UP की आज की बड़ी खबरें:हाईकोर्ट ने खारिज की 2019 में बनी पुलिस इंस्पेक्टरों की सीनियारिटी लिस्ट

लखनऊ8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हाईकोर्ट की लखनऊ बेंंच। - फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
हाईकोर्ट की लखनऊ बेंंच। - फाइल फोटो

उत्तर प्रदेश पुलिस के इंस्पेक्टरों को पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) के पद पर प्रोन्नति देने के लिए बनाई गई वरिष्ठता सूची को हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने खारिज कर दिया है। पीठ ने गुरुवार को सिविल पुलिस और पीएसी के निरीक्षकों की संयुक्त वरिष्ठता सूची भी उत्तर प्रदेश लोक सेवक वरिष्ठता नियम के मुताबिक एक माह में बनाने का आदेश दिया है। जस्टिस दिनेश कुमार सिंह की एकल पीठ ने यह आदेश विजय सिंह की याचिका पर दिया है। यहां पढ़े पूरी खबर

आज की बड़ी खबरें....

हाथरस में गैंगरेप मामले में अब चश्मदीद मां के 30 को दर्ज होंगे बयान

हाथरस गैंगरेप मामले में सुनवाई के बाद चंद्रशेखर रावण के आने की सूचना के बाद मुस्तैद हुआ पुलिस प्रशासन।
हाथरस गैंगरेप मामले में सुनवाई के बाद चंद्रशेखर रावण के आने की सूचना के बाद मुस्तैद हुआ पुलिस प्रशासन।

हाथरस में एक साल पहले युवती संग हुए गैंगरेप मामले में गुरुवार यानी आज सुनवाई पूरी हुई है। अब 30 सितंबर को कोर्ट में गवाही देने के लिए मृतका की मां पेश होगी। दरअसल, सितंबर 2020 में जिले के एक गांव में कुछ दबंगों ने एक युवती के साथ मारपीट और गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया था। इसके बाद उसने इलाज के दौरान दिल्ली में दम तोड़ दिया था। बाद में पुलिस वालों ने बिना परिजनों को बताए ही तेल डालकर मृतका का शव जला दिया था। कोर्ट में इस मामले की अंतिम सुनवाई खत्म हो चुकी है। अब मृतका की मां के बयान कोर्ट में दर्ज किए जाएंगे। यहां पढ़े पूरी खबर...

मऊ में 12 साल के बच्चे ने किया अपहरण, फिल्में देखकर सीखा पैटर्न, 4 साल के मासूम को उठा ले गया

मऊ में 12 साल के किशोर ने 4 साल के किशोर का अपहरण कर लिया। दरअसल, हलधरपुर क्षेत्र का रहने वाला 12 साल का किशोर फिल्मों से प्रभावित है। उसने अपहरण और फिरौती से रुपए कमाने का प्लान बनाया। किशोर अपने ही गांव के 4 साल के बच्चे पर कई दिन से निगाह जमाए हुए था। इसी दौरान उसे पता चला कि बच्चा मिलनसार है, टाफी चॉकलेट खिलाने पर किसी के साथ भी चला जाता है। इसी बात का फायदा उठाकर उसने मंगलवार को मासूम का अपहरण कर लिया। वह उसे लेकर परचून की दुकान पर गया और दुकादार को छोटा भाई बताकर बैठा दिया। इसके बाद पास की ही दुकान से फिरौती मांगने के लिए मोबाइल और नया सिम कार्ड खरीदने लगा। यहां पढ़े पूरी खबर

जेल में बंद मुख्तार अंसारी को सता रहा जान का खतरा

बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के फर्जी एंबुलेंस मामले में बाराबंकी जिला सत्र न्यायालय में सुनवाई हुई। - फाइल फोटो
बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के फर्जी एंबुलेंस मामले में बाराबंकी जिला सत्र न्यायालय में सुनवाई हुई। - फाइल फोटो

बांदा जेल में बंद बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के फर्जी एंबुलेंस मामले में गुरुवार को बाराबंकी जिला सत्र न्यायालय में सुनवाई हुई। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्तार अंसारी कोर्ट में पेश हुआ। पेशी के दौरान मुख्तार अंसारी ने अपने खाने में जहर मिलाने की आशंका जताई। मुख्तार ने कहा कि राज्य सरकार उसके खिलाफ किसी भी हद तक जा सकती है। जेल में उसके खाने में जहर मिलाया जा सकता है। कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई सात अक्टूबर तय की है।

मुख्तार ने मांगी उच्च श्रेणी की सुविधा

बांदा जेल में बंद बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी ने उच्च श्रेणी की सुविधा देने के लिए बाराबंकी कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया है। मुख्तार अंसारी ने 287A मैन्युअल के अनुसार जेल में उच्च श्रेणी की सुविधा मांगी है। कोर्ट में दिए प्रार्थना पत्र में मुख्तार का कहना था कि उच्च श्रेणी की सुविधा मिलने पर उसका अलग से खाना बनेगा, जिससे जहर मिलाने की आशंका नहीं रहेगी। यहां पढ़े पूरी खबर

Ex-CM कमलापति त्रिपाठी के प्रपौत्र ललितेशपति ने कांग्रेस छोड़ी

ललितेशपति त्रिपाठी के समाजवादी पार्टी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही हैं।
ललितेशपति त्रिपाठी के समाजवादी पार्टी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही हैं।

उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस को पूर्वांचल में तगड़ा झटका लगा है। पूर्व मुख्यमंत्री पंडित कमलापति त्रिपाठी के प्रपौत्र और पूर्व विधायक ललितेशपति त्रिपाठी ने INC (भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस) के सभी पदों और प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने का ऐलान किया है। गुरुवार को वाराणसी में उन्होंने कहा कि पीढ़ियों से जो लोग कांग्रेस के साथ जुड़े थे, आज उन्हें नजरअंदाज किया जा रहा है।

उन उपेक्षित लोगों की लड़ाई न लड़ पाने के कारण वह इस्तीफा दे रहे हैं। जो परिवर्तन अब कांग्रेस में आया है उसके साथ पार्टी में रह पाना उन्हें संभव नहीं लग पा रहा था। इसी वजह से वह कांग्रेस से अलग हो रहे हैं। यहां पढ़े पूरी खबर

दो दिन के लिए गोरखपुर पहुंचे CM योगी; केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के साथ महंत दिग्विजय नाथ की प्रतिमा का करेंगे अनावरण

धर्मेंद्र प्रधान दोपहर तीन बजे गोरखपुर पहुंचेंगे।
धर्मेंद्र प्रधान दोपहर तीन बजे गोरखपुर पहुंचेंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दो दिन के दौरे पर गुरुवार की सुबह गोरखपुर पहुंचे। गोरक्षनाथ मंदिर पहुंचते ही सीएम योगी ने सबसे पहले गुरु गोरक्षनाथ का दर्शन कर उनका आशीर्वाद लिया। इसके बाद मुख्यमंत्री यहां ब्रह्मलीन महंथ दिग्विजय नाथ की 52वीं पुण्यतिथि कार्यक्रम में शामिल हुए।

इसके बाद दोपहर 3 बजे के करीब मुख्यमंत्री और धर्मेंद्र प्रधान जाएंगे। यहां स्मृति पार्क में ब्रह्मलीन महंत दिग्विजयनाथ की 12.5 फुट लंबी आदमकद प्रतिमा का अनावरण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के द्वारा किया जाएगा। यहां पर भव्य पंडाल लगाया गया है। जहां सीएम एक विशाल जनसभा को संबोधित करेंगे। यहां पढ़ें पूरी खबर

रामपुर में VDO पर थूकने वाला गिरफ्तार; फर्जी डेथ सर्टिफिकेट न बनाने पर की थी पिटाई

रामपुर में ग्राम विकास अधिकारी (VDO) पर थूकने वाला आरोपी पूर्व प्रधान उस्मान खां गिरफ्तार कर लिया गया है। बुधवार को फर्जी डेथ सर्टिफिकेट न बनाने पर दबंगों ने दस्तावेज फाड़कर VDO के मुंह पर थूक दिया था। साथ ही मारपीट कर तमंचा सटाकर जान से मारने की धमकी दी थी। मामले के बाद ग्राम विकास अधिकारी फूट-फूटकर रोए थे। पुलिस ने चार आरोपियों पर मुकदमा दर्ज किया था।

पीड़ित ग्राम विकास अधिकारी रो पड़ा था।
पीड़ित ग्राम विकास अधिकारी रो पड़ा था।

यह था मामला?
विकासखंड बिलासपुर की ग्राम पंचायत महूनागर के ग्राम विकास अधिकारी राजीव कुमार दोपहर करीब 12 बजे एडीओ पंचायत कार्यालय में बैठे थे। तभी ग्राम महूनागर के रहने वाले अफसान, उस्मान, आलमगीर और सब्बू वहां पहुंचे। सभी लोग ग्राम विकास अधिकारी राजीव से फर्जी डेथ सर्टिफिकेट बनाने का दबाव डालने लगे।

उन्होंने मना किया तो चारों ने ग्राम विकास अधिकारी के साथ मारपीट शुरू कर दी। साथ ही उनके मुंह पर थूक दिया और दस्तावेज फाड़ दिए। दबंगों ने उनकी कनपटी पर तमंचा लगाकर जान से मारने की कोशिश की। इसके बाद गाली-गलौज और धमकाते हुए भाग गए। यहां पढें पूरी खबर

मेरठ में छेड़छाड़ को लेकर संघर्ष, युवक की मौत
मेरठ में बुधवार रात छेड़छाड़ को लेकर संघर्ष हो गया। दोनों पक्षों के लोग आमने-सामने आ गए। जिसके बाद लाठी-डंडे चले। आरोपी पक्ष ने तमंचे व पिस्टल से फायरिंग की। जिसमें दो लोगों को गोली लगी। परिजन और आसपास के लोग दोनों घायलों को अस्पताल लेकर पहुंचे। एक युवक की मौत हो गई।

भैंसा गांव का पूरा मामला
मेरठ के मवाना थाना क्षेत्र का भैंसा संवेदनशील गांव है। इसमें पहले भी यहां संघर्ष की घटना पुलिस प्रशासन के लिए मुसीबत बनती रही है। बुधवार रात 9.30 बजे भैंसा गांव निवासी अंकुर का पड़ोस में रहने वाले अरुण से विवाद हो गया। गाली-गलौज के बाद दोनों में मारपीट हो गई। आरोपी अरुण व उसके भाई ने फायरिंग शुरू कर दी। घटना में अंकुर व अंकुर का चचेरा भाई गौरव गोली लगने से घायल हो गए। अस्पताल में गौरव (27) की मौत हो गई। यहां पढ़ें पूरी खबर

खबरें और भी हैं...