पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • The Nephew Killed Mama Mami And Their Three Children For Three And A Half Bighas Of Land, The Villagers Did Not Come To Save Even After Hearing Shouts

अयोध्या के हत्यारे भांजे की कहानी:साढ़े तीन बीघा जमीन के लिए मामा-मामी और उनके तीन बच्चों को मार डाला, चीख-पुकार सुनकर भी गांव वाले बचाने नहीं आए

अयोध्या2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हत्यारा पवन और घर जहां पर उसने 5 लोगों की हत्या की। - Dainik Bhaskar
हत्यारा पवन और घर जहां पर उसने 5 लोगों की हत्या की।

भगवान राम की नगरी अयोध्या में शनिवार देर रात रूह कंपा देने वाली घटना हुई। अयोध्या जिला मुख्यालय से करीब 20 किलोमीटर दूर मिल्कीपुर तहसील में इनायतनगर थाना है। यहीं पर एक बरिया निसारु गांव है। गांव में एक ही परिवार के 5 सदस्यों की गला काटकर हत्या कर दी गई। हत्या करने वाला और कोई नहीं, बल्कि भांजा निकला।

हत्या के पीछे की वजह, महज साढ़े तीन बीघा जमीन बनी है। हत्यारे भांजे पवन ने पहले अपने मामा राकेश और मामी को मारा, फिर 4, 6 और 8 साल के उनके तीन बच्चों की भी गला रेतकर हत्या कर दी। दिल दहलाने वाली इस वारदात को भांजे ने क्यों अंजाम दिया? इसकी वजह तलाशी गई तो पता चला कि पवन की मां अपने पिता की संपत्ति में हिस्सा चाहती थीं, लेकिन भाई राकेश और उसका परिवार राजी नहीं था। इसी से पवन परेशान था।

दरअसल, मृतक राकेश कहार की बहन ससुराल में अनबन के चलते कई सालों से मायके में आकर रहती थीं। राकेश के पिता ने बेटी को भी अपनी संपत्ति से दो बीघा जमीन और घर में रहने की जगह दी थी। पिता की मौत के बाद बहन और उसका पति गांव की बाकी जमीनों में भी हिस्सा मांगने लगे। इसी को लेकर कई सालों से भाई-बहन के परिवार में विवाद चल रहा था।

इस बीच बहन का बेटा पवन भी बड़ा हो गया। दोनों भाई बहन का परिवार एक ही छत के नीचे रहता था, इसकी वजह से आए दिन झगड़ा होता रहता था। शनिवार को भी संपत्ति बटवारे को लेकर पंचायत हुई थी, जिसमें गांव के भी कुछ लोग शामिल हुए थे। पवन ने अपने नाना के सात बीघा जमीन जिस पर मामा राकेश का कब्जा था, उसमें आधा हिस्सा मांगा।

इसके अलावा मकान में नाना का पैसा लगा बताकर उसमें से भी आधे हिस्से पर हक जताने लगा। चूंकि पिता की मौत के बाद पूरी संपत्ति राकेश के नाम दर्ज हो चुकी थी, लिहाजा वह बहन को इसमें इंच भर हिस्सा देने को तैयार नहीं थे। यही विवाद पूरे परिवार के लिए काल बन गया।

प्रापर्टी के लिए तीन मासूम बच्चों के भी टुकड़े कर डाला

पुलिस के मुताबिक, देर रात पवन तेज धार वाली कुल्हाड़ी लेकर उस कमरे में पहुंचा, जहां राकेश पत्नी ज्योति और तीन बच्चों के साथ सो रहा था। उसने पहले राकेश के गर्दन पर वार किया, फिर मामी ज्योति का गला काट दिया। मां-बाप का खून से लथपथ शव देख तीनों बच्चे चीखने लगे। इस पर पवन ने एक-एक करके उन तीनों को भी काटना शुरू कर दिया। पवन इतने गुस्से में था कि बच्चों के शरीर के चार-पांच टुकड़े कर डाला।

गांव वाले नहीं आए बीच बचाव करने

राकेश के घर में चल रहे विवाद के दौरान जान बचाने के लिए निकल रही चींखे गांव वालों के कानों तक पहुंची, लेकिन कोई बाहर नहीं निकला। इतना ही नहीं गांव-गांव गश्त का दावा करने वाली यूपी-112 की टीम को भी इसकी भनक नहीं लगी।

खबरें और भी हैं...