• Hindi News
  • National
  • Lakhimpur Kheri Kisan Andolan Violence; Punjab CM Charanjit Singh Channi, Rahul Gandhi Pariyanka Gandhi Rakesh Tikait Bahraich Sitapur Lucknow

लखीमपुर खीरी हिंसा:मृतक किसानों के परिजनों से मिले राहुल-प्रियंका; लवप्रीत के माता-पिता को सीने से लगा लिया

उत्तर प्रदेश2 महीने पहले
लवप्रीत के माता-पिता के साथ राहुल और प्रियंका।

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा बुधवार देर रात लखीमपुर खीरी पहुंचे। यहां कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने हिंसा में मारे गए किसानों के परिजनों से मुलाकात की। राहुल और प्रियंका सबसे पहले पलिया के चौकाघाट पहुंचे।

यहां इन्होंने शहीद किसान लवप्रीत (20) के परिवार से मुलाकात की। लवप्रीत के माता-पिता राहुल प्रियंका को देखकर रोने लगें। इसके बाद राहुल-प्रियंका ने लवप्रीत के माता-पिता को ढाढस बंधाते हुए अपने सीने से लगा लिया।

इसके बाद कांग्रेस का काफिला निघासन पहुंचा। राहुल और प्रियंका यहां पत्रकार रमन कश्यप (30) के परिवार से मिले। कांग्रेस नेता इसके बाद धौरहरा के गांव रमनदीन पुरवा के शहीद किसान नक्षत्र सिंह (65) के घर गए। बताया जा रहा है कि कांग्रेस नेता कल बहाराइच जा सकते हैं। वे यहां दलजीत और गुरविंदर के परिवार से मिलेंगे।

राहुल और प्रियंका के साथ पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, सांसद दीपेंद्र हुड्डा, केसी वेणुगोपाल, रणदीप सुरजेवाला और अजय सिंह लल्लू भी मौजूद हैं।

निघासन में मृतक पत्रकार रमन कश्यप से घर पहुंची प्रियंका गांधी।
निघासन में मृतक पत्रकार रमन कश्यप से घर पहुंची प्रियंका गांधी।

प्रियंका बोलीं- अजय मिश्र के मंत्री रहते न्याय नहीं हो सकता
प्रियंका ने मीडिया से बातचीत में बताया कि हमारा संघर्ष इन किसानों के संघर्ष के आगे कुछ भी नहीं है। पीड़ित परिवार को इंसाफ मिलना चाहिए। सिर्फ मुआवजा दे देने से कुछ नहीं होगा। प्रशासन को जल्द से जल्द केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र को गिरफ्तार करना चाहिए। अजय मिश्र के मंत्री रहते किसानों को कभी इंसाफ नहीं मिल सकता। केंद्रीय मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए ताकि मामले की निष्पक्ष जांच हो सके और पीड़ित परिवारों को न्याय मिल सके। राहुल गांधी ने बताया कि पीड़ित परिवार को न्याय मिलना चाहिए। आरोपी के पिता के मंत्री रहते यह मुमकिन नहीं है। कांग्रेस न्याय होने तक पीड़ित परिवारों के साथ खड़ी है।

पलिया में लवप्रीत के माता-पिता से बातचीत करते राहुल गांधी।
पलिया में लवप्रीत के माता-पिता से बातचीत करते राहुल गांधी।

राहुल सीतापुर से प्रियंका को लेकर लखीमपुर पहुंचे
इससे पहले राहुल लखनऊ से निकलने के बाद सीधे सीतापुर गेस्ट हाउस पहुंचकर प्रियंका गांधी से मिले। वे यहां करीब आधे घंटे रुके। इसके बाद दोनों भाई-बहन किसानों से मिलने के लिए लखीमपुर के लिए रवाना हुए थे। सपा प्रमुख अखिलेश यादव और बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्र भी गुरुवार को लखीमपुर जाएंगे।

उधर, मुरादाबाद में कांग्रेस नेता सचिन पायलट और प्रमोद कृष्णम को सर्किट हाउस में पुलिस हिरासत में रखा है। दोनों नेता सड़क के रास्ते लखीमपुर जाने की कोशिश कर रहे थे। ये सुबह ही दिल्ली के रास्ते गाजीपुर बॉर्डर होते हुए उत्तर प्रदेश में दाखिल हुए थे।

राहुल-प्रियंका के काफिले में 17 गाड़ियाें को मंजूरी
प्रशासन ने राहुल-प्रियंका के काफिले में 17 गाड़ियाें को मंजूरी दी है। पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी दोनाें के साथ लखीमपुर निकले। कांग्रेस नेता दीपेंद्र सिंह हुड्‌डा, रणदीप सिंह सुरजेवाला, केसी वेणुगोपाल और अजय कुमार लल्लू किसान पीड़ित परिवारों से मिलने के लिए लखीमपुर गए हैं।

सीतापुर गेस्ट हाउस से निकलते राहुल और प्रियंका।
सीतापुर गेस्ट हाउस से निकलते राहुल और प्रियंका।

अपडेट्स

  • उत्तराखंड कांग्रेस के नेता एक हजार वाहनों में गुरुवार को लखीमपुर खीरी जाएंगे। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ता रामपुर से यूपी कूच करेंगे।
  • राजस्थान कांग्रेस के नेता भी हिंसा के विरोध में मार्च करेंगे। प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ता राजस्थान के भरतपुर जिले से लखीमपुर खीरी तक मार्च निकालेंगे। पार्टी नेताओं के मुताबिक, राज्य कैबिनेट के सदस्य भी मार्च में शामिल होंगे।
  • आम आदमी पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने किसानों के परिवारों से मुलाकात की है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पीड़ित परिवार से फोन पर बातचीत की है।
  • तमाम प्रतिबंधों के बावजूद लखीमपुर खीरी पीड़ितों के परिवारों से TMC सांसद की मुलाकता पर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पार्टी सांसदों की सराहना की है। ममता ने कहा कि राज्य सरकार के रोक के बावजूद तृणमूल कांग्रेस एकमात्र विपक्षी पार्टी है जो लखीमपुर हिंसा में मारे गए किसानों के परिजनों से मिल सकी।
  • भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे और लखीमपुर खीरी कांड के सभी आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है। टिकैत ने चेतावनी दी है कि अगर सरकार एक सप्ताह के भीतर किसानों के साथ किए गए समझौते को लागू करने में विफल रही तो देशव्यापी आंदोलन शुरू किया जाएगा। पंजाब के मंत्री परगट सिंह ने कहा है कि गुरुवार को 10 हजार वाहनों के काफिले के साथ कांग्रेस के कार्यकर्ता लखीमपुर खीरी कूच करेंगे।
  • महाराष्ट्र कैबिनेट ने लखीमपुर में किसानों की दुर्भाग्यपूर्ण मौत पर दुख व्यक्त करने का प्रस्ताव पारित किया। लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर महाराष्ट्र में 11 अक्टूबर को बंद का ऐलान किया गया है। महा विकास अघाड़ी के तीनों दलों शिवसेना, कांग्रेस, एनसीपी ने इसका समर्थन किया है।

राहुल ले एयरपोर्ट पर दिया धरना
इससे पहले राहुल गांधी ने एयरपोर्ट पर ही धरना दिया। प्रशासन की तरफ से लखीमपुर जाने की इजाजत मिलने के बाद भी राहुल के धरने को लेकर भ्रम की स्थिति बन गई। इसके बाद छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि लखीमपुर तक अपनी गाड़ियों में जाने की इजाजत मिलने पर ही वे एयरपोर्ट से रवाना होंगे। काफी देर बाद प्रशासन ने इसकी इजाजत दी। इसके बाद राहुल गांधी, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी लखीमपुर के लिए रवाना हो गए।

राहुल गांधी के साथ लखनऊ ण्यरपोर्ट पर छत्तीसगढ़ के CM भूपेश बघेल और पंजाब के CM चरणजीत चन्नी भी लखीमपुर के लिए रवाना हुए।
राहुल गांधी के साथ लखनऊ ण्यरपोर्ट पर छत्तीसगढ़ के CM भूपेश बघेल और पंजाब के CM चरणजीत चन्नी भी लखीमपुर के लिए रवाना हुए।

सुरजेवाला और वेणुगोपाल भी राहुल के साथ
उनके साथ कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल और पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला भी सीतापुर होते हुए लखीमपुर जाएंगे। बताया जा रहा है कि दोनों एक साथ सड़क के रास्ते अपने काफिले के साथ लखीमपुर खीरी जाएंगे। राहुल सबसे पहले हिंसा में मारे गए पत्रकार के घर जाएंगे फिर किसानों के घर जाकर मुलाकात करेंगे।

राहुल गांधी रेगुलर पैसेंजर फ्लाइट से दिल्ली से लखनऊ पहुंचे थे। यहां से उन्हें पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ लखीमपुर जाना था। इसी दौरान करीब एक घंटे तक राहुल के आने और एयरपोर्ट पर ही मौजूद रहने का घटनाक्रम चलता रहा।

लखनऊ एयरपोर्ट पर बुधवार को रेगुलर फ्लाइट से बाहर आते हुए राहुल गांधी।
लखनऊ एयरपोर्ट पर बुधवार को रेगुलर फ्लाइट से बाहर आते हुए राहुल गांधी।

प्रियंका गांधी 24 घंटे बाद रिहा
यूपी के लखीमपुर खीरी में मारे गए किसानों के परिजन से मिलने जा रहीं प्रियंका गांधी को गिरफ्तारी के 24 घंटे बाद रिहा कर दिया गया है और लखीमपुर जाने की इजाजत भी मिल गई है। प्रियंका को सोमवार सुबह सीतापुर में हिरासत में लेने के बाद मंगलवार को गिरफ्तार किया गया था। प्रियंका ने सोशल मीडिया के जरिए बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि किसानों को कुचलने वाले खुलेआम घूम रहे हैं। किसानों के लिए न्याय की आवाजों को भाजपा सरकार कैद कर रही है, लेकिन हम न्याय की आवाज दबने नहीं देंगे।

अमित शाह ने अजय मिश्र से मुलाकात की
लखीमपुर खीरी में हिंसा की घटना को लेकर मचे बवाल के बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र से मुलाकात की है। बता दें मिश्र के बेटे आशीष पर लखीमपुर खीरी में किसानों को गाड़ी से कुचलने का आरोप है और विपक्ष मांग कर रहा है कि अजय मिश्र को मंत्री पद से हटाया जाना चाहिए। दिल्ली पहुंचे अजय मिश्र से पत्रकारों ने जब सवाल किए कि विपक्ष आपका इस्तीफा मांग रहा है, तो वे बिना कुछ बोले आगे बढ़ गए। हालांकि मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि अजय मिश्र से इस्तीफा नहीं लिया जाएगा। वहीं सूत्रों का कहना है कि उनके बेटे आशीष की जल्द गिरफ्तारी हो सकती है। किसान संगठन लगातार इसकी मांग कर रहे हैं और किसानों के दबाव के चलते सरकार एक्शन ले सकती है।

अजय मिश्र आज सुबह दिल्ली पहुंचे थे। सूत्रों के मुताबिक उन्हें केंद्र सरकार ने तलब किया था, हालांकि उन्होंने निजी काम से दिल्ली जाने की बात कही थी।
अजय मिश्र आज सुबह दिल्ली पहुंचे थे। सूत्रों के मुताबिक उन्हें केंद्र सरकार ने तलब किया था, हालांकि उन्होंने निजी काम से दिल्ली जाने की बात कही थी।

अपडेट्स-

  • पंजाब और छत्तीसगढ़ सरकार ने ऐलान किया है कि लखीमपुर खीरी में मारे गए लोगों के परिजन को 50-50 लाख रुपए दिए जाएंगे। यानी दोनों राज्य सरकारों की तरफ से हर परिवार को कुल 1 करोड़ रुपए की मदद मिलेगी।
  • दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने केंद्र और यूपी सरकार पर हमला बोला है। केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मंत्री के बेटे की गाड़ी आई और किसानों को रौंदकर चली गई। इसके बावजूद हत्यारों को बचाया जा रहा है।
  • केजरीवाल बोले- प्रधानमंत्री जी एक तरफ आजादी का महोत्सव मना रही है, दूसरी ओर किसानों को जेल में डाला जा रहा है। ये कैसा महोत्सव है। आज हर देशवासी न्याय की मांग कर रहे हैं।
  • कांग्रेस नेता सचिन पायलट सीतापुर जाने के लिए गाजीपुर बॉर्डर का रास्ता चुना है। उन्हें पुलिस ने रोक लिया है। सचिन के साथ प्रमोद कृष्णन भी हैं।
  • सचिन का कहना है कि लोकतांत्रिक मूल्यों की हत्या है। हम सीतापुर जा रहे हैं। हम उम्मीद करते हैं कि प्रशासन हमें वहां जाने देगी। वहां प्रियंका को गैर कानूनी तरीके से रखा गया है। पुलिस की तानाशाही नहीं चलेगी।
  • सचिन पायलट के काफिले को हाईवे पर ट्रक खड़ा करके रोक दिया गया। बाद में सचिन पायलट की गाड़ी को आगे बढ़ने दिया गया।
  • भाजपा नेता संबित पात्रा ने राहुल गांधी को जवाब देते हुए कहा कि लखीमपुर खीरी में जो कुछ भी हुआ है, वो दुःखद है। लेकिन अब इस पर सियासत करना गलत है।
लखनऊ एयरपोर्ट के बाहर तैनात जवान।
लखनऊ एयरपोर्ट के बाहर तैनात जवान।

राहुल गांधी बोले- UP में अपराधियों को खुली छूट मिली है
लखीमपुर खीरी में किसानों के प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने UP सरकार के साथ ही केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा है कि UP में किसानों को कुचला जा रहा है और आरोपियों पर एक्शन नहीं लिया जा रहा।

राहुल गांधी ने कहा, 'कुछ समय से हिंदुस्तान के किसानों पर सरकार का आक्रमण हो रहा है। एक तो किसानों को जीप के नीचे कुचला जा रहा है। उनका मर्डर किया जा रहा है। BJP के होम मिनिस्टर की बात हो रही है उनके पुत्र की बात हो रही है। उन पर कोई एक्शन नहीं हो रहा।' (पूरी खबर पढ़ें)

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राहुल गांधी के साथ मंच पर छत्तीसगढ़ के CM भूपेश बघेल और पंजाब के CM चरणजीत चन्नी मौजूद थे। बघेल पिछड़े समुदाय से हैं और चन्नी दलित समुदाय से। ऐसे में राहुल के साथ उनकी मौजूदगी को लेकर कई कयास लगाए जा रहे हैं। माना जा रहा है कि राहुल ने ये मैसेज देने की कोशिश की है कि वे पिछड़े और दलितों को साथ लेकर चलते हैं।
प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राहुल गांधी के साथ मंच पर छत्तीसगढ़ के CM भूपेश बघेल और पंजाब के CM चरणजीत चन्नी मौजूद थे। बघेल पिछड़े समुदाय से हैं और चन्नी दलित समुदाय से। ऐसे में राहुल के साथ उनकी मौजूदगी को लेकर कई कयास लगाए जा रहे हैं। माना जा रहा है कि राहुल ने ये मैसेज देने की कोशिश की है कि वे पिछड़े और दलितों को साथ लेकर चलते हैं।

किसानों पर कार चढ़ाने की घटना पर केंद्रीय मंत्री ने फिर दी सफाई
लखीमपुर खीरी हिंसा के मामले में आरोपी आशीष मिश्र के पिता और केंद्रीय राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी ने कहा है कि उनका बेटा कार में नहीं था। कार पर हमले में ड्राइवर घायल हो गया और कार बेकाबू होकर वहां मौजूद लोगों पर चढ़ गई। जिन लोगों की जान गई उनके प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। इस मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। टेनी ने उस वायरल ऑडियो पर भी सफाई दी है, जिसमें वे कथित तौर पर किसानों को अपशब्द कह रहे हैं। टेनी ने कहा है कि पूरा ऑडियो नहीं सुनाया जा रहा, मैंने कभी भी किसानों के खिलाफ अपशब्द नहीं कहे। इस घटना के पीछे कुछ शरारती तत्वों का हाथ है। जहां यह घटना हुई वहां कुछ खालिस्तानी मौजूद थे, जो भिंडरावाले के पोस्टर लिए हुए थे।

जांच के लिए 6 सदस्यीय कमेटी का गठन
लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई हिंसा की जांच 6 सदस्यीय कमेटी करेगी। IG लखनऊ ने बताया कि इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे आशीष मिश्र को नामजद आरोपी बनाया है। सूत्रों के मुताबिक, मामले की न्यायिक कमेटी से भी जांच कराई जानी है। इसके लिए कमेटी की बुधवार को घोषणा की जाएगी।

बहराइच के किसान गुरुविंदर को गोली नहीं लगी थी
लखीमपुर हिंसा में मारे गए बहराइच के किसान गुरुविंदर सिंह के परिवार ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर सवाल खड़ा करते हुए मंगलवार को अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया था। परिजन को शक था कि गुरुुविंदर की मौत गोली लगने से हुई है। DM और SP ने परिवार से बात भी की, लेकिन वे नहीं माने। इसके बाद लखनऊ से हेलिकॉप्टर से PGI के पांच डॉक्टर्स की टीम दोबारा पोस्टमार्टम कराने के लिए भेजी गई। किसानों की संतुष्टि के लिए उनकी तरफ से 2 डॉक्टर देखरेख के लिए खड़े हुए। इसके बाद शाम 4.30 बजे दोबारा पोस्टमार्टम हुआ। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दूसरी रिपोर्ट में भी यह सामने आया है कि गुरुविंदर को गोली नहीं लगी थी। इससे पहले आज सुबह गुरुविंदर का अंतिम संस्कार कर दिया गया। बता दें लखीमपुर हिंसा में मारे गए 3 दूसरे किसानों का अंतिम संस्कार पहले ही किया जा चुका है।

बहराइच में पुलिस की मौजूदगी में गुरुविंदर का अंतिम संस्कार किया गया।
बहराइच में पुलिस की मौजूदगी में गुरुविंदर का अंतिम संस्कार किया गया।

लखीमपुर में क्या हुआ था?

  • रविवार को किसानों ने केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र का विरोध करते हुए काले झंडे दिखाए थे। इसी दौरान एक गाड़ी ने किसानों को कुचल दिया था। इससे 4 किसानों की मौत हो गई थी। इसके बाद भड़की हिंसा में किसानों ने एक ड्राइवर समेत चार लोगों को पीट-पीटकर मार डाला था। इस हिंसा में एक पत्रकार भी मारा गया।
  • इस मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र समेत 15 लोगों के खिलाफ हत्या और आपराधिक साजिश का केस दर्ज किया गया है।
  • सरकार और किसानों के बीच समझौता हुआ। सरकार ने मृतकों के परिवार को 45 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है।
  • सभी मृतकों के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी। साथ ही घटना की न्यायिक जांच और 8 दिन में आरोपियों को गिरफ्तार करने का वादा भी किया गया है।
खबरें और भी हैं...