• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • There Was A Stir Due To The Discovery Of The Dead Body Of A Protected Wild Animal, The Dead Body Seen To Be More Than 24 Hours Old

तेंदुए का मिला शव:संरक्षित वन्य प्राणी का शव मिलने से मचा हड़कंप , 24 घण्टे से ज्यादा पुराना नजर आ रहा शव

मथुरा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मथुरा वृन्दावन मार्ग स्थित जंगल में तेंदुआ का शव मिलने के बाद वन विभाग ने उसको पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया - Dainik Bhaskar
मथुरा वृन्दावन मार्ग स्थित जंगल में तेंदुआ का शव मिलने के बाद वन विभाग ने उसको पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया

थाना कोतवाली वृंदावन के अद्घा चौकी क्षेत्र में स्थित अहिल्या गंज की खादर में तेंदुआ का शव मिलने से हडकंप मच गया।तेंदुए का शव मिलने की जानकारी मिलते ही वन विभाग की टीम मौके पर पहुंच गई।मौके पर पहुंची टीम ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

हत्या कर शव फैंके जाने की सूचना

मथुरा वृंदावन मार्ग स्थित वन विभाग के जंगल में तेंदुआ देखे जाने की सूचना वन विभाग को दी। जिसके बाद वन विभाग की टीम ने जंगल में तेंदुआ की तलाश शुरू कर दी।करीब 3 घण्टे के बाद वन विभाग की टीम ने एक जगह गड्ढे में किसी जानवर को दवे देखा। जिसके बाद जब गड्ढे की खुदाई की तो उसमें से तेंदुए का शव देख होश उड़ गए।तेंदुए का शव देख लग रहा था कि उसकी किसी ने हत्या कर दी है।

पैनल से होगा तेंदुआ का पोस्टमॉर्टम

तेंदुआ का शव मिलने के बाद सी ओ फॉरेस्ट, रेंजर, वन दरोगा ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा।डेढ़ से दो साल उम्र के तेंदुआ के शव को वन विभाग के सिविल लाइन स्थित कार्यालय पर भिजवा दिया।तेंदुआ का सोमवार को डॉक्टरों के पैनल से पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा। जिसके बाद स्प्ष्ट होगा कि उसकी मौत कैसे हुई।

शिवपुरी से आने की संभावना

नर तेंदुआ का शव मिलने की सूचना पर मौके पर पहुंचे सीओ फारेस्ट मेघराज शर्मा ने बताया कि यह देखने मे डेढ़ साल उम्र का लग रहा है।सम्भावना है कि यह संरक्षित वन्य प्राणी मध्यप्रदेश के शिवपुरी रेंज से आया हो।इसके अलावा यह भी हो सकता है कि यह राजस्थान के सवाई माधोपुर की रणथम्भौर रेंज से यहां आ गया हो।

तेंदुआ के शव को गड्ढे में दवाकर मामले को दबाने की कोशिश की गई

तेंदुआ का शव दो से तीन फीट गहरे गड्ढे में दवा हुआ था।जिसके बाद आशंका जताई जा रही है कि पहले किसी ने उसकी हत्या की और फिर शव को गड्ढे में दवाकर मामले को छुपाने का प्रयास किया।जिस तरह से तेंदुए का शव मिला है उसको लेकर कई सवाल खड़े हो रहे हैं। वन विभाग के आरक्षित जंगल में तेंदुए को किसी ने मारा और फिर उसे गड्ढे में दवा दिया और वन विभाग 24 घण्टे तक अंजान बना रहा।लोकल पुलिस को भी इस मामले की जानकारी नहीं हो सकी।क्या इस तेंदुआ को कहीं और से मारकर लाया गया और मामला खुलने की बजह से यहां दवाकर छुपाने की कोशिश तो नहीं की।इन सवालों के जवाब अब जांच के बाद ही सामने आएंगे ।

खबरें और भी हैं...