पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Vegetable Vendor Dies After Beating Police In Unnao; Hundreds Of People Jammed The Unnao Lucknow Highway By Placing Bodies On The Road Unnao News Unnav News Kanpur News Lucknow News

पुलिस की पिटाई से 17 साल के लड़के की मौत:उन्नाव में सैकड़ों लोगों ने सड़क पर शव रखकर हाइवे जाम किया, परिजनों का आरोप- थाने तक पीटते हुए ले गए थे पुलिसवाले

उन्नाव4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उन्नाव में कोरोना कर्फ्यू के दौरान सब्जी का ठेला लगाना एक लड़के को भारी पड़ गया। आरोप है कि पुलिस ने सब्जी विक्रेता को कर्फ्यू का उल्लंघन करने पर इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी जब स्थानीय लोगों को हुई तो सैकड़ों की संख्या में लोग सड़क पर उतर आए। लोगों ने उन्नाव-लखनऊ हाईवे पर शव रखकर चक्काजाम कर दिया। पांच घंटे तक चले इस हंगामे के बाद एसपी ने आरोपी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया।

SP उन्नाव शशि शेखर के अनुसार परिजनों की तहरीर पर कोतवाली में आरोपी सिपाही विजय चौधरी और होमगार्ड सत्य प्रकाश के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मुकदमा लिखे जाने के बाद प्रदर्शनकारी धीरे-धीरे घर चले गए। रात करीब 10 बजे पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के परिजनों को मुआवजा संबंधित मदद के लिए जिला प्रशासन के जरिए आश्वासन दिया गया है।

परिजनों का आरोप- पीटते हुए थाने ले गई पुलिस
मामला उन्नाव के मोहल्ला भटपुरी का है। यहां 17 साल का फैसल घर के बाहर सब्जी बेच रहा था। आरोप है कि दोपहर में नगर पुलिस चौकी का एक सिपाही और होमगार्ड उसके पास पहुंचा और कोरोना कर्फ्यू के नियमों का उल्लंघन करने की बात कहते हुए फैजल की पिटाई शुरू कर दी। परिजनों का कहना है कि सिपाही और होमगार्ड फैसल को लाठी-डंडों से पीटते हुए चौराहे तक ले गए, फिर जीप में डालकर उसे कोतवाली ले गए। जीप में भी लगातार उसे पीटने का आरोप है। ज्यादा चोट लगने से फैसल की हालत बिगड़ गई। पुलिस उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गई, लेकिन तब तक उसकी मौत हो गई थी।

हॉस्पिटल पहुंच गई सैकड़ों की भीड़
फैसल की मौत की खबर मिलते ही सैकड़ों की भीड़ सामुदायिक स्वास्थ केंद्र पहुंच गई। पुलिस ने समझाकर हॉस्पिटल से हटाया तो आक्रोशित लोग नागरिक तिकोनिया पार्क के सामने जुट गए और लखनऊ हाईवे को जाम कर दिया।

50 लाख मुआवजे की मांग पर अड़े
सब्जी विक्रेता फैसल के परिजन सरकार और पुलिस से 50 लाख रुपए की मुआवजे की मांग पर अड़े हैं। परिजनों ने घर के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग भी की है।

खबरें और भी हैं...