प्रतापगढ़ में 1250 किसानों को नहीं मिला मुआवजा:14 किमी लंबा बनेगा बाईपास, आज शिलान्यास करेंगे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

प्रतापगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतापगढ़ में 1250 किसानों को नहीं मिला मुआवजा। - Dainik Bhaskar
प्रतापगढ़ में 1250 किसानों को नहीं मिला मुआवजा।

इन दिनों योगी सरकार योजनाओं के शिलान्यास पर खूब ध्यान दे रही है। प्रतापगढ़ में 14 किमी लंबे बहुप्रतीक्षित बाईपास को शासन की मंजूरी मिली तो लोगों को काफी खुशी हुई। तकरीबन 3 हजार किसानों की जमीनों का अधिग्रहण किया गया है, जिसकी लागत लगभग 308 करोड़ रुपए है। कई सालों तक जमीन अधिग्रहण फिर किसानों को मुआवजा देने की प्रक्रिया चली। उसके बाद टेंडर भी करवा दिया गया।

आज इस बाईपास का शिलान्यास करने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी आ रहे हैं, लेकिन जिले के करीब 1,250 किसान मायूस हैं। दरअसल, जमीन अधिग्रहण करने के बाद किसानों को मुआवजा वितरण किया गया, लेकिन उनमें भी अनदेखी हुई। इलाके के 1,250 से अधिक किसानों की जमीन तो इस बाईपास में गई, लेकिन अभी तक उन्हें मुआवजा नहीं मिला।

व्यवसायिक जमीन के बदले कृषि भूमि का मुआवजा

किसानों की जमीन अधिग्रहण के बाद मुआवजा वितरण में भी काफी अनियमितता बरती गई। बाईपास सदर इलाके के गोंडे गांव से प्रयागराज अयोध्या हाईवे से शुरू हो रहा है। वहां पर गांव के सत्यनारायण सिंह की जमीन जा रही है, जिसमें उनकी आंवला मुरब्बा की दुकान है। उनकी दुकान और उसके पीछे की जमीन इस बाईपास में जा रही है, लेकिन उस जमीन का मुआवजा उन्हें कृषि भूमि का दिया जा रहा, जबकि उसकी कीमत हाईवे पर होने के कारण काफी ज्यादा है। अभी भी उन्हें जमीन अधिग्रहण के बाद कोई मुआवजा नहीं दिया गया है।

एक ही गांव के 1,136 किसानों को नहीं मिला मुआवजा

सिटी कस्बे से होकर गुजरने वाले बाईपास के लिए तकरीबन 1,200 किसानों की जमीनों का अधिग्रहण किया गया है, लेकिन गांव के 1,136 किसानों को अभी भी इसका मुआवजा नहीं दिया गया है। ऐसे में केंद्रीय मंत्री द्वारा बाईपास के शिलान्यास होने से इन किसानों के काफी मायूसी है।

कभी बताते कम्प्यूटर खराब तो कभी कहते नहीं आया बजट

किसानों ने बताया कि अधिकारियों के ऑफिस का चक्कर लगाते वो थक चुके हैं। कई बार मंत्री और स्थानीय विधायक से भी फोन करवा चुके हैं, लेकिन उन्हें मुआवजा नहीं दिया गया। उनका कहना है कि कर्मचारी कभी कम्प्यूटर खराब होने का बहाना बताते हैं तो कभी बिगड़ कर कहते हैं कि कोई बजट नहीं आया है। ऐसे में उनकी आस ही अब टूट चुकी है।

टेक्निकल फाल्ट के कारण नहीं हो रहा भुगतान- लेखपाल

इलाके के लेखपाल निर्भय यादव का कहना है कि टेक्निकल फाल्ट के कारण भुगतान में समस्या आ रही है। ऑफलाइन होता तो पेमेंट अभी तक बंट गया होता। जल्द ही समस्या दूर कर ली जाएगी।

इन गांवों से होकर गुजरेगा बाईपास

गोंडे, सरायवीरभद्र, पूरे केशवराय, गायघाट, जहरगों, करौंदी, गड़ाईचकदे इया, सराय कल्याणदेव, इशीपुर, बैजलपुर, रामगढ़ी, पूरे माधवसिंह, पूरे मुस्तफा, प्रतापगढ़ सिटी से होकर ये बाईपास गुजरेगा।

आज होगा बाईपास का शिलान्यास

बाईपास का शिलान्यास करने के लिए केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के साथ कई नेता आ रहे हैं। लेकिन इन किसानों की मायूसी बता रही कि उनके साथ अभी तक केवल छलावा ही हुआ है।