खाने-पीने संबंधी बुनियादी सुविधाओं का जायजा लिया:न्यायाधीश ने जिला कारागृह का निरीक्षण किया, पैरवी के लिए वकील करवाने के निर्देश दिए

प्रतापगढ़7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार शिवप्रसाद तंबाेली सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, (अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश) ने जिला कारागृह का औचक निरीक्षण किया। तम्बोली ने जिला कारागृह पहुंच कर उपस्थित सभी बंदियों से उनके बैरक में पहुंच कर संवाद किया। उनके रहने, खाने-पीने संबंधी बुनियादी सुविधाओं का जायजा लिया। प्रत्येक बैरक में निरुद्ध बंदिजनों से जेल में होने वाली विभिन्न गतिविधियों के बारे में जाना।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण प्रतापगढ़ को जिला जेल में होने वाली अवैध गतिविधियों के संबंध में कई बार शिकायतें प्राप्त होती रहती है। इसी को लेकर वे लगातार निरीक्षण कर रहे हैं। बैरक नम्बर 8 में निरुद्ध एक बंदी पूनमचंद पिता अमृतराम ने अपने प्रकरण में पैरवी करने के लिए वकील मुहैया कराने का निवेदन किया। प्राधिकरण सचिव ने उपस्थित स्टाफ से इस बारे में तुरंत कार्रवाई करते हुए प्राधिकरण में आवेदन भिजवाए जाने के निर्देश दिए।

इसी बैरक में निरुद्ध पाडाखोरा निवासी बंदी भंवरलाल पिता जगदीश चन्द्र ने अधिवक्ता नियुक्त करने का निवेदन किया। तम्बोली ने जेल प्रशासन से उक्त बंदी का निशुल्क विधिक सहायता का प्रार्थना पत्र भिजवाने का निर्देश दिया। निरीक्षण के दौरान न्यायाधीश तम्बोली ने बंदिजनों के रहने, खाने-पीने संबंधी सुविधाओं का जायजा लिया। उपस्थित बंदिजनों से इस बारे में वार्ता भी की।

ग्राम आमलीखेड़ा में लगा विधिक जागरूकता शिविर
शिवप्रसाद तम्बोली सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने ग्राम आमलीखेड़ा में जागरूकता शिविर का आयोजन किया। आम चौराहे पर आम जन को एकत्र करते हुए प्राधिकरण सचिव ने विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया। शिविर में उपस्थित ग्रामीण जनों को राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी दी।

इसमें नालसा, असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों की विधिक सहायता योजना 2015, बच्चों में मैत्रीपूर्ण संबंधों के संबंध में योजना 2015, एवं वरिष्ठ नागरिकों के संबंध में 2016 के संबंध में जानकारी दी। ग्रामीणजनों को लंपी वायरस से निपटने में सरकार द्वारा संचालित योजनाओं और दवा औषधी के संबंध में जानकारी दी। साथ ही मृत्यु भोज निषेध कानून, बाल विवाह निषेध कानून और मोटर वाहन अधिनियम आदि के बारे में भी जानकारी दी।

खबरें और भी हैं...