पीलीभीत में गैंगरेप पीड़िता को भटकाती रही पुलिस:कोर्ट के आदेश के बाद मुकदमा दर्ज, जीजा ने दोस्त के साथ घटना को दिया अंजाम

पीलीभीत19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गैंगरेप पीड़िता और उसके परिजनों को भटकाती रही पुलिस। - Dainik Bhaskar
गैंगरेप पीड़िता और उसके परिजनों को भटकाती रही पुलिस।

पीलीभीत में पुलिस के महिला सुरक्षा के दावे बेमानी साबित हो रहे हैं। हालत यह है कि थानों में बनी महिला डेस्क पर भी पीड़ित महिलाओं की सुनवाई नहीं हो रही है। लिहाजा एक गैंगरेप पीड़िता की शिकायत जब पुलिस ने दर्ज नहीं की। तो उसे कोर्ट की शरण लेनी पड़ी। कोर्ट के आदेश के बाद पीड़िता की रिपोर्ट दर्ज हो सकी।
जीजा पर दुष्कर्म का आरोप
मामला पीलीभीत के बीसलपुर थाना क्षेत्र के एक गांव का है। यहां पीड़िता के पिता ने पुलिस को तहरीर दी है। इसके मुताबिक बीते 6 दिसंबर 2020 को वह अपने निजी कार्य से बाहर गया था। इस दौरान शाहजहांपुर जिले का निवासी युवती का जीजा उसके घर आया था। वह अपने दोस्त के साथ युवती को कपड़े दिलाने ले गया।
पीड़िता ने पिता को सुनाई आपबीती
आरोप है कि बरखेड़ा के बाजार में ना जाकर वह युवती को सुनगढ़ी थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले जंगरौली पुल के पास ले गया। यहां दोस्त की मदद से युवती के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी भी दी। घर लौटने पर पीड़िता ने आपबीती सुनाईं।
सुनगढ़ी थाना पुलिस ने नहीं की कार्रवाई
पीड़िता के पिता की मानें तो घटना के बाद पूरे मामले में पुलिस को तहरीर दी थी। सुनगढ़ी पुलिस ने जांच की बात कहकर मामले को दबाना चाहा। इसके बाद पीड़िता के पिता ने कोर्ट की शरण ली। अब कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस ने एफआईआई दर्ज की है। सुनगढ़ी थाना अध्यक्ष श्रीकांत द्विवेदी ने कहा कि मामले की जांचकर कार्रवाई होगी।

खबरें और भी हैं...