पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

घरेलू कलह निगल गई ज़िंदगी:महोबा में बड़े भाई से ज़मीन के बंटवारे का दबाव बनाती थी पत्नी, पति ने ज़हर खाकर दे दी जान

महोबा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ज़मीन के चक्कर में जान चली गई - Dainik Bhaskar
ज़मीन के चक्कर में जान चली गई

उत्तर प्रदेश के महोबा के चरखारी कोतवाली क्षेत्र के गोरखा गांव में पति-पत्नी के बीच हुए पारिवारिक कलह में 25 वर्षीय पति द्वारा संदिग्ध परिस्थितियों में जहर खाकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचायत नामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज जांच शुरू कर दी है।

दरअसल महोबा में चरखारी कोतवाली क्षेत्र के गोरखा गांव में रहने वाले नरेंद्र राजपूत पर उसकी पत्नी उसके बड़े भाई से जमीन बंटवारे का दबाव बना रही थी। नरेंद्र रोजाना की पारिवारिक कलह से परेशान हो उठा था। नरेंद्र द्वारा पत्नी को काफी समझाने के बाद भी जब पत्नी नहीं मानी तो उसने ज़हर खाकर आत्महत्या कर ली।

बीती शाम भी हुआ था पत्नी से विवाद

बीती शाम भी नरेंद्र और उसकी पत्नी के बीच पैतृक जमीन के बंटवारे को लेकर काफी विवाद हुआ था। इसी विवाद से परेशान होकर नरेंद्र ने घर में रखे जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया है। कुछ देर बाद नरेंद्र की हालत बिगड़ने लगी। जिसके बाद उसे जिला अस्पताल ले जाया जा रहा था लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसने रास्ते में दम तोड़ दिया। इस मामले की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची।पुलिस फौरन शव को कब्ज़े में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा और मृतक की पत्नी और भाई पूछताछ शुरू कर दी है।