पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • The Infected Policemen Of The District Will Not Have To Put Up The Rounds Of Hospitals, Kovid Center And Isolation Ward Started In The Police Line Itself

कोरोना वॉरियर्स के लिए पहल:जिले के संक्रमित पुलिसकर्मियों को नहीं लगाने पड़ेंगे अस्पतालों के चक्कर, पुलिस लाइन में ही शुरू हुआ कोविड सेंटर व आइसोलेशन वार्ड

बाराबंकी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में कोरोना संक्रमित पुलिस कर्मियों को अब भर्ती होने के लिए अस्पतालों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। योगी सरकार ने प्रदेश भर के पुलिस लाइन में कोविड सहायता केंद्रों और आइसोलेशन वार्ड की सुविधा देने का निर्देश दिया है, ताकि अगर कोई पुलिस कर्मी कोरोना संक्रमण की चपेट में आए, तो उसे पुलिस लाइन में ही कोविड आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया जा सके।

इसी को देखते हुए कोरोना संक्रमित, कोरोना के लक्षण वाले पुलिस कर्मियों या उनके परिवारजन को प्रारंभिक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए बाराबंकी पुलिस लाइंस में कोविड अस्पताल जैसी सेवाएं शुरू हो गई हैं। आमजन की सुरक्षा के लिए काम करने वाले पुलिसकर्मियों के लिए बाराबंकी पुलिस लाइन में कोविड अस्पताल शुरू हो गया है।

कोरोना संक्रमित या कोरोना के लक्षण वाले पुलिस कर्मियों और उनके परिवारजन को प्रारंभिक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए पुलिस लाइंस में अस्पताल में कोविड अस्पताल जैसी सेवाएं शुरू हो गई हैं। कोविड अस्पताल के रूप में संचालित किए गए इस अस्पताल में कई पुलिसकर्मियों का इलाज भी किया जा रहा है। खुद एसपी यहां बने कोरोना नियंत्रण केंद्र का नेतृत्व करेंगे। यही नहीं, आईजी और डीआईजी भी प्रभावित पुलिस कर्मियों और उनके परिवारों से नियमित रूप से बात करेंगे।

कोविड वार्ड में हर सुविधा रहेगी उपलब्ध

इन वार्डों में पुलिस कर्मियों के समुचित इलाज के लिए पीपीई किट, कोविड जांच किट और ऑक्सीजन सिलेंडर की उपलब्धता आदि की व्यवस्था कराई गई है। इन कोविड एल 1 अस्पताल में संक्रमित पुलिस कर्मियों की देखभाल और नियमित जांच के लिए 24 घंटे डॉक्टर की टीम मौजूद रहेगी। आइसोलेशन वार्ड में रखे गए पुलिसकर्मियों की ऑक्सीजन लेवल और तबीयत पर लगातार निगाह रखने के लिए मेडिकल उपकरण मौजूद हैं।

बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने बताया कि कोरोना संक्रमण से पुलिस परिवार की सुरक्षा को देखते हुए सरकार के निर्देश पर ऐसा किया गया है। अस्पताल में बेड के साथ ही दवाएं और आक्सीजन की व्यवस्था कराई गई है। ताकि संक्रमित या कोरोना जैसे लक्षण वाले पुलिस परिवार के सदस्यों को समय से इलाज दिलवाकर उनकी जान को बचाया जा सके। उन्होंने बताया कि उनको हौसला देने के लिए पूरा पुलिस विभाग एक साथ खड़ा है।