चर्च में धूमधाम से मनाया गया पुनरुथान दिवस:चर्च में ईस्टर महासभा एवं मसीही भजन, नृत्य का आयोजन

करछना, प्रयागराज3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

करछना। यीशु दरबार चर्च में पुनरुत्थान दिवस के रूप में ईस्टर धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर प्रातः काल ईस्टर डान सर्विस का आयोजन किया गया। जिसमें यीशा मसीह के क्रूस पर चढ़ने एवं तीसरे दिन कब्र में से जी उठने की घटना को जीवंत किया गया। तत्पश्चात यीशु दरबार चर्च में ईस्टर महासभा एवं मसीही भजन, नृत्य आदि का आयोजन किया गया।

शुआट्स कुलपति एवं यीशु दरबार चर्च के बिशप मोस्ट रेव्ह. राजेन्द्र बी. लाल ने सभी को पुनरूत्थान दिवस की बधाई देते हुए कहा कि पुनरूत्थान दिवस यीशु मसीह के मुर्दों में से तीसरे दिन जी उठने का दिन है। अर्थात ईस्टर, पूरी मानव जाति के लिए मृत्यु पर विजय का दिवस है। ये समाचार सारी मानव जाति के लिये खुशखबरी है कि परमेश्वर ने अपने पुत्र यीशु मसीह को मनुष्य बनाकर पृथ्वी पर भेजा।

यीशु ने सताने वालों के लिये प्रार्थना की। वे मुर्दों में से तीसरे दिन जी उठे ताकि मनुष्यों को पुनरूत्थान का मार्ग दिखा सकें। जो कोई यीशु मसीह का नाम लेगा वो निश्चित उद्धार पायेगा। उन्होंने लोगों से पाप से दूर रहने, लालच, व ईर्ष्या न करने का संदेश देते हुए कहा कि सच्चे और विश्वासी लोग स्वर्ग राज्य के अधिकारी होंगे।

पूर्व में रेव्ह. जय प्रकाश और डॉ. वीएम प्रसाद ने मसीही भजन ‘कहते हैं जगत के धर्मी, यीशु तो मेरा ही होगा’ की प्रस्तुति दी। अनीता ने भजन ‘करती हूँ मैं वन्दना’, ममता ने ‘बनके ज्योति चमकूं मैं यीशु तोरी’ याशमीन और डॉरकस मसीह ने ‘यीशु मसीह है हमारा’ की प्रस्तुति दी। सुचित्रा ने भजन ‘मेरे यहोवा तुमसे करते हैं फरियाद हम’ गाया। आशीष शर्मा ने मसीही भजन ‘यीशु मसीह है सबका मुक्ति दिलाने आया’ की प्रस्तुति दी।

बाबा हंसराज ने ‘यीशु मेरो राजा तेरा नाम मुबारक होवे, मर्सी ने ‘ये सुबहा भी कितनी हसीन हो गई है’, रेहाना ने ‘येरूशलम की नगरी तू है कितनी आलीशान’ की प्रस्तुति दी। स्नेह आश्रय के बच्चों ने मसीही भजन पर मनमोहक नृत्य एवं गीत की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम का समापन मसीही भजन ‘धन्यवाद धन्यवाद धन्यवाद, सारी आशीषों के स्रोत धन्यवाद’ से हुई।

खबरें और भी हैं...