पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Villagers Are Not Ready For Corona Test Vaccination In Uttar Pradesh Villages, Yogi Aditayanath, Villagers Threatened Health Team In Hamirpur Village, Where 15 Deaths Occurred, Women Came Out With Sticks In Auraiya

UP के 3 जिलों में कोरोना वॉरियर्स से बदसलूकी:हमीरपुर के जिस गांव में 15 मौतें, वहां ग्रामीणों ने हेल्थ टीम को धमकाया, औरेया में महिलाएं लाठी लेकर निकलीं

4 महीने पहले
फोटो औरैया के कादलपुर गांव की है, यहां पहुंची स्वास्थ्य विभाग को खदेड़ने महिलाएं लाठी लेकर निकल पड़ीं।
  • ललितपुर में कोरोना मरीजों को खाना खिला रहे समाजसेवियों को दबंगों ने पीटा

UP के गांवों में कोरोना भयावह तरीके से फैल चुका है। देर से ही सही, सरकार ने अब गांवों पर कुछ हद तक ध्यान देना शुरू किया है। हेल्थ टीमें गांवों में जाने लगी हैं, लेकिन गांव वाले सेहत की फ्रिक छोड़कर हेल्थ टीम पर ही हमला करने में लग गए हैं। रविवार को राज्य के तीन अलग-अलग जिलों में गांव वालों ने हेल्थ वर्कर्स और समाजसेवियों के साथ मारपीट की।

पहला मामला: हमीरपुर में पुलिस की निगरानी में हुई जांच

हमीरपुर जिले के भटपुरा गांव में बुखार से अब तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है। उसके बाद भी ग्रामीण कोरोना की जांच कराने को तैयार नहीं हैं। हेल्थ टीम जब गांव के लोगों की कोरोना टेस्ट करने पहुंची तो ग्रामीणों ने उन पर हमला कर दिया। हेल्थ टीम ने किसी तरह भागकर जान बचा पाई। बाद में पुलिस के पहुंचने पर टीम ने 35 लोगों की जांच की, इसमें से एक व्यक्ति पॉजिटिव मिला है।

दूसरा मामला: ललितपुर में दबंगों ने किया हमला

दूसरा मामला ललितपुर जिले में सामने आया है। यहां एक ढाबे पर खाना खाने रुके कोरोना मरीजों की सेवा में लगे पांच समाजसेवियों को दबंगों ने रंगदारी देने से इंकार करने पर जमकर पीटा। उन पर ढाबा कर्मचारियों के साथ मिलकर लोहे की रॉड से हमला कर दिया।

वहीं, मौके पर पहुंची डायल 112 पुलिस की पुलिस बचाने की जगह वीडियो बनाती रही। पुलिस ने इस मामले में 5 पांच दबंगों सहित अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज कर लिया। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

फोटो ललितपुर की है कोरोना मरीजों की सेवा में लगे समाजसेवियों को दंबगों ने पीटा है।
फोटो ललितपुर की है कोरोना मरीजों की सेवा में लगे समाजसेवियों को दंबगों ने पीटा है।

दबंगों की धमकी- बिना पैसे दिए नहीं चलेगी एंबुलेंस

ललितपुर निवासी अंकुर जैन समाजसेवी हैं। उनकी अपनी एक संस्था भी है। इस कोरोना काल में वे और उनके साथी कोरोना मरीजों को अस्पताल और घरों तक पहुंचाने के लिए निशुल्क एंबुलेंस चला रहे हैं। शुक्रवार की रात वह लोग तालबेहट से लौट रहे थे। रास्ते में हाइवे किनारे ग्राम तेरई फाटक स्थित ढाबे पर खाना खाने रुके, तभी धमकाना गांव निवासी दबंग तिलक यादव, धीरज यादव, सोहन यादव, रंजीत और चाली वहां आए। धमकाया कि यहां एंबुलेंस चलानी होगी तो हमें पैसे देने पड़ेंगे।

तीसरा मामला: औरेया में टीम को लाठी लेकर मारने दौड़े

चेहरे पर मास्क नहीं, हाथों में लाठी-डंडे हैं। बड़े तो बड़े बच्चों के हाथ में भी लाठियां हैं। यह नजारा किसी जंग का नहीं बल्कि औरैया के कादलपुर गांव में पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम को डराते हुए लोगों का है। अफवाहों से घिरे गांव वालों से जब आशा बहू ने वैक्सीन लगवाने की अपील की तो क्या बड़े क्या बच्चे सभी हाथों में लाठियां लेकर निकल आए। महिला स्वास्थ्यकर्मी को भद्दी-भद्दी गलियां तक दीं। कुछ लोगों ने तो मारने के लिए लाठियां भी तान दीं। बहरहाल, रविवार को स्वास्थ्यकर्मी गांव से बिना वैक्सीनेशन किए हुए लौट आए।

चौथा मामला: फतेहपुर में हेल्थ वर्कर्स के साथ नोकझोंक

ऐसा ही एक मामला फतेहपुर जिले में आया है, जहां यमुना कटरी में हेल्थ वर्कर्स एक महिला के घर जाकर उसे वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित कर रहे थे, लेकिन महिला वैक्सीन नहीं लगवाने की बात कहकर स्वास्थ्य कर्मियों से नोंकझोक करती रही। इसका एक वीडियो भी वायरल हो रहा है।

खबरें और भी हैं...