पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • The Family Of Lab Technician Sanjeet Was Going To Meet Akhilesh Yadav; Forcible Stopped On The Way, Relatives Are Angry With Police Negligence

कानपुर किडनैपिंग-मर्डर केस:अखिलेश यादव से मिलने लखनऊ जा रहा था संजीत का परिवार, पुलिस ने रास्ते में रोका

कानपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लैब टेक्नीशियन संजीत यादव का 22 जून को अपहरण हुआ था। 26 जुलाई को उसकी हत्या कर दी गई। परिवार न्याय की आस में है। लखनऊ जाने के दौरान पुलिस ने उन्हें रोक लिया। - Dainik Bhaskar
लैब टेक्नीशियन संजीत यादव का 22 जून को अपहरण हुआ था। 26 जुलाई को उसकी हत्या कर दी गई। परिवार न्याय की आस में है। लखनऊ जाने के दौरान पुलिस ने उन्हें रोक लिया।
  • कुछ दिन पहले भी सीएम योगी से मिलने जा रहे परिवार को पुलिस ने रोक दिया था
  • संजीत का अपहरण 22 जून को हुआ था, 26 जुलाई को उसकी हत्या कर दी गई थी

कानपुर बर्रा में लैब टेक्नीशियन संजीत यादव की किडनैपिंग के बाद हत्या कर दी गई थी। संजीत के परिजन पुलिस पर कार्रवाई में हीलाहवाली का आरोप लगा रहे हैं। इसे लेकर गुरुवार को वे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात करने रवाना हो गए। पुलिस को इसकी जानकारी होते ही उन्हें रास्ते में रामादेवी फ्लाईओवर पर रोक लिया गया। उन्हें समझाकर वापस भेजा।

इससे पहले बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से वॉट्सएप कॉल पर संजीत के पिता चमन और बहन रुचि ने बात की थी। उन्होंने मिलने की इच्छा जाहिर करी थी। इस पर सपा नेता सम्राट यादव इस परिवार को लखनऊ ले जा रहे थे। सपा नेता का कहना है कि एसपी साउथ को इसकी जानकारी पहले ही दी जा चुकी थी। इसके बाद भी पुलिस ने उन्हें जाने से कयों रोक दिया।

यह है मामला
लैब टेक्नीशियन संजीत यादव का 22 जून को अपहरण हुआ था। 29 जून को उसके परिवारवालों के पास फिरौती के लिए फोन आया। 30 लाख रुपए फिरौती मांगी गई थी।परिवारवालों ने पुलिस की मौजूदगी में 30 लाख की फिरौती दी थी।लेकिन न तो पुलिस अपहरणकर्ताओं को पकड़ पाई, न संजीत यादव को बरामद कर सकी। 21 जुलाई को जब पुलिस ने सर्विलांस की मदद से संजीत के दो दोस्तों को पकड़ा तो पता चला कि उन लोगों ने संजीत की 26 जुलाई को हत्या कर दी। शव को पांडु नदी में फेंक दिया।