को लेकर उसकी पुरानी रंजिश चली आ रही है। हाल ही में आरोपी ने साथियों संग मिलकर पीड़िता के पिता और उसके चाचा को मारा-पीटा भी था। इसके बाद अब षडयंत्र रचते हुए कृष्ण कुमार ने अपने साथी विजय कुमार हेला, सुरेश कुमार यादव, बृजेश यादव, अजय यादव और अमरदीप यादव के साथ मिलकर उसकी बेटी के साथ गैंगरेप किया।

घटना के बाद जब पीड़िता का पिता मुकदमा दर्ज कराने के लिए कोतवाली पहुंचा तो उसकी रिपोर्ट नही लिखी गई। इस मामले में जब क्षेत्राधिकारी मुसाफिरखाना से बात फोन पर बात की गई तो उन्होंने कहा कि मामला संज्ञान में है। इंस्पेक्टर मुसाफिरखाना मौके पर गए हैं, अगर घटना सही होगी तो मुकदमा लिखा जाएगा।