बहराइच: ऑनर किलिंग / बाप ही निकला बेटी का हत्यारा: समाज में प्रतिष्ठा खोने के डर से वारदात को दिया अंजाम, दूसरे को फंसाने के लिए शव को जंगल में फेंका

पुलिस की हिरासत में आरोपी। समाज में प्रतिष्ठा बचाने के लिए आरोपी ने अपनी ही बेटी की गला रेतकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने अब इस मामले का खुलासा कर दिया है। पुलिस की हिरासत में आरोपी। समाज में प्रतिष्ठा बचाने के लिए आरोपी ने अपनी ही बेटी की गला रेतकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने अब इस मामले का खुलासा कर दिया है।
X
पुलिस की हिरासत में आरोपी। समाज में प्रतिष्ठा बचाने के लिए आरोपी ने अपनी ही बेटी की गला रेतकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने अब इस मामले का खुलासा कर दिया है।पुलिस की हिरासत में आरोपी। समाज में प्रतिष्ठा बचाने के लिए आरोपी ने अपनी ही बेटी की गला रेतकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने अब इस मामले का खुलासा कर दिया है।

  • पुलिस ने बताया कि प्रधान व कोटेदार को फंसाने के लिए शव को बोरे में भरकर जंगल में फेंका
  • पिता ने पहले मोबाइल चार्जर से बेटी का गला दबाया फिर हंसिए से गला रेतकर हत्या की थी

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 03:06 PM IST

बहराइच. उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले के विशुनापुर गांव में दो दिन पहले हुई एक बालिका की गला रेतकर हत्या हुई थी। पुलिस ने अब इस मामले का खुलासा कर दिया है। बेटी का हत्यारा कोई और नहीं उसका बाप ही निकला है। समाज में अपनी मान मार्यादा और प्रतिष्ठा बचाने के लिए बाप ने बेटी की पहले मोबाइल चार्जर के तार से गला दबाया और उसके बाद धारदार हंसिए से गला रेतकर मौत के घाट उतार दिया। रंजिश के चलते ग्राम प्रधान व कोटेदार को फंसाने के लिए बोरे में शव को भरकर जंगल में फेंक दिया। पुलिस ने आरोपी बाप के निशानदेही पर हत्या में प्रयोग होने वाला हंसिया बरामद किया है। आरोपी बाप को पुलिस ने जेल भेज दिया।

  • पुलिस ने इस मामले का खुलासा करते हुए बताया कि जिले के रिसिया थाना क्षेत्र के विशुनापुर गांव निवासी सुभाष की 16 वर्षीय एक नाबालिग बालिका की शनिवार की रात हत्या कर उसके घर के पास ही शव बोरे में भरकर फेक दिया गया था। एसपी विपिन मिश्रा ने बताया कि मृतका के पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर विवेचना की जा रही थी। विवेचना के दौरान पता चला कि नाबालिग बालिका का प्रेम प्रसंग गांव के ही छोटकऊ पुत्र फकीरे के साथ चल रहा था। जिसकी जानकारी होने पर पिता ने उसकी शादी नाबालिग अवस्था में ही करीब एक साल पहले दरगाह थाना क्षेत्र में कर दिया था। लेकिन वह ससुराल जाने के बाद भी प्रेमी से फोन पर बात करती थी। 
  • फोन में रिकार्डिेग होने के चलते उसके पति को भी आशनाई के बारे में पता चल गया और लगभग एक महीने पहले वह बालिका को उसके मायके छोड़कर चला गया था। यहां आने के बाद वह फिर छोटकऊ से मिलते हुए पिता ने देख लिया और थाने में छोटकऊ के खिलाफ छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज करा कर जेल भेजवा दिया। 164 के बयान में बालिका ने अपने प्रेमी छोटकऊ के पक्ष में बयान देने की बात घर पर कही। 
  • इसके बाद बालिका के पिता को लगा कि अगर बेटी ने बयान अपने प्रेमी के पक्ष में दे दिया तो गांव में मेरी इज्जत चली जाएगी। इज्जत बचाने के लिए पिता ने अपनी बेटी की हत्या करने की ठानी और शनिवार की रात जब परिवार सो गया तो उसको बुलाकर पहले चार्जर के तार से गला दबाया और फिर हंसिए से रेतकर हत्या कर दी। ग्राम प्रधान व कोटेदार फंसाने के लिए शव को पास के बाग में बोरे में भरकर फेंक दिया।

ग्राम प्रधान व कोटेदार को फंसाना चाहता था
एसपी विपिन मिश्रा ने बताया कि मृतका के प्रेमी छोटकऊ के पक्ष में ग्राम प्रधान व कोटेदार समेत अन्य सहयोगी रहते थे। इसलिए उसके पिता ने अपनी बेटी की हत्या कर सहयोगियों को भी जेल भेजवाने के लिए यह घटना की साजिश रच डाली और पुलिस को नामजद तहरीर देकर उनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज करवा दिया। 

एसपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान मृतका के पिता ने अपना जुर्म कबूल किया और उसी के निशानदेही पर आलाकत्ल भी बरामद हुआ। उसके पिता ने यह बताया कि वह उसे साजिश के लिए फंसा रहा था। ऐसे में कोटेदार, ग्राम प्रधान व अन्य सभी लोग निर्दोष है और निर्दोष को जेल नहीं भेजा सकता।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना