• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Uttar Pradesh Big Breaking News Updates। 13 June 2022 Today Live News Updates Agra Lucknow Kanpur Varanasi Prayagraj Meerut

यूपी की बड़ी खबरें:लखनऊ में थाने पर प्रदर्शन कर रहे सपा कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज, 6 घायल; कई के कपड़े फटे

उत्तर प्रदेश8 महीने पहले

लखनऊ के कैसरबाग थाने में प्रदर्शन कर रहे सपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर खदेड़ दिया। ये कार्यकर्ता सपा नेता अनीस राजा के भाई और अंबेडकर नगर वार्ड के पार्षद रईस अहमद को जेल भेजे जाने का विरोध कर रहे थे। अपने नेता की गिरफ्तारी के विरोध में सपा कार्यकर्ताओं ने हंगामा और प्रदर्शन शुरू कर दिया।

इसके बाद रात करीब 11 बजे पुलिस ने कार्यकर्ताओं को लाठी से पीटना शुरू कर दिया। पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे सपा कार्यकर्ताओं को थाने से खदेड़ दिया। इसमें 6 कार्यकर्ता चोटिल हो गए। कई के कपड़े फट गए। वहीं, दूसरी तरफ कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि पुलिस ने एकतरफा कार्यवाही की। दूसरे पक्ष के किसी भी व्यक्ति को गिरफ्तार नहीं किया गया।

पुलिस ने लाठीचार्ज करके सपा कार्यकर्ताओं को खदेड़ दिया। इसमें कई कार्यकर्ताओं के कपड़े फट गए। कई घायल हुए।
पुलिस ने लाठीचार्ज करके सपा कार्यकर्ताओं को खदेड़ दिया। इसमें कई कार्यकर्ताओं के कपड़े फट गए। कई घायल हुए।

तीन दिन पहले दर्ज हुआ था मुकदमा
इंस्पेक्टर आलमबाग ने बताया कि 3 दिन पहले शारिक ने पार्षद रईस अहमद पर मुकदमा दर्ज कराया। रईस अहमद को आज शांति भंग के आरोप में धारा 151 के तहत गिरफ्तार कर ऐशबाग स्थित कार्यपालक न्यायालय में पेश किया गया था। जहां रईस अहमद के समर्थन में तमाम सपा कार्यकर्ताओं ने आकर हंगामा किया।

धरना प्रदर्शन के दौरान सपा नेताओं की पुलिस से नोकझोंक भी हुई। कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगाया।
धरना प्रदर्शन के दौरान सपा नेताओं की पुलिस से नोकझोंक भी हुई। कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगाया।

आदेश को रद्द करने की मांग कर रहे थे
एसीपी बाजार खाला अनिल कुमार यादव का कहना है कि रईस अहमद को 3 दिन की रिमांड पर भेजा गया था। लेकिन रईस के समर्थन में आए लोगों ने उनके आदेश को रद्द करने की मांग करते हुए उनकी गाड़ी को आगे जाने से रोका और सरकार काम में बाधा डाली। धरना प्रदर्शन करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके कार्यवाही की जाएगी।

  • आज की अन्य बड़ी खबरें-

वरुण गांधी ने ओवैसी को दिया धन्यवाद, लिखा-रोजगार पर उठाए गए सवालों के लिए आपका आभारी हूं

पीलीभीत से बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी के भाषण का एक वीडियो ट्वीट कर उनका आभार जताया। सांसद ने लिखा है कि मैं आभारी हूं कि रोजगार के ऊपर उठाए गए मेरे सवालों का ओवैसी ने अपने भाषण में जिक्र किया।

दरअसल, पीलीभीत से बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने 28 मई को बेरोजगारी के आंकड़ों को ट्वीटर के माध्यम से रखते हुए देश में 60 लाख स्वीकृत पदों पर भर्ती न किए जाने का मुद्दा उठाया था। पढ़ें पूरी खबर

केशव प्रसाद मौर्य बने MLC, सपा से स्वामी भी पहुंचे विधान परिषद; 13 प्रत्याशी निर्विरोध जीते

उत्तर प्रदेश विधान परिषद चुनाव में 13 सदस्य निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। इसमें भाजपा से केशव प्रसाद मौर्य, जेपीएस राठौर, दानिश आजाद अंसारी, दयाशंकर मिश्रा दयालु, नरेन्द्र कश्यप, जसवंत सैनी, चौधरी भूपेन्द्र सिंह, मुकेश शर्मा, बनवारी लाल दोहरे शामिल हैं। वहीं समाजवादी पार्टी से स्वामी प्रसाद मौर्य, मुकुल यादव, जास्मीर अंसरी और शाहबाज खान शब्बू निर्विरोध चुने गए हैं।

आजमगढ़ कोर्ट में मुख्तार की हुई वर्चुअल पेशी, बोला- गैंगस्टर में नहीं बनता आरोप, डिस्चार्ज किया जाए

बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी सोमवार को आजमगढ़ की MP-MLA कोर्ट में वर्चुअल पेश हुआ। 8 साल पहले सड़क निर्माण के दौरान चली गोली में एक मजदूर की मौत हो गई थी। मुख्तार पर षडयंत्र रचने का आरोप लगा। इसी मामले में वर्चुअल पेशी हुई।

सुनवाई के दौरान मुख्तार अंसारी ने दो मामलों को लेकर कोर्ट से गुहार लगाई। उसने कहा कि गैंगस्टर के मामले में उस पर आरोप नहीं बनता है। इसलिए डिस्चार्ज किया जाए। 2014 में आजमगढ़ के तरवां थाना क्षेत्र में हुए मर्डर को लेकर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मुख्तार अंसारी समेत 11 लोगों को आरोपी बनाया था। विशेष शासकीय अधिवक्ता लाल बहादुर सिंह ने बताया कि सुनवाई की अगली तारीख 27 जून को दी गई है। मुख्तार के सहयोगी बुलंदशहर जेल में बंद श्याम बाबू पासी सहित अन्य लोगों को भी कोर्ट में वर्चुअल पेश किया गया।

झांसी में तेज रफ्तार ट्रक की चपेट में आकर इकलौते बेटे की मौत

झांसी के कोटखेरा गांव के पढ़ें पूरी खबर

सहारनपुर-बवाल से एक घंटे पहले छपे थे नूपुर के पोस्टर; 50 पोस्टर के लिए 650 रुपए रेट लगे थे

सहारनपुर बवाल से ठीक एक घंटे पहले नूपुर शर्मा के पोस्टर छपवाए गए थे। ये खुलासा प्रिटिंग प्रेस के मालिक शमशेर की गिरफ्तारी के बाद हुआ है। ऐवन प्रिटिंग प्रेस में 10 जून की सुबह खाताखेड़ी मोहल्ले के सलमान और वसीम पहुंचे थे। उनसे 650 रुपए में 50 पोस्टर छापने की बात तय हुई थी। दोनों लड़कों ने अपने तीन और दोस्तों के साथ मिलकर शेखपुरा की दीवारों पर ये भड़काऊ पोस्टर लगाए थे। पुलिस गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ कर रही है कि किसके इशारे पर पोस्टर छपवाकर लगवाए गए थे। (पढ़ें खबर)

गाजियाबाद में धारा-144 लागू, पब्लिक प्लेस पर ईंट के टुकड़े भी इकट्ठा नहीं कर सकेंगे

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में जिला मजिस्ट्रेट राकेश कुमार सिंह ने धारा-144 लागू कर दी है। यह 12 जून से 10 अगस्त तक प्रभावी रहेगी। राज्य/प्रवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा, बकरीद, मोहर्रम और अन्य परीक्षाओं के मद्देनजर धारा-144 लागू की गई है। धारा-144 में क्या-क्या पाबंदियां रहेंगी, जानिए...

  • पांच या इससे अधिक व्यक्ति सार्वजनिक स्थान पर एक साथ खड़े नहीं होंगे।
  • कोई भी व्यक्ति पोस्टर, पंपलेट, सोशल मीडिया या लाउडस्पीकर से भ्रामक प्रचार नहीं करेगा।
  • बिना अनुमति जुलूस, सभा या धरना-प्रदर्शन नहीं होगा।
  • सार्वजनिक स्थान पर ईंट के टुकड़े, सोड़ा वाटर की बोतलें इकट्ठी नहीं की जा सकेंगी।
  • सोशल मीडिया पर किसी भी प्रकार की झूठी सूचना नहीं फैलाई जाएगी।
  • वॉट्सऐप ग्रुप में झूठी सूचना आने पर एडमिन जिम्मेदार होंगे और पुलिस को इसकी सूचना देंगे।
  • राजनैतिक दलों के सदस्यों या उनके नेताओं का पुतले जलाने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा।
  • धार्मिक पूजा स्थलों के अलावा अन्य कोई लाउडस्पीकर नहीं बजेगा।

कुरान लेकर आज कोर्ट में पेश होंगे नरसिंहानंद गिरि

गाजियाबाद में डासना देवी मंदिर के पीठाधीश्वर और पंचम जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरि सोमवार सुबह 11 बजे गाजियाबाद की उप जिला मजिस्ट्रेट यानी SDM कोर्ट में पेश होंगे। उन पर भड़काऊ बयान देने का आरोप है। इन्हीं भड़काऊ बयानों पर दिल्ली पुलिस ने तीन दिन पहले एक FIR दर्ज की थी, जिसमें नरसिंहानंद गिरि का भी नाम है।

यति नरसिंहानंद गिरि ने कहा है कि वह कुरान और इस्लाम के इतिहास की किताबें लेकर SDM की अदालत में पेश होंगे। इसके आधार पर ही मोहम्मद पर चल रहे विवाद में अपना पक्ष रखेंगे। नरसिंहानंद गिरि ने एक बयान में यह भी कहा है कि वे भारत की हर अदालत में जाकर इस्लाम की किताबों के जरिए अपना पक्ष रखेंगे और बताएंगे कि नूपुर शर्मा ने कुछ गलत नहीं बोला। यदि सच बोलने के लिए उन्हें फांसी भी दी जाती है, तो वे उसे सच के साथ स्वीकार करेंगे। पढ़ें पूरी खबर...

खबरें और भी हैं...