पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बनारस वालों के काम की खबर:होम आइसोलेशन वाले मरीजों को रेमडेसिविर इंजेक्शन देगा प्रशासन, कलेक्ट्रेट में खुला काउंटर, फ्री में सिलेंडर की रिफिलिंग

वाराणसीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सरकारी अस्पतालों के मरीजों को रेमडेसिविर इंजेक्शन मुफ्त में मिलेगा। - Dainik Bhaskar
सरकारी अस्पतालों के मरीजों को रेमडेसिविर इंजेक्शन मुफ्त में मिलेगा।

वाराणसी में जिला प्रशासन ने प्राइवेट अस्पतालों में इलाज करा रहे मरीजों की मदद के लिए कलेक्ट्रेट में काउंटर बनाया है। इस काउंटर के जरिए रेमडेसिविर इंजेक्शन दिया जाएगा। वहीं सरकारी अस्पतालों के मरीजों के लिए पूर्व की भांति रेमडेसिविर निशुल्क मिलता रहेगा। इसके साथ ही अब सरकारी अस्पतालों ने एक हेल्प काउंटर बनाया जाएगा। जिसके माध्यम से प्रशासनिक एवं स्वास्थ्यकर्मियों और अस्पतालों में खाली बेड की संख्या की जानकारी दी जाएगी।

550 रुपए में सिलेंडर मिलना शुरू हुआ

होम आइसोलेशन में रह रहे आर्थिक रूप से कमजोर कोरोना संक्रमित मरीजों को उनकी आवश्यकता के अनुसार ऑक्सीजन सिलिंडर अब निशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि दुर्गाकुंड स्थित अंध विद्यालय के पास ऑक्सीजन सिलिंडर की फ्री रिफिलिंग सर्विस शुरू करा दी गई है। यहां पर ऑक्सीजन सिलेंडर के जंबो 7 क्यूबिक मीटर लार्ज सिलिंडर और स्माल सिलिंडर की रिफिलिंग की जा रही है।

इसके साथ ही होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए ज्योति इंडस्ट्रियल कंपनी, चौकाघाट में 550 रुपए में जंबो 7 क्यूबिक मीटर लार्ज ऑक्सीजन सिलिंडर की रिफिलिंग सर्विस भी शुरू की गई है। जिलाधिकारी ने कहा कि इन दो स्थानों पर सिलिंडर रिफिलिंग की व्यवस्था शुरू होने से कोरोना संक्रमित मरीजों को उनकी आवश्यकता के अनुसार ऑक्सीजन सुगमता के साथ मिलने लगेगी।

राहत की बात: जिले में घट रही कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या

वाराणसी में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आ रही है। इसे लेकर स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन ने भी राहत की सांस ली है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि 6 मई को कोरोना के 876 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। राहत की बात यह है कि कोविड-19 पॉज़िटिव की दर 8.21 फीसदी रही, जो कि लगातार घट रही है। डिस्चार्ज होने की दर लगातार बढ़ रही है। जिले में कुल 12,135 एक्टिव कोरोना संक्रमित मरीज हैं। जिसमें 11,492 होम आइसोलेशन में और 643 अस्पताल में भर्ती हैं। होम आइसोलेशन में अब तक जिले में 54,426 मरीज ठीक हो चुके हैं।

खबरें और भी हैं...