हंडिया में शाही मस्जिद का हुआ ध्वस्तीकरण:शेरशाह सूरी के समय में हुआ था निर्माण, लोक निर्माण विभाग की मौजूदगी में की गई कार्रवाई

हंडिया23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हंडिया तहसील के अंतर्गत आने वाले सैदाबाद बाजार मे सार्वजनिक लोक निर्माण विभाग की जमीन पर शेरशाह सूरी के समय मे बनी शाही मस्जिद को कड़ी प्रशासनिक सुरक्षा बल और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों की मौजूदगी में जमीदोज कर दी गई, इस दौरान स्थानीय लोगो की आंखों में आंसू देखने को मिला।

लोक निर्माण विभाग द्वारा प्रयागराज से हल्दिया जीटी रोड का चौड़ीकरण किया जा रहा है जिसको लेकर शाही मस्जिद को पहले ही नोटिस दिया गया था लेकिन शाही मस्जिद को बचाने के लिए स्थानीय लोगों ने उच्च न्यायालय मे गुहार लगाई थी जहां से निराशा हाथ लगने के बाद सिविल न्यायालय की शरण ली है जहां सुनवाई चल रही है l

16 जनवरी को मिली है बहस की अगली डेटमस्जिद के इमाम मोहम्मद बाबुल हुसैन ने बताया कि हम लोग हाई कोर्ट गए थे लेकिन हाईकोर्ट ने कहा कि मामला सिविल कोर्ट का है जिसके बाद हम लोग सिविल कोर्ट गए जहां सिविल कोर्ट द्वारा हम लोगों के स्टे को खारिज कर दिया गया जिसके बाद हम लोग लोअर कोर्ट मे गए जहां हम लोगों की सुनवाई हुई l इमाम ने बताया कि 9 जनवरी को जब मस्जिद को गिराया गया उस दिन भी लोअर कोर्ट में मस्जिद को लेकर सुनवाई हुई थी l

मस्जिद के ध्वस्तीकरण के दौरान हम लोग ने अधिकारियों से बताए थे कि मामला कोर्ट में चल रहा है अभी कोई आदेश नहीं आया है इसके बावजूद भी मस्जिद को गिरा दिया गया lमस्जिद गिरा दी गई तो हम लोगों ने 10 तारीख को कोर्ट में हलफनामा दिया l इसके बाद आज और हम लोगों के वकील ने बताया है कि हम लोगों को बहस के लिए अगली डेट 16 जनवरी को मिली है l

राहगीरों की सेवा के लिए सड़क किनारे बनाया जाता था मस्जिद व सराय-

लोगो ने बताया कि शेरशाह सूरी के समय में उनके द्वारा सड़क निर्माण के बाद सड़क किनारे राहगीरों की सेवा के लिए मस्जिदे व सराए बनाई जाती थी। जिससे लंबा सफर तय करने वाले राहगीर यहां रुक कर आराम फरमा सके l

खबरें और भी हैं...