वाराणसी / महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता परिजनों के साथ उपवास पर बैठे, बोले- नैतिकता के आधार पर त्यागपत्र दें उद्धव

ये तस्वीर वाराणसी की है। यहां भाजपा नेता अपने परिवार के साथ महाराष्ट्र सरकार की नीतियों व कोरोना महामारी को लेकर उपवास पर बैठे। ये तस्वीर वाराणसी की है। यहां भाजपा नेता अपने परिवार के साथ महाराष्ट्र सरकार की नीतियों व कोरोना महामारी को लेकर उपवास पर बैठे।
X
ये तस्वीर वाराणसी की है। यहां भाजपा नेता अपने परिवार के साथ महाराष्ट्र सरकार की नीतियों व कोरोना महामारी को लेकर उपवास पर बैठे।ये तस्वीर वाराणसी की है। यहां भाजपा नेता अपने परिवार के साथ महाराष्ट्र सरकार की नीतियों व कोरोना महामारी को लेकर उपवास पर बैठे।

  • भाजपा नेता ने उत्तर भारतीयों के साथ महाराष्ट्र सरकार पर सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाया
  • कहा- फैक्ट्री मालिकों, व्यापारियों ने यूपी-बिहार के लोगों के पैसे हड़पे, काम से बाहर निकाला, उन्हें पलायन पर मजबूर किया

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 04:22 PM IST

वाराणसी. महाराष्ट्र में उद्धव सरकार के खिलाफ भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता अशोक पांडेय सोमवार को अपने काशी स्थित आवास पर परिवार के साथ एकदिनी उपवास पर बैठ गए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि, देश में लाकडाउन के दौरान और अनलॉक के पहले चरण में भी सबसे अधिक प्रवासी मजदूरों, अन्य लोगों का पलायन महराष्ट्र से ही हो रहा है। इतना ही नहीं सबसे ज्यादा संक्रमित भी यहीं के प्रवासी मजदूर हैं। इसलिए उद्धव ठाकरे को नैतिकता के आधार पर अपना त्यागपत्र दे देना चाहिए। 

अशोक पांडेय ने कहा- वहां की सरकार को मालूम होना चाहिए कि यूपी के भाइयों ने ही महराष्ट्र को आर्थिक राजधानी बनाया है। महराष्ट्र में फैक्ट्रियां, उद्योगों से वहां यूपी के भाइयों को पैसे नहीं दिए गए। इतना ही नहीं खाली करके वहां से लोगों ने जाने का दबाव भी बनाया। लेकिन सरकार खामोश बैठी है।

परिजन सोनू मिश्रा ने बताया की उत्तर भारतीयों को पहले भी निशाना साधा गया था। अब तो मानो मौका ही मिल गया। जहां दुनिया में भारत मदद की मिशाल बना, वहीं महराष्ट्र सौतेलेपन की वजह से चर्चा में है। पलायन के लिए लोगों को मजबूर कर दिया गया। सरकार तमाशा देखती रही।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना