वायरल वीडियो:इटावा में वकीलों ने सस्पेंड चल रहे दरोगा को जमकर पीटा, एसएसपी ऑफिस में भागकर बचाई जान

इटावाएक वर्ष पहले
यह तस्वीर इटावा की है। दरोगा की पिटाई की बाद मुस्तैद फोर्स।
  • कलेक्ट्रेट का मामला, काम न होने पर वकील से रुपए मांगने पहुंचा था दरोगा
  • एसएसपी ने कहा- दरोगा के खिलाफ कई शिकायतें, वह सस्पेंड चल रहा

कलेक्ट्रेट परिसर में गुरुवार को विवाद के बाद वकीलों ने एक दरोगा की जमकर पिटाई की। दरोगा ने मौके भागकर जान बचाई और एसएसपी कार्यालय पहुंचा। एसएसपी आकाश तोमर वकीलों की हिमायत करते नजर आए। उन्होंने बताया कि दरोगा सस्पेंड चल रहा है। इसकी पहले से कई शिकायतें हैं। फिलहाल दरोगा की पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। 

इटावा में कलेक्ट्रेट परिसर में ही डीएम, एसएसपी का कार्यालय और कचहरी है। दरोगा विजय प्रताप गुरुवार को अपने किसी काम के चलते कचहरी में अधिवक्ता धर्मेंद्र पांडे के पास गया था। उसने काम में हो रही देरी के लिए वकील से शिकायत की। यह भी कहा कि यदि न हो पाए तो पैसा वापस कर दिया जाए। इसी बात को लेकर विवाद शुरू हो गया। तभी धर्मेंद्र पांडेय व अन्य ने मिलकर दरोगा विजय प्रताप को पीटना शुरू कर दिया।

पीड़ित दरोगा ने कहा कि वकील से मैंने अपने पैसे वापस मांगे थे और उसी को लेकर तमाम अधिवक्ताओं ने उसे पीटा है। ये पूरा मामला एसएसपी के सामने पहुंचा। अधिवक्ता धर्मेंद्र पांडे ने एसएसपी आकाश तोमर से दरोगा की शिकायत की। एसएसपी ने दरोगा को सिविल लाइन थाने भिजवा दिया। बताया कि, यह सब इंस्पेक्टर सस्पेंड चल रहा है और पहले से इसकी कई शिकायतें हैं। मामले की जांच की जा रही है।