सड़क हादसा:वाराणसी के चौबेपुर में बोलेरो ने मारी ऑटो को टक्कर, 6 घायल, 1 की मौत

वाराणसी5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इसी ऑटो में सवार 6 यात्री भी घायल हो गए। इनसेट में मृतक- अलाउद्दीन। - Dainik Bhaskar
इसी ऑटो में सवार 6 यात्री भी घायल हो गए। इनसेट में मृतक- अलाउद्दीन।

वाराणसी के चौबेपुर क्षेत्र में उमरहां दैत्राबीर बाबा मंदिर के समीप शनिवार को बोलेरो की टक्कर से सवारी वाहन चालक अलाउद्दीन (40) की मौत हो गई। हादसे में ऑटो सवार छह यात्री घायल हो गए, जिन्हें पुलिस की मदद से समीप के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। हादसे की सूचना पुलिस ने अलाउद्दीन के परिजनों को देकर उसका शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया।

बैंक से लोन लेकर खरीदा था ऑटो, उसी से पालता था परिवार

मुरली गांव निवासी अलाउद्दीन ने बैंक से लोन लेकर सवारी वाहन विक्रम खरीदा था। इसी से वह अपने परिवार का भरण-पोषण करता था। परिजनों के अनुसार, अलाउद्दीन शुक्रवार की रात उमरहा से गाजीपुर जिले के सिधौना गई बारात में बैंड-बाजा वालों को अपनी गाड़ी से लेकर गया था। शनिवार की सुबह वह सिधौना से बैंड-बाजा वालों को लेकर चिरईगांव के लिए निकला। उमरहां दैत्रावीर बाबा मंदिर के समीप विक्रम के पीछे तेज रफ्तार बोलेरो ने टक्कर मार दी। हादसे में अलाउद्दीन की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, उधोरामपुर गांव के रामलाल व रामवृक्ष, नियार गांव के मुस्तकीम, गहनी गांव के राजेंद्र, ताड़ी गांव के लखेंद्र और चौबेपुर के बैजनाथ घायल हो गए। उधर, हादसे के बाद बोलेरो लेकर चालक भाग निकला।

दो साल पहले बेटे की हुई थी मौत, अब पति की जान चली गई

अलाउद्दीन की मौत की सूचना उसके परिजनों को मिली तो घर में कोहराम मच गया। बेसुध पत्नी गुलशन बेगम होश में आने पर यही कह रही थी कि दो साल पहले बेटा शाहरूख नदी में डूब कर मर गया था। अब हमारे शौहर नहीं रहे। हमने किसका क्या बिगाड़ा था जो हमारे साथ इतना बुरा हुआ। चार बेटियां और एक बेटा अब किसके सहारे जियेंगे और कौन उनको पालेगा। गुलशन बेगम को परिजन बड़ी ही मुश्किल से संभाले हुए थे।

खबरें और भी हैं...