पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

यूपी पीसीएस-2018:जालौन के लाल ने पीसीएस परीक्षा में पाया चौथा स्थान; पिता ने घर-घर दूध बेचकर पढ़ाया, बोले- मेरी मेहनत सफल हुई

जालौनएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पत्नी के साथ विपिन शिवहरे। - Dainik Bhaskar
पत्नी के साथ विपिन शिवहरे।
  • विपिन शिवहरे वर्तमान में भोपाल में बतौर ऑडिट अफसर तैनात हैं

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने शुक्रवार को पीसीएस-2018 का अंतिम चयन परिणाम जारी कर दिया। जालौन के रहने वाले विपिन शिवहरे ने चौथा स्थान हासिल किया है। वर्तमान में वे भोपाल के एजी ऑफस में ऑडिट अफसर के पद पर तैनात हैं। उनकी इस सफलता पर परिवार के साथ पूरे गांव में खुशी का माहौल है।

पत्नि आरती के साथ विपिन शिवहरे।
पत्नि आरती के साथ विपिन शिवहरे।

विपिन एट थाना क्षेत्र के अमीटा गांव के रहने वाले हैं। उनके पिता चेतराम पेशे से किसान हैं। उनका एक भाई लेखपाल है। जबकि, तीसरा भाई और छोटी बहन सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रहे हैं। फरवरी में विपिन की शादी ग्वालियर की रहने वाली आरती देवी से हुई है। विपिन ने अपनी प्रारंभिक पढ़ाई एट, कोच और उरई के स्कूलों से पूरी की है।

पिता ने संकट के दिनों को याद किया

पिता चेतराम किसानी के साथ दूध बेचने का काम करते थे। पुराने दिनों को याद कर चेतराम ने कहा कि जब लोग अपने बच्चों को साइकिल-बाइक पर बैठाकर स्कूल छोड़ने जाते थे तो मैं साइकिल पर दूध लादकर बेचने जाता था। कभी कभार जब बेटे को स्कूल छोड़ना पड़ता पीपों पर बोरा बिछाकर उस पर बच्चों को बैठाता था। दूध बेचने के बाद दोपहर बाद जब घर लौटता तो बच्चों को स्कूल से लाता था। अब हमारी परेशानी दूर हो चुकी है। पत्नी कुसमा देवी ने भी हर कदम पर बच्चों का उत्साह बढ़ाया और संकट के समय मेरा भरपूर सहयोग दिया। जिससे मेरा हौसला और धैर्य नहीं टूटा।