पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रयागराज में पुलिस से भिड़ंत:सोशल डिस्टेंसिंग टूटने पर दरोगा ने युवक को जड़ा थप्पड़, लोगों ने किया पथराव; 4 पुलिसकर्मी जख्मी

प्रयागराज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिकंदरा गाजी मियां की मजार पर चादर चढ़ाने गए थे श्रद्धालु। कोरोना प्रोटोकॉल टूटने पर पुलिस के साथ झड़प। - Dainik Bhaskar
सिकंदरा गाजी मियां की मजार पर चादर चढ़ाने गए थे श्रद्धालु। कोरोना प्रोटोकॉल टूटने पर पुलिस के साथ झड़प।
  • 48 लोग सिकंदरा के गाजी मियां की मजार पर चादर चढ़ाने पहुंचे थे

संगम नगरी प्रयागराज में सिकंदरा गाजी मियां की मजार पर चादर चढ़ाने श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। इस दौरान कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने को लेकर पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। इस बीच पुलिस और श्रद्धालुओं के बीच झड़प हो गई। स्थानीय लोगों का आरोप है कि चादर चढ़ाने आए एक श्रद्धालु को चौकी इंचार्ज ने थप्पड़ जड़ दिया। इस पर बवाल हो गया। श्रद्धालुओं ने पथराव कर दिया। इसमें 4 पुलिसकर्मी समेत 12 लोग घायल हुए हैं। इनमें एक महिला कांस्टेबल भी शामिल है। पुलिस ने बवाल करने वाले कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया है।

लॉकडाउन के चलते बंद है मजार
मामला गंगा पार इलाके में स्थित बहरिया थाना क्षेत्र का है। यहां सिकंदरा बाजार स्थित गाजी मियां की मजार पर श्रद्धालु अपनी मनौती पूरी होने पर चादर चढ़ाने आते हैं। शुक्रवार और रविवार को अधिक भीड़ लगती है। इसी के तहत रविवार यानी आज वीकेंड लॉकडाउन के दौरान मजार पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। भीड़ अधिक होने की वजह से कोविड-19 गाइडलाइन का अनुपालन कराने के लिए वहां पर बहरिया पुलिस लगाई गई थी। बताया जा रहा है कि लॉकडाउन के दौरान से ही मजार बंद है, इसलिए पुलिस लोगों को निशान और चादर चढ़ाने से रोकती है।

सराय ममरेज से 4 दर्जन लोगों को लेकर पहुंचा परिवार
गंगा पार के ही सराय ममरेज थाना अंतर्गत गोपाली पुर गांव के करीब 48 लोग सिकंदरा के गाजी मियां की मजार पर रविवार दोपहर को चादर चढ़ाने पहुंच गए। जिससे वहां अच्छी खासी भीड़ हो गई। गोपालीपुर गांव निवासी चंद्र शेखर पुत्र शंभू नाथ गाजे-बाजे के साथ चढ़ावा चढ़ाने पहुंचे थे। सभी लोग अपनी धुन में गाजी मियां की मजार की तरफ बढ़ रहे थे। तभी वहां मौजूद 2 पुलिसकर्मियों ने बताया कि मजार में ताला बंद है। वह आगे नहीं जा सकते हैं। लेकिन चढ़ावा लेकर आने वाले लोग मानने को तैयार नहीं थे। इसी बात को लेकर पुलिस और चढ़ावा लेकर आने वाले लोगों में बहस हो गई। स्थानीय लोगों को कहना है कि चौकी इंचार्ज सिकंदरा शुभनाथ साहनी ने निशान लेकर आने वाले लोगों में शामिल एक व्यक्ति को सरेआम थप्पड़ जड़ दिया। जिससे लोग भड़क उठे और बवाल हो गया।

महिला कांस्टेबल समेत चार पुलिसकर्मी घायल
पुलिस की तरफ से थप्पड़ जड़े जाने से खफा लोगों ने पुलिस टीम पर पथराव शुरू कर दिया। महिला सिपाहियों ने लोगों को समझाने का प्रयास किया। लेकिन लाठी-डंडा लेकर आए चढ़ावा चढ़ाने वाले लोगों ने उन पर भी हमला कर दिया। जिससे अच्छा खासा हंगामा खड़ा हो गया। पथराव और मारपीट में महिला कांस्टेबल सुमन यादव, कांस्टेबल नंदलाल, चंद्रवीर और चौकी इंचार्ज शुभ नाथ साहनी जख्मी हुए हैं। घायल पुलिसकर्मियों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बहरिया में भर्ती कराया गया है।

महिला समेत तीन को पुलिस ने लिया हिरासत में

मौके से पुलिस ने चढ़ावा लेकर आने वाले चंद्रशेखर, अभिजीत, सुशीला देवी को हिरासत में लिया है। चढ़ावा लेकर आने वालों की तरफ से राजेश, पिंटू, गुड्डू, अभिषेक और विनीता को चोटें आई हैं। मौके पर कई थानों की फोर्स तैनात है।

खबरें और भी हैं...