पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मथुरा CMO की लापरवाही:कोरोना पॉजिटिव डॉक्टर कर रहे ड्यूटी; कोविड प्रभारी बोले- 3 बार जांच हुई, गलत हो सकती है रिपोर्ट

मथुराएक महीने पहले
मथुरा में मुख्य चिकित्सा अधीक्षक कार्यालय में ड्यूटी करते कोरोना पॉजिटिव डॉक्टर संजय सिहोरिया।

उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (CMO) कार्यालय में तैनात एक डॉक्टर कोरोना संक्रमित होने के बाद भी ड्यूटी करता रहा। यह संक्रमित डॉक्टर के लिए तो खतरनाक था ही, दूसरों की जान को भी उनसे खतरा कम नहीं था। पॉजिटिव डॉक्टर के ड्यूटी पर रहने की सूचना के बाद मीडियाकर्मी वहां पहुंचे तो कोविड प्रभारी ने उसे होम आइसोलेशन के लिए घर भेज दिया। इस मामले में कोविड प्रभारी का कहना है कि डॉक्टर की कोरोना जांच तीन बार हुई है। संभव है कि वह रिपोर्ट गलत हो। अब एक बार फिर सैंपल लिया गया है।

दरअसल, मथुरा के CMO कार्यालय में DPM (जिला प्रोजेक्ट मैनेजर) के पद पर तैनात डॉक्टर संजय सिहोरिया की कोविड रिपोर्ट 4 मई को पॉजिटिव आई। संजय तभी से यहां ड्यूटी कर रहे हैं। ड्यूटी भी ऐसी जगह जहां अन्य स्वास्थ्यकर्मी भी काम करते हैं। वहीं, डॉक्टर संजय का कहना है कि उन्हें CMO ने ड्यूटी करने के लिए ऑर्डर दिए हैं, इसलिए पॉजिटिव होने के बावजूद तीन दिन लगातार ड्यूटी करता रहा।

क्या कहते हैं जिम्मेदार?

कोविड-19 के नोडल प्रभारी डॉक्टर भूदेव ने बताया कि डॉक्टर संजय 17 दिन पहले भी पॉजिटिव आए थे। उन्होंने अपना होम आइसोलेशन टाइम पूरा कर लिया था। उनके 3 बार सैंपल लिए गए हैं, इनमें से एक सैंपल पॉजिटिव आया है। ऐसे में रिपोर्ट के गलत भी हो सकती है, इसलिए चौथी बार फिर सैंपल भेज रहे हैं। उनको ऐहतियात के तौर पर होम आइसोलेशन में रहने के लिए कहा गया है।

हर दिन औसतन 300 मरीज मिल रहे

जनपद में हर दिन कोरोना मरीजों की संख्या 300 से ज्यादा आ रही हैं। हालांकि शुक्रवार को गनीमत रही और कुछ राहत मिलते हुए 225 कोविड पॉजिटिव मरीज आए। जबकि 463 मरीज स्वस्थ हुए हैं।

खबरें और भी हैं...