पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

24 घंटे में BHU के दो डॉक्टरों का इस्तीफा:अब सर सुंदरलाल अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर के प्रोफेसर इंचार्ज ने दिया इस्तीफा, MS पहले ही अपना पद छोड़ चुके

वाराणसीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
BHU के सर सुंदर लाल अस्पताल में इस्तीफे का दौर जारी है। - Dainik Bhaskar
BHU के सर सुंदर लाल अस्पताल में इस्तीफे का दौर जारी है।

वाराणसी स्थित BHU का सर सुंदरलाल अस्पताल इन दिनों बदइंतजामी और लापरवाही के साथ ही अन्य कारणों से भी चर्चाओं में है। BHU के सर सुंदरलाल अस्पताल के MS प्रो. एसके माथुर के इस्तीफे के 24 घंटे बाद शुक्रवार को ट्रॉमा सेंटर के प्रोफेसर इंचार्ज डॉ. संजीव कुमार गुप्ता ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इसे लेकर विश्वविद्यालय के मेडिकल कॉलेज से लेकर प्रशासनिक अमले में अफरा-तफरी मची है। फिलहाल नए प्रोफेसर इंचार्ज को लेकर मंथन चल रहा है और पूरी संभावना है कि देर शाम तक नए नाम पर फैसला हो जाएगा।

मनाने पर नहीं माने प्रोफेसर गुप्ता
BHU मेडिकल कॉलेज के जनरल सर्जरी के प्रो. संजीव कुमार गुप्ता को ट्रॉमा सेंटर की उस समय जिम्मेदारी दी गई थी जब वहां अव्यवस्था चरम पर थी। तत्कालीन इंचार्ज पर कई तरह के आरोप लगने के साथ ही छात्र और डॉक्टर भी अलग-अलग खेमों में बंटे थे। माना जा रहा है कि एक बार फिर राजनीति और अंतर्विरोध हावी हुआ तो प्रो.संजीव गुप्ता ने क्षुब्ध होकर इस्तीफा दे दिया। विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से प्रो. गुप्ता को मनाने का प्रयास किया गया, लेकिन उन्होंने अपना मोबाइल ही स्विच ऑफ कर लिया।

इस्तीफे के पीछे गुटबाजी की चर्चा

गौरतलब है कि इससे पहले गुरुवार को एनेस्थिसिया विभाग के हेड प्रो. एसके माथुर ने BHU के MS पद से इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद जनरल मेडिसिन विभाग के प्रो. केके गुप्ता को इस पद पर अगले आदेश तक के लिए जिम्मेदारी दी गई है। विश्वविद्यालय के मेडिकल कॉलेज में चर्चा है कि इन दिनों प्रमुख पदों पर आसीन होने के लिए इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (IMS) में जमकर गुटबाजी हो रही है। इसे लेकर दिल्ली सहित अन्य बड़े शहरों से भी लोग अपने-अपनों को प्रमुख पदों पर बैठाने की जोर-जुगत में लगे हुए हैं।

DM ने केंद्र को लिखी थी चिट्ठी

हाल ही में DM कौशल राज शर्मा ने BHU अस्पताल की लापरवाही और बदइंतजामी को लेकर हाल ही में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से शिकायत की थी। इसी के बाद पहले BHU अस्पताल के MS और फिर ट्रॉमा सेंटर के प्रोफेसर इंचार्ज ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया।