• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • ATS Nabs Another Terrorist From Prayagraj : ATS Will Come Again Today To Find Some More Terrorists In The Sleeper Cell, Input Received After The Arrest Of ISI Terrorist Zeeshan

ATS ने प्रयागराज से एक और आतंकी दबोचा:स्लीपर सेल में कुछ और आतंकियों को खोजने आज फिर आएगी ATS, ISI से जुड़े आतंकी जीशान की गिरफ्तारी के बाद मिला इनपुट

प्रयागराज3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
करेली के एक घर में सर्च ऑपरेशन के दौरान तैनात एटीएस के जवान। - Dainik Bhaskar
करेली के एक घर में सर्च ऑपरेशन के दौरान तैनात एटीएस के जवान।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल से मिली खुफिया रिपोर्ट के आधार पर एंटी टेरेरिस्ट स्क्वाड (ATS) ने प्रयागराज में आतंकवादियों की तलाश तेज कर दी है। मंगलवार को आईएस आई से जुड़े आतंकी जीशान की गिरफ्तारी के बाद मिले खुफिया इनपुट के आधार पर बुधवार को एक और आतंकी मोहम्मद ताहिर उर्फ मदनी को गिरफ्तार किया गया।

सूत्रों के मुताबिक गुरुवार को एटीएस और दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल जीशान को लेकर फिर प्रयागराज आ रही है। उससे मिले इनपुट के आधार पर करेली और नैनी के डांडी में सलीपर सेल के कुछ सदस्यों की खोज में छापेमारी की जाएगी।

फिलहाल देशभर से पकड़े गए सभी 6 संदिग्धों को से दिल्ली में कड़ी पूछताछ की जा रही है। संगम नगरी से तो आतंकवादियों के पकड़े जाने के बाद ATS और NIA सक्रिय हो गई है। दोनों के संपर्क में रहे लोगों से भी पूछताछ होगी।

15 साल बाद आतंकी गतिविधियों से फिर सुर्खियों में शहर

प्रयागराज में आतंकी नेटवर्क कोई पहली बात नहीं है। मार्च 2006 में वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन और संकट मोचन मंदिर में सीरियल बम धमाकों के मास्टर माइंड वलीउल्लाह को फूलपुर से गिरफ्तार किया गया था। एटीएस ने उस समय बताया था कि वलीउल्लाह के ठिकाने पर ही कुकर बम तैयार किया गया था, जिसका प्रयोग वाराणसी सीरियल बम ब्लास्ट में किया गया था। उस समय वलीउल्लाह समेत तीन आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया था। सभी आतंकी जेल में बंद हैं।

स्थानीय पुलिस और लोकल इंटेलिजेंस को आतंकी गतिविधियों की हवा तक नहीं

अब जबकि ताजा मामले में दो और आतंकवादी गिरफ्तार किए गए हैं, लोकल इंटेलिजेंस व स्थानीय पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं। पुलिस की नाक के नीचे आतंकवादी गतिविधियां हो रही थीं और स्थानीय पुलिस व लोकल इंटेलिजेंस को हवा तक नहीं लगी। फिलहाल धर्म अध्यात्म की नगरी प्रयागराज में 15 साल बाद आतंकी कनेक्शन मिलने से सनसनी फैल गई है। चर्चा का विषय हो गया है किस शहर में आतंकी पनाह लिए बैठे हैं और पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है।

आतंकियों के नेटवर्क ध्वस्त करने में लगी एटीएस

सूत्रों के मुताबिक गिरफ्तार किए गए आईएसआई समर्थित आतंकी जीशान और मोहम्मद ताहिर उर्फ मदनी के नेटवर्क को तलाशने में एंटी टेरेरिस्ट स्क्वाड सक्रिय हो गई है। देशभर से गिरफ्तार किए गए सभी छह आतंकवादियों से दिल्ली में कड़ी पूछताछ की जा रही है। यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि अभी कितने और आतंकवादी संगम नगरी में छिपे हुए हैं। दोनों आतंकवादियों के संपर्क में रहे लोगों का पता लगाया जा रहा है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म व सर्विलांस पर लगे नंबरों व पूछताछ के आधार पर मिले इनपुट के आधार पर एटीएस नेटवर्क को ध्वस्त करने का प्रयास कर रही है।

खबरें और भी हैं...