पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Uttar Pradesh, UP Police, Lucknow, Kanpur, Agra, Unnao, Murder Case Registered Against Unnao Police Constable And Home Guard,

पुलिस की पिटाई से युवक की मौत:उन्नाव पुलिस के सिपाही और होमगार्ड पर हत्या का केस दर्ज, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में 14 जगह मिले चोट के निशान

लखनऊ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक युवक फैसल के परिजनों ने उसका शव सड़क पर रखकर चक्काजाम कर दिया था। - Dainik Bhaskar
मृतक युवक फैसल के परिजनों ने उसका शव सड़क पर रखकर चक्काजाम कर दिया था।

उन्नाव में सब्जी का ठेला लगाने वाले 17 साल के फैसल की मौत पुलिस की पिटाई से ही हुई थी। दो डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमार्टम में हेड इंजरी और 14 जगह शरीर पर चोट के निशान होने की रिपोर्ट दी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार मौत बीमारी से नहीं बल्कि पुलिस की पिटाई से हुई है। ASP उन्नाव शशि शेखर के अनुसार परिजनों की तहरीर पर कोतवाली में आरोपी सिपाही विजय चौधरी और होमगार्ड सत्य प्रकाश के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मुकदमा लिखे जाने के बाद प्रदर्शनकारी धीरे-धीरे घर चले गए।
परिजनों का आरोप- पीटते हुए थाने ले गई पुलिस
मामला उन्नाव के मोहल्ला भटपुरी का है। यहां 17 साल का फैसल घर के बाहर सब्जी बेच रहा था। आरोप है कि दोपहर में नगर पुलिस चौकी का एक सिपाही और होमगार्ड उसके पास पहुंचा और कोरोना कर्फ्यू के नियमों का उल्लंघन करने की बात कहते हुए फैजल की पिटाई शुरू कर दी। परिजनों का कहना है कि सिपाही और होमगार्ड फैसल को लाठी-डंडों से पीटते हुए चौराहे तक ले गए, फिर जीप में डालकर उसे कोतवाली ले गए। जीप में भी लगातार उसे पीटने का आरोप है। ज्यादा चोट लगने से फैसल की हालत बिगड़ गई। पुलिस उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गई, लेकिन तब तक उसकी मौत हो गई थी। गुरुवार को पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों में डॉ अरविंद कुमार आनंद व डॉ कौशलेंद्र शामिल थे। मृतक फैसल का पोस्टमार्टम में सिर पर चोट लगने से मौत होने की पुष्टि हुई है, लगभग शरीर में 14 छोटे अन्य चोट के निशान मिले हैं। हॉस्पिटल पहुंच गई सैकड़ों की भीड़
जानकारी के अनुसार फैसल की मौत की खबर मिलते ही सैकड़ों लोगों की भीड़ सामुदायिक स्वास्थ केंद्र पहुंच गई। पुलिस ने समझाकर हॉस्पिटल से हटाया तो आक्रोशित लोग नागरिक तिकोनिया पार्क के सामने जुट गए और लखनऊ हाईवे को जाम कर दिया था। पांच घंटे तक जाम लगा रहा।

50 लाख रुपए मुआवजे की मांग पर अड़े
फैसल के परिजनों को सरकार और पुलिस से 50 लाख रुपए की मुआवजे दिए जाने का आश्वासन दिया गया है। परिजनों ने घर के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग भी की है।

खबरें और भी हैं...