पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पंचायत चुनाव में फर्जी वोटिंग:शामली में हरियाणा व दूसरे जिलों के रहने वालों से डलवाए वोट, अधिकारियों पर रिश्वत लेने का आरोप

शामलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शामली में पंचायत चुनाव में फर् - Dainik Bhaskar
शामली में पंचायत चुनाव में फर्

उत्तर प्रदेश के शामली में पंचायत चुनाव में फर्जी वोटिंग का मामला सामने आया है। झिंझाना थाना क्षेत्र के तहत आने वाली म्यान बिडोली ग्राम पंचायत में प्रधान पद के लिए पड़े वोटों पर विवाद खड़ा हो गया है। फर्जी वोटिंग का वीडियो सामने आने के बाद हारे प्रत्याशियों व कई ग्रामीणों ने चुनाव दोबारा कराए जाने की मांग की है।

इन्होंने अधिकारियों पर हरियाणा व दूसरे जिलों के रहने वालों से वोट डलवाने का आरोप लगाया है। इतना ही नहीं, ग्रामीणों का ये भी कहना है कि नाबालिग बच्चों से भी वोट डलवाए गए हैं। डीएम से शिकायत भी की गई है, SSP को जांच के आदेश दिए गए हैं।

फर्जी वोटिंग का वीडियो वायरल
गांव में फर्जी वोटिंग का वीडियो वायरल होने के बाद प्रधान पद पर जीत को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं। वीडियो सामने आते ही हर ओर यही कहा जा रहा है कि प्रधान पद के चुनाव में अनैतिक तरीके से जीत हासिल की गई है। इस पर तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए। अधिकारियों तक शिकायत पहुंचाने के लिए ग्रामीण भी एकजुट हो गए हैं।

ऐसे हुआ खुलासा
हारने वाली प्रत्याशी कुसुम व अन्य ग्रामीणों का आरोप है कि हमारे यहां मत पेटी में 527 वोट पर मत पेटियां सील की गई। जब काउंटिंग में इन्हें खोला गया तो 550 वोट निकले। वायरल हो रहे वीडियो में अधिकारियों की कारगुजारी सामने आई है। कुसुम ने सैकड़ों लोगों के साथ मिलकर जिलाधिकारी से इस मामले में शिकायत की है। मामले में डीएम ने एसपी को जांच के बाद कार्रवाई के आदेश दिए हैं। वहीं पीड़ितों का आरोप है कि अगर हम लोगों को अधिकारियों के द्वारा न्याय नहीं मिलता है तो हम लोग हाई कोर्ट तक भी मामले को ले जाएंगे।

दोबारा हों चुनाव
ग्रामीण प्रह्लाद व मोहन का कहना है कि गांव में दोबारा चुनाव कराए जाने चाहिए। इस अनैतिक वोटिंग का उन्हीं की तरह अन्य ग्रामीण भी पुरजोर विरोध कर रहे हैं। इनका कहना है कि पोलिंग बूथ पर वोटिंग के दौरान भी गड़बड़ी सामने देखने को मिल रही थी। यह वीडियो सामने आने के बाद अब सबकुछ साफ हो गया है कि जीत हासिल करने के लिए क्या-कुछ किया गया है। आरोप है कि नाबालिग बच्चों से भी वोट डलवाए गए हैं। धांधली इस स्तर तक हुई है कि मृतक व्यक्तियों के भी वोट डलवाए गए हैं।