गैंगरेप के बाद हत्या, अब लोगों में गुस्सा:पीलीभीत में पुलिस सुरक्षा में अंतिम संस्कार, कार्रवाई न होने पर छात्रों ने किया हाइवे जाम

पीलीभीत7 महीने पहले
छात्रों ने आंदोलन किया, आरोपियों के लिए मांगी फांसी की मांग।

पीलीभीत में रविवार को गैंगरेप के बाद नाबालिग छात्रा की हत्या कर दी गई थी। सोमवार को कड़ी पुलिस सुरक्षा के बीच छात्रा का अंतिम संस्कार करवाया गया। पूरे मामले को लेकर विपक्ष प्रदेश सरकार पर हमलावर है। अंतिम संस्कार के बाद सपा के पूर्व राज्यमंत्री हेमराज वर्मा की पुलिस से नोकझोंक हो गई। पूर्व मंत्री ने पुलिस के अधिकारियों से कहा कि आप लोग लड़कियों का खूब रेप करवाओ, उनको जला दो। बीजेपी के नेता यहां आकर लोगों को डरा धमका रहे हैं और आप लोग तमाशा देख रहे हैं।

वहीं छात्र-छात्राओं ने पुलिस की कार्रवाई पर नाराजगी जाहिर की है। छात्रों ने सोमवार सुबह टनकपुर से पीलीभीत जाने वाले हाइवे पर जाम लगा दिया और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग उठाई। छात्रा के साथ हुई घटना को एक दिन बीत गया है, लेकिन अभी तक कोई भी आरोपी पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया है। इस कार्रवाई से पुलिस की मामले को लेकर सुस्ती भी नजर आ रही है।

घटना के बाद से ही सपा नेता मौके पर मौजूद हैं।
घटना के बाद से ही सपा नेता मौके पर मौजूद हैं।

परिवार ने लगाई न्याय की गुहार

छात्रा का अंतिम संस्कार करने के बाद पीड़ित परिवार के लोग थाने में नेताओं के साथ धरने पर बैठ गए हैं और न्याय की गुहार लगा रहे हैं। परिवार के सदस्यों का कहना है कि उनके परिवार को सुरक्षा दी जाए। अपराधियों की गिरफ्तारी हो और आर्थिक रूप से भी जो संभव हो वो मदद की जाए।

परिवार ने अंतिम संस्कार करने से कर दिया था मना
रविवार देर शाम पोस्टमार्टम के बाद छात्रा का शव गांव पहुंचा, तो परिवार ने कई मांगों को लेकर अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया था। अधिकारियों के समझाने के बाद परिवार के लोग अंतिम संस्कार करने के लिए राजी हुए।

वहीं छात्रों ने गैंगरेप के बाद हुई हत्या में कोई कार्रवाई न होने के बाद आंदोलन शुरू कर दिया है। सोमवार सुबर करीब 11 बजे शहर के डिग्री कॉलेज चौराहे पर बड़ी संख्या में छात्र एकत्र हुए। उसके बाद टनकपुर से पीलीभीत जाने वाले हाइवे को जाम कर दिया। पुलिस मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए छात्रों ने नाराजगी जाहिर की।

छात्रों का कहना है कि आरोपियों को फांसी देनी चाहिए। जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होती, वह धरने से नहीं हटेंगे। समाजवादी पार्टी के प्रदेश सचिव सतनाम सिंह और यूसुफ कादरी भी छात्र-छात्राओं के समर्थन में आकर हाईवे पर ही धरने पर बैठ गए। पुलिस ने छात्रों को समझाकर आधे घंटे बाद जाम खुलवाया।

छात्रों ने आरोपियों को पकड़ने की मांग उठाई है।
छात्रों ने आरोपियों को पकड़ने की मांग उठाई है।

समाजवादी पार्टी करेगी कैंडल मार्च
नाबालिग छात्रा की गैंगरेप के बाद हत्या के मामले में समाजवादी नेता देर रात तक पीड़िता के गांव में जमे रहे। पुलिस प्रशासन के जाने के बाद ही समाजवादी नेता मौके से हटे। सोमवार सुबह एक बार फिर पार्टी के तमाम नेता अंतिम संस्कार में शामिल होने पहुंच गए। पार्टी के नेताओं का कहना है कि पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए सोमवार देर शाम कैंडल मार्च निकाला जाएगा।

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में नाबालिग छात्रा के साथ गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने पूरे मामले में मृतक नाबालिग छात्रा के पिता की तहरीर पर गैंगरेप और पॉक्‍सो एक्ट में हत्या समेत तमाम गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है। बरखेड़ा थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली 16 साल की छात्रा शनिवार सुबह ट्यूशन और स्कूल जाने के लिए घर से निकली थी। छात्रा का शव गांव के बाहर ही स्थित गन्ने के खेत से बरामद किया गया था।

खबरें और भी हैं...