परिवारवाद से जनता का प्रेम बरकरार:नेताओं के परिवार से आए 20 प्रत्याशियों में 9 जीते, उज्जवल रमण, अरविंद राजभर और अलका राय हार गई अपनी सीट

9 महीने पहलेलेखक: राजेश साहू

यूपी विधानसभा चुनाव में वोटों की गिनती जारी है। चुनाव से पहले सभी पार्टियां परिवारवाद की आलोचना कर रही थी लेकिन चुनाव से ठीक पहले 20 सीटों पर नेताओं के परिवार के सदस्यों को ही प्रत्याशी बना दिया गया। परिवारवाद से जुड़ी 20 सीटों को हमने चुना है और उन सीटों के काउंटिंग की पल पल की जानकारी यहां दे रहे हैं...

1. राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह

केन्द्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह नोएडा से चुनाव जीत गए हैं। उन्होंने सपा के सुनील चौधरी को एकतरफा मुकाबले में 1,81,513 वोटों से हराया।

2. मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी

बाहुबली मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी मऊ सदर से चुनाव जीत गए है। उन्होंने बीजेपी के अशोक सिंह को 38,223 वोटों से हराया।

3.ओम प्रकाश राजभर के बेटे अरविंद राजभर

ओमप्रकाश राजभर के बेटे अरविन्द राजभर शिवपुर से चुनाव हार गए हैं उनको बीजेपी के अनिल राजभर ने 27,687 हजार वोटों से हराया।

4.आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम

2017 विधानसभा चुनाव जीतने के बावजूद अब्दुल्ला कम उम्र के कारण सदस्यता गवां बैठे थे। इस बार वो 51,175 वोटों से चुनाव जीत गए हैं। उन्होंने अपना दल के हैदर अली खान ऊर्फ हमज़ा मियां को हरा दिया है

5.काजिम अली खान के बेटे हैदर अली खान ऊर्फ हमजा मियां

रामपुर के नवाब खानदान के वारिस और आजम खान के धुर विरोधी हैदर अली खान ऊर्फ हमज़ा मियां, अब्दुल्ला आजम से 51,175 वोटों से चुनाव हार गए हैं।

6.प्रमोद तिवारी कि बेटी आराधना मिश्रा

प्रमोद तिवारी की बेटी आराधना मिश्रा मोना ने रामपुर खास से 14741 वोटों से जीत दर्ज की उन्होंने अपने नजदीकी मुकाबले में बीजेपी के नागेश प्रताप सिंह को हराया।

7.स्व.कृष्णानन्द राय की पत्नी अलका राय

कृष्णानन्द राय की पत्नी अलका राय 17449 वोटों से चुनाव हार गई हैं। उनको सपा के मन्नू अंसारी से हार का सामना करना पड़ा है।

8.सिबगतुल्लाह अंसारी के बेटे सुहैब उर्फ मन्नू अंसारी

मुख्तार अंसारी के भतीजे मन्नू अंसारी मोहम्मदबाद से चुनाव जीत गए हैं। उन्होंने कृष्णानन्द राय की पत्नी अलका राय को 17,449 वोटों से हराया।

9.रेवती रमण सिंह के बेटे उज्जवल रमण सिंह

सपा के दिग्गज नेता व पूर्व सांसद रेवती रमण सिंह के बेटे उज्ज्वल रमण सिंह करछना सीट से चुनाव हार गए हैं। उनको बीजेपी के पीयूष रंजन निषाद ने 7314 वोटों से हराया।

10.विनय शाक्य कि बेटी रिया शाक्य

विनय शाक्य की बेटी रिया शाक्य बिधुना से चुनाव हार गईं हैं। उनको सपा के रेखा वर्मा ने 4563 वोटों से हराया।

11.हरिशंकर तिवारी के बेटे विनय तिवारी

हरिशंकर तिवारी के बेटे विनय शंकर तिवारी चिल्लुपार से चुनाव हार गए हैं। उनको बीजेपी के राजेश त्रिपाठी ने 17678 वोटों से हराया।

12.अमरमणि त्रिपाठी के बेटे अमनमणि त्रिपाठी

नौतनवा से चुनाव लड़ रहे अमनमणि त्रिपाठी बीजेपी गठबंधन के ऋषि से 43,882 वोटों से चुनाव हार गए हैं।

13.फागु चौहान के बेटे रामबिलास चौहान

बिहार के राज्यपाल फागु चौहान के बेटे रामबिलास चौहान 4830 वोटों से जीत गए हैं। उन्होंने नजदीकी मुकाबले में सपा के उमेश पाण्डेय को हरा दिया है।

14.कौशल किशोर की पत्नी जय देवी

मलिहाबाद सीट से बीजेपी के केन्द्रीय मंत्री कौशल किशोर की पत्नी जय देवी ने सपा के सुरेन्द्र कुमार को 6775 वोटों से हरा दिया है।

15.कौशल किशोर के साले अमरेश कुमार

बीजेपी के केन्द्रीय मंत्री कौशल किशोर के साले अमरेश कुमार मोहनलालगंज से चुनाव जीत गए हैं। उन्होंने सपा के सुशीला सरोज को 7540 वोटों से हरा दिया है।

16.मुकुट बिहारी वर्मा के बेटे गौरव शर्मा

बीजेपी ने कैबिनेट मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा की जगह चुनाव लड़ रहे उनके ज्येष्ठ पुत्र गौरव वर्मा कैसरगंज से सपा के आनंद कुमार से 8287 वोटों से चुनाव हार गए हैं।

17.सुशीला भारद्वाज के दामाद अनुराग भदौरिया

लखनऊ पूर्वी से सपा से चुनाव लड़ रहे अनुराग भदौरिया बीजेपी के आशुतोष टंडन से 39,204 वोटों से चुनाव हार गए हैं। ।

18.परमाई लाल कि बहु उषा वर्मा

सांडी से सपा के उषा वर्मा बीजेपी के प्रभाष कुमार से 9880 वोटों से चुनाव हार गईं हैं।

19.परमाई लाल कि बहु राजेश्वरी देवी

सपा के सीट पर गोपामऊ से चुनाव लड़ीं राजेश्वरी देवी बीजेपी के श्याम प्रकाश से 9278 वोटों से चुनाव हार गईं हैं।

20.अशोक सिंह चंदेल की पत्नी राजकुमारी चंदेल

अशोक सिंह चंदेल की पत्नी राजकुमारी चंदेल बीजेपी के मनोज कुमार से 88,995 वोटों से चुनाव हार गए हैं।

खबरें और भी हैं...