लॉकडाउन का उल्लंघन:सीएम योगी के स्वर्गीय पिता के नाम पर मिली परमीशन से बद्रीनाथ जा रहे थे विधायक अमनमणि त्रिपाठी; पुलिस ने गिरफ्तार किया, अब जेल जाएंगे

लखनऊ2 वर्ष पहले
महाराजगंज की नौतनवा सीट से विधायक अमन मणि त्रिपाठी।
  • लॉकडाउन के बीच विधायक व 10 अन्य बद्रीनाथ जा रहे थे
  • टिहरी गढ़वाल के मुनि की रेती पुलिस स्टेशन पर लिखी गई एफआईआर

महाराजगंज जिले की नौतनवा विधानसभा सीट से निर्दलीय विधायक अमनमणि त्रिपाठी ने सीएम योगी के पिता स्वर्गीय आनंद सिंह बिष्ट के पितृ कार्य के नाम पर उत्तराखंड में लॉकडाउन का उल्लंघन किया है। विधायक को उनके 10 अन्य साथियों के साथ में टिहरी जिले के मुनीकीरेती थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया। हालांकि, इसके बाद उन्हें निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया। वहां से लौटते समय बिजनौर पुलिस ने विधायक व उनके 7 साथियों को गिरफ्तार कर लिया है, अब उन्हें जेल भेजा जाएगा।

बिजनौर के नजीबाबाद में इंस्पेक्टर ने अमनमणि और उसके साथियों पर एफआईआर दर्ज कराई हैं। लॉकडाउन उल्लंघन और एपीडेमिक एक्ट में एफआईआर दर्ज की गई है। अमनमणि के पास लॉकडाउन में घूमने के लिए कोई पास नहीं मिला है। आरटीआई एक्टिविस्ट नूतन ठाकुर ने उत्तराखंड के अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश व देहरादून के अपर जिलाधिकारी पर कार्रवाई के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय को पत्र लिखा था। विधायक अमनमणि पूर्वांचल के बाहुबली नेता अमरमणि त्रिपाठी के बेटे हैं। अमरमणि वर्तमान में जेल में हैं। अमनमणि को उत्तराखंड के अपर मुख्य सचिव के हस्ताक्षर से ही पास जारी किया गया था।

एसडीएम व पुलिसवालों पर रौब झाड़ा

लॉकडाउन के बीच अमनमणि त्रिपाठी तीन कार के काफिले के साथ कर्णप्रयाग के पास गोचर चेकपोस्ट पर पहुंचे। उनके साथ 10 अन्य सवार थे। यहां तैनात पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोककर पूछताछ शुरू की। जिस पर विधायक ने उन्हें अनुमति पत्र दिखाया। यह पत्र उत्तराखंड के अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश व देहरादून के अपर जिलाधिकारी रामजी शरण के हस्ताक्षर से जारी हुए थे। लेकिन पुलिस ने उन्हें आगे जाने की अनुमति नहीं दी। यह बात विधायक को नागवार गुजरी। उन्होंने पुलिसकर्मियों पर रौब गालिब करने की कोशिश की। आरोप है कि, हंगामे की जानकारी पहुंचे कर्णप्रयाग के एसडीएम के साथ अभद्रता भी की गई। विधायक ने बताया कि, वे यूपी के सीएम योगी के स्वर्गीय पिता के पितृ कार्य के निमिद्ध बद्रीनाथ जा रहे हैं। बावजूद उन्हें पुलिस ने आगे जाने नहीं दिया। कुछ देर हंगामा करने के बाद विधायक खुद लौट गए।

दो से सात मई तक का था यात्रा कार्यक्रम
विधायक को जारी पत्र के अनुसार, उन्हें दो मई से सात मई तक यात्रा करने का पास दिया गया था। कार्यक्रम के अनुसार, दो मई को देहरादून से श्रीनगर पहुंचना था, लेकिन वे गौचर पहुंच गए। इसी तरह तीन मई को बद्रीनाथ, पांच को केदारनाथ व सात मई को वापस लौटना था। 

उत्तराखंड के अपर मुख्य सचिव की तरफ से जारी पास।
उत्तराखंड के अपर मुख्य सचिव की तरफ से जारी पास।

लॉकडाउन के उलंघन के आरोप में दर्ज किया केस

उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने बिताया कि,  मुनि की रेती पुलिस स्टेशन पर यूपी विधायक अमन मणि त्रिपाठी और 10 अन्य के खिलाफ लॉकडाउन के मानदंडों का उल्लंघन करने के आरोप में एक प्राथमिकी दर्ज की गई है।

खबरें और भी हैं...