पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बारात वाले दिन उठी अर्थी:गोरखपुर में इकलौते बेटे की कोरोना से मौत; शादी से पहले उठी अर्थी; तिलक के दौरान हुआ था संक्रमित

गोरखपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दूल्हे के घर मातम है। वहीं, लड़की के घर में भी मायूसी छा गई है।  - Dainik Bhaskar
दूल्हे के घर मातम है। वहीं, लड़की के घर में भी मायूसी छा गई है। 

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में बेहद मार्मिक मामला सामने आया है। पीपीगंज इलाके के एक गांव के पूर्व प्रधान के इकलौते बेटे की कोरोना से मौत हो गई। उसकी 7 मई यानी आज बारात जानी थी। लेकिन सेहरा सजने से पहले उसकी अर्थी उठ गई। घर में मातम पसर गया। वहीं, लड़की के घर में भी मायूसी छा गई है।

तिलकोत्सव के बाद बिगड़ी थी हालत
रामुघाट गांव के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह के इकलौते बेटे विक्रांत उर्फ प्रशांत सिंह का 26 अप्रैल को तिलक कार्यक्रम हुआ था। तिलक के कुछ दिन बाद ही विक्रांत की तबीयत बिगड़ गई। परिजनों ने उसे आनन-फानन में गोरखपुर के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया था। उसकी गुरुवार को मौत हो गई। परिजनों ने बताया कि विक्रांत के हालत में काफी सुधार होने लगा था। गुरुवार को डॉक्टर विक्रांत को डिस्चार्ज करने वाले थे उसके पहले ही मौत हो गई।

बेटे के सिर पर सेहरा सजने से पहले ही उसकी अर्थी उठ गई। इससे पूरे गांव में मातम का माहौल है। संवेदना व्यक्त करने के लिए काफी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं। आशंका है कि तिलक कार्यक्रम में वह किसी कोरोना संक्रमित के संपर्क में आया होगा।

आज बहराइच जानी थी बारात
प्रशांत की शादी बहराइच जिले की लड़की के साथ तय हुई थी। आज उसकी बारात जानी थी। बारात को लेकर सभी तैयारियां कर ली गई थी। लेकिन अब परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

खबरें और भी हैं...