कार्रवाई:वाराणसी में अवैध वसूली करा रहे दो पुलिसकर्मी गिरफ्तार

वाराणसीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
वाराणसी एसएसपी अमित पाठक ने एसपी ट्रैफिक को मामले की जांच सौंपी है। - Dainik Bhaskar
वाराणसी एसएसपी अमित पाठक ने एसपी ट्रैफिक को मामले की जांच सौंपी है।
  • एसएसपी ने पीआरओ को सादा कपड़ों में मौके पर भेजकर कराई जांच
  • भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत दर्ज किया गया केस

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में खाकी को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। यहां हेड कांस्टेबल तेज बहादुर और कांस्टेबल बलवंत नो एंट्री में ट्रकों से लगातार वसूली करा रहे थे। वसूली के लिए प्राइवेट आदमी को लगाया गया था। एसएसपी अमित पाठक ने दोनों कांस्टेबलों को निलंबित कर दिया। साथ ही भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मंडुआडीह थाने में केस दर्ज किया गया। सिपाही को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

शिकायत के आधार पर कराई जांच

एसएसपी अमित पाठक ने शिकायत के आधार पर अपने पीआरओ अजय मिश्र से सादा कपड़ों में जांच कराई। 5 अगस्त की रात अजय मिश्रा ने थाना मंडुआडीह क्षेत्र के लहरतारा चौराहे के पास एक व्यक्ति को अवैध रुप से वाहनों से रुपए लेते हुए गिरफ्तार किया। नाम पता पूछने पर उसने अपना नाम प्रभाकर राय पुत्र राजेन्द्र राय निवासी जगदीश वार्ड लहरतारा बौलिया थाना मंडुवाडीह बताया। यह भी बताया की पिकेट ड्यूटी पर नियुक्त हेड कांस्टेबल तेज बहादुर व कांस्टेबल बलवंत कुमार द्वारा ट्रकों से अवैध वसूली करायी जाती है। एक रात में तीन से चार हजार रुपए मिल जाता है।

इन धाराओं में दर्ज हुआ केस

इसके बाद थाना मंडुआडीह में धारा 384 व 7/8 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। मामले की विवेचना क्षेत्राधिकारी भेलूपुर द्वारा की जा रही है। प्रकरण में बलवंत कि गिरफ्तार कर ली गयी है और दूसरे पुलिसकर्मी तेज बहादुर की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किया जा रहा है। दोनों आरोपी पुलिस कर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है।

खबरें और भी हैं...