पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

उत्तर प्रदेश:आगरा में केमिकल फैक्ट्री में लगी आग, लपटों को देखकर लोग दहशत में, लपटों पर काबू पाने के लिए एयरफोर्स की मदद मांगी

आगराएक महीने पहले
धुएं का गुबार आसमान में छा गया है। आसपास के लोग घरों से बाहर आ गए हैं।
  • थाना सिकंदरा क्षेत्र के नेशनल हाईवे का मामला
  • दोनों फैक्ट्रियां बंद थीं, जनहानि की सूचना नहीं

उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में सोमवार की दोपहर अगल-बगल स्थित दो फैक्ट्रियों में भीषण आग लग गई। आग की लपटें काफी ऊंचाई तक ऊपर उठ रही हैं। इससे पूरे क्षेत्र में दहशत है। कई किलोमीटर तक आग की लपटें दिख रही हैं। यह मामला थाना सिकंदरा क्षेत्र के नेशनल हाईवे का मामला। पुलिस और फायर ब्रिगेड की 20 टीम रेस्क्यू में जुटी हैं।

आगरा के एसएसपी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि दोनों फैक्ट्रियां बंद थीं, इसलिए जनहानि की कोई संभावना नहीं है। आग काफी भीषण है कि इसलिए मथुरा जिले से फायर ब्रिगेड की मदद मांगी गई है। एयरफोर्स भी मदद मांगी है।

चंद पलों में आग ने विकराल रुप अख्तियार किया।
चंद पलों में आग ने विकराल रुप अख्तियार किया।

जूते के सोल चिपकाने का होता है काम

थाना सिकंदरा क्षेत्र में हाईवे पर सुधीर धर्मकांटे के पास राजेंद्र शर्मा की केमिकल फैक्ट्री और दीपक मनचंदा की टॉप लास्ट फैक्ट्री है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक दोपहर दो बजे के आसपास केमिकल फैक्ट्री से अचानक धुआं उठते हुए देखा गया। इसके बाद पुलिस और फायर ब्रिगेड को सूचना दी। लेकिन जब तक फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर पहुंचीं, आग ने विकराल रुप अख्तियार कर लिया था। आग लगने के कारणों का भी अभी पता नहीं चला है।

आसमान में उठता धुएं का गुबार।
आसमान में उठता धुएं का गुबार।

आसपास के लोगों को घरों से बाहर निकाला गया

सपा के पूर्व महानगर अध्यक्ष रहे राजेन्द्र शर्मा की टॉप ग्लास फैक्ट्री में जूते के सोल और उन्हें चिपकाने का कैमिकल बनता है। ऐसा बताया जा रहा है कि छह माह पूर्व भी यहां आग लग चुकी है। लेकिन आज आग इतनी विकराल थी कि आज पास के घरों में रहने वालों को एहतियातन घर से बाहर निकलवाया गया है। फैक्ट्री मालिक अभी यहां नहीं हैं। एहतियातन मौके पर एम्बुलेंस भी मंगा ली गयी है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें