पीलीभीत से सपा ने निकाली जनादेश यात्रा:एक दिवसीय दौरे पर पहुंचे राष्ट्रीय महासचिव इंद्रजीत सरोज, कहा- ब्राह्मणों जरा संभल के रहना

पीलीभीत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीलीभीत में समाजवादी पार्टी की जनादेश यात्रा। - Dainik Bhaskar
पीलीभीत में समाजवादी पार्टी की जनादेश यात्रा।

पीलीभीत में समाजवादी पार्टी ने जनादेश यात्रा का आगाज किया। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव इंद्रजीत सरोज एक दिवसीय दौरे पर यहां पहुंचे थे। जहां जनसभा को संबोधित कर इंद्रजीत सरोज ने जनादेश यात्रा का शुभारंभ किया है। इस दौरान सत्तासीन भाजपा पर निशाना साधते हुए इंद्रजीत सरोज ने आगामी विधानसभा चुनाव में सपा के जीत हासिल करने की घोषणा की।

बरात घर में आयोजित हुई जनसभा
महान दल ने समाजवादी पार्टी के साथ जन आक्रोश यात्रा निकाली। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव इंद्रजीत सरोज बुधवार को एक दिवसीय दौरे पर पीलीभीत पहुंचे थे। जहां पूरनपुर के एक निजी बरात घर में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए इंद्रजीत सरोज ने महंगाई भ्रष्टाचार बेरोजगारी व कृषि कानूनों जैसे तमाम मुद्दों पर भाजपा सरकार को घेरने का काम किया। हर मुद्दे पर भाजपा सरकार को विफल बताया।

ब्राह्मणों के एनकाउंटर पर की टिप्पणी
इस दौरान मंच को संबोधित करते हुए इंद्रजीत सरोज ने उत्तर प्रदेश में हो रहे ब्राह्मणों को के एनकाउंटर पर बात की। मंच पर विराजमान ब्राह्मणों को अल्टीमेटम दिया कि उत्तर प्रदेश में जरा संभल कर रहना है। इसके साथ ही कहा कि अगर उत्तर प्रदेश में टॉप टेन अपराधियों की सूची सरकार द्वारा जारी की जाए तो 10 में से 8 लोग मुख्यमंत्री की बिरादरी से होंगे।

कृषि कानूनों से अंबानी अडानी को होगा लाभ
किसान आंदोलन का जिक्र करते हुए कहा कि कृषि कानूनों को लागू कर प्रधानमंत्री ने अपने मित्रों को फायदा पहुंचाने का काम किया है। इस नीति के जरिए कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग कर किसान को अपने ही खेतों में मजदूर बनाया जाएगा। किसानों की मेहनत का पैसा नरेंद्र मोदी के मित्र रखेंगे।

मायावती पर लगाए संगीन आरोप
बसपा सुप्रीमो पर आरोप लगाते हुए कहा कि सपा में शामिल होने से पहले वह बसपा का हिस्सा हुआ करते थे। बसपा सुप्रीमो मायावती ने बसपा के दिग्गज नेताओं को बुलाकर नसीमुद्दीन सिद्दीकी पर पैसा ले जाने का आरोप लगाया था। पार्टी के दिग्गज नेताओं से टिकट के बदले 1500000 रुपए की मांग की थी। ऐसे में उन्होंने पार्टी छोड़ने का निर्णय ले लिया और भाजपा के ऑफर को ठुकरा कर सपा में शामिल हो गए।

खबरें और भी हैं...