• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Yogi reviews lockdown system, UP government will send a letter to the governments there for the list of workers willing to come from other states

लखनऊ / योगी ने की लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा, दूसरे प्रदेशों से आने के इच्छुक श्रमिकों की सूची के लिए वहां की सरकारों को पत्र भेजेगी यूपी सरकार

अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान सीएम योगी ने लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा करते हुए श्रमिकों को लेकर कई दिशा निर्देश जारी किए। अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान सीएम योगी ने लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा करते हुए श्रमिकों को लेकर कई दिशा निर्देश जारी किए।
X
अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान सीएम योगी ने लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा करते हुए श्रमिकों को लेकर कई दिशा निर्देश जारी किए।अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान सीएम योगी ने लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा करते हुए श्रमिकों को लेकर कई दिशा निर्देश जारी किए।

  • उत्तर प्रदेश में वित्तीय तथा औद्योगिक संस्थानों सहित सभी महत्वपूर्ण स्थलों पर पेट्रोलिंग व्यवस्था को और सुदृढ़ बनाने के आदेश
  • एयरपोर्ट पर दो सवारी तथा एक चालक के लिए टैक्सी की अनुमति दी जाए, अधिक से अधिक लोगों की टेस्टिंग करने के निर्देश

दैनिक भास्कर

May 26, 2020, 03:36 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अन्य राज्यों से प्रदेश आने के इच्छुक कामगारों-श्रमिकों की सूची प्राप्त करने के लिए सम्बन्धित राज्य सरकारों को पत्र प्रेषित करने के निर्देश दिए हैं। कामगारों-श्रमिकों की सम्मानजनक व सुरक्षित वापसी के लिए केन्द्र व उत्तर प्रदेश सरकार ने निःशुल्क ट्रेन तथा बस की व्यवस्था की है। इस बीच सरकारी दावों के मुताबिक यूपी में पहुंचने वाले कामगारों व श्रमिकों का आंकड़ा पहुंचा 26 लाख पार कर गया है। अब तक ये लोग 1255 ट्रेनों से यूपी लाए गए हैं। दो दिनों में श्रमिकों को लेकर 145 ट्रेनें कामगारों को लेकर आएंगी।

सीएम ने मंगलवार को लोकभवन में उच्च स्तरीय बैठक में लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश आने वाले सभी कामगारों व श्रमिकों की स्क्रीनिंग करते हुए उन्हें आवश्यकतानुसार क्वारैंटाइन सेन्टर अथवा होम क्वारैंटाइन के लिए घर भेजा जाए। कामगारों-श्रमिकों सहित सभी जरूरतमंदों को कम्युनिटी किचन के माध्यम से फूड पैकेट सुलभ कराए जाएं। होम क्वारैंटाइन के लिए घर जाने वाले कामगारों-श्रमिकों को राशन किट उपलब्ध कराई जाए। होम क्वारैंटाइन के दौरान 01 हजार रुपए का भरण-पोषण भत्ता प्रदान किया जाए। इनके लिए खाद्यान्न की नियमित व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु कामगारों-श्रमिकों के नए राशन कार्ड भी बनाए जाएं। 15 दिनों में स्किल मैपिंग करें पूरी
सीएम योगी ने निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के माध्यम से कामगारों-श्रमिकों से संवाद किया जाए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कामगारों-श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए कृतसंकल्पित है। इसके लिए कामगारों-श्रमिकों की स्किल मैपिंग का कार्य प्रगति पर है। उन्होंने निर्देश दिए कि आगामी 15 दिनों में यह कार्य पूरा करते हुए सभी का डाटा संकलित कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि औद्योगिक गतिविधियों में वृद्धि के लिए हर सम्भव प्रयास किए जाएं। एमएसएमई इकाइयों सहित विभिन्न उद्योगों में कामगारों-श्रमिकों को उनकी दक्षता के अनुरूप समायोजित करने के लिए सभी प्रकार के उद्योगों का सर्वे कराया जाए। उन्होंने सभी दुग्ध समितियों को सक्रिय रखने के लिए गम्भीरता से प्रयास करने के निर्देश भी दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि समय तय करके पार्कों में मॉर्निंग वॉक की अनुमति दी जाए। सुरक्षा तथा सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करने के लिए पार्कों में पेट्रोलिंग की जाए। वित्तीय तथा औद्योगिक संस्थानों सहित सभी महत्वपूर्ण स्थलों पर पेट्रोलिंग व्यवस्था को सुदृढ़ रखा जाए। एयरपोर्ट पर दो सवारी तथा एक चालक के लिए टैक्सी की अनुमति दी जाए। उन्होंने कन्टेनमेंट जोन में होम डिलीवरी व्यवस्था प्रभावी ढंग से संचालित करने के निर्देश भी दिए।

प्रदेश के बड़े चिकित्सा संस्थानों को आधुनिक सुविधाओं से लैस हो
सीएम योगी ने अधिक से अधिक लोगों की टेस्टिंग करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि प्रत्येक जनपद में एक टेस्टिंग लैब की स्थापना के कार्य को गति प्रदान की जाए। सभी नाॅन कोविड अस्पतालों में संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपाय अपनाते हुए इमरजेंसी सेवाओं का संचालन तथा आवश्यक ऑपरेशन की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। एसजीपीजीआई, केजीएमयू तथा डाॅ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान जैसे प्रदेश के बड़े चिकित्सा संस्थानों को आधुनिक सुविधाओं से लैस करने तथा सुदृढ़ बनाने की कार्यवाही की जाए।

सीएम योगी ने कहा कि सभी कोविड अस्पतालों को निरन्तर सक्रिय रखा जाए। इन चिकित्सालयों में पीपीई किट, एन-95 मास्क, ग्लव्स तथा सेनिटाइजर सहित सभी बचाव उपकरणों की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। पुलिस बल तथा जेल में संक्रमण के प्रसार पर प्रभावी रोक लागायी जाए। मेडिकल इंफेक्शन को रोकने के लिए डाॅक्टरों सहित सभी चिकित्साकर्मियों का प्रशिक्षण कार्य निरन्तर जारी रखा जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि एल-1, एल-2 तथा एल-3 कोविड चिकित्सालयों में बेड की संख्या को इस माह के अन्त तक बढ़ाकर 01 लाख बेड किया जाए। 

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि गर्मी के मौसम को देखते हुए पेयजल की सुचारू आपूर्ति के लिए सभी प्रबन्ध किए जाएं। बुन्देेलखण्ड क्षेत्र में पेयजल की प्रभावी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। नगरीय इलाकों के प्रमुख स्थानों पर पेयजल के टैंकर रखवाए जाएं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना