पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ग्रेटर नोएडा में डबल मर्डर का खुलासा:गर्लफ्रेंड के चक्कर में नौकर ने मांगे रुपए, न देने पर पीतल की मूर्ति मारकर दंपती की हत्या की थी

नोएडा7 महीने पहले
मृतक विनय गुप्ता व उनकी पत्नी नेहा सहारनपुर के रहने वाले थे।- फाइल फोटो
  • पुलिस ने नौकर व उसके एक साथी को किया गिरफ्तार
  • चोरी किए गए एक लाख में से 72 हजार रुपए व चेकबुक बरामद

उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में दो दिन पहले हुए कारोबारी दंपती की हत्या का पुलिस ने शुक्रवार को खुलासा कर दिया। पुलिस के अनुसार, पति-पत्नी की हत्या उनके नौकर ने की थी। वह अपनी नाबालिग गर्लफ्रेंड के शौक को पूरा करने के लिए ही दुकान पर काम कर रहा था। वहां वह कई बार चोरी करते हुए पकड़ा गया था। जिस पर उसे कारोबारी ने फटकार लगाई थी।

3 नवंबर की रात वह रुपए मांगने के लिए फ्लैट पर गया था, जहां रुपए देने से मना करने पर नौकर ने पीतल की मूर्ति से दंपती के सिर पर हमला कर उनकी हत्या कर दी थी। इसके बाद वह रुपए व चेकबुक चोरी कर फरार हो गया था। पुलिस ने उसके कब्जे से एक लाख में से 72 हजार रुपए बरामद किए हैं। साथ ही उसके एक साथी को भी पकड़ा गया है। उसने आरोपी नौकर को एक होटल में ठहराया था।

करवा चौथ के दिन दंपती का फ्लैट में मिला था शव
बिसरख कोतवाली क्षेत्र के चेरी काउंटिंग सोसाइटी टॉवर नंबर-2 के 9वें फ्लोर पर 905 स्थित फ्लैट में 4 नवंबर की दोपहर 55 साल के विनय कुमार गुप्ता और उनकी 50 साल की पत्नी नेहा गुप्ता का शव खून से लथपथ अवस्था में फ्लैट के अंदर मिला था। दोनों की सिर पर किसी भारी वस्तु से प्रहार कर हत्या की गई थी। विनय गुप्ता का सोसाइटी की ही मार्केट में विनय ग्रॉसरी नाम से स्टोर था। जिस पर आरोपी अमन नौकरी करता था। आरोपी अमन की एक नाबालिग लड़की से दोस्ती की भी बात सामने आई है। जिसके खर्चे पूरे करने के लिए ही अमन ग्रॉसरी स्टोर में काम करता था। अपनी गर्लफ्रेंड के खर्चे पूरे करने व अपने शौक पूरे करने के लिए कभी-कभी वह ग्रॉसरी स्टोर में रखे सामान को भी चोरी कर लेता था। कई बार विनय गुप्ता ने उसे पकड़ लिया और उसको डांटा भी था। लेकिन अमन डांट का बदला लेने के लिए हत्या को अंजाम देने की साजिश रच डाली।

हत्या के बाद रुपए लेकर फरार हुआ आरोपी

पुलिस ने कहा कि का तीन नवंबर को आरोपी अमन ने अपने मालिक विनय से पैसे मांगे थे। जिस पर विनय ने पैसे देने से मना कर दिया था। जिससे नाराज होकर अमन हयात खान ने पहले पहले नेहा गुप्ता के सिर में पीतल की मूर्ति मारकर उनकी हत्या की और उसके बाद विनय की सर में भी पीतल की मूर्ति मारकर उसकी भी हत्या कर दी। हत्या के बाद अमन हयात खान ने घर में रखे 1 लाख रुपए और चेक बुक लेकर फरार हो गया।

फरार होने की फिराक में था आरोपी

डीसीपी सेंट्रल हरिश्चंद्र ने बताया कि हत्या की वारदात के बाद आरोपी अपने एक दोस्त सौरभ के माध्यम से एक होटल में रुका। जिसके बाद वह ओला कैब के माध्यम से फरार होने की तलाश में था। तभी पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के आला अधिकारियों का कहना है कि पकड़े गए आरोपी के पास से हत्या वाली रात घर से चोरी किए गए 100000 में से 72000 के साथ हुई एक मोबाइल फोन और कुछ कपड़े बरामद किए हैं।

खबरें और भी हैं...