प्रयागराज में बीडीसी सदस्य के अपहरण की कोशिश:ब्लॉक प्रमुख चुनाव में पोलिंग सेंटर के बाहर से अपहरण की लाइव वीडियो वायरल होने पर हड़कंप

प्रयागराज3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीडीसी सदस्य के अपहरण की कोशिश कर रहे लोगों के चंगुल से पुलिस ने उसे छुड़ाया। - Dainik Bhaskar
बीडीसी सदस्य के अपहरण की कोशिश कर रहे लोगों के चंगुल से पुलिस ने उसे छुड़ाया।

यूपी के प्रयागराज में ब्लाक प्रमुख के पद के लिए शनिवार को हो रहे मतदान के दौरान एक बीडीसी सदस्य की सरेआम अपहरण की कोशिश की गई। यमुनापार के विकास खंड चाका के गेट के सामने हुए इस अपहरण का लाइव वीडियो वायरल हुआ तो खलबली मच गई। पता चलने पर पहुंचे पुलिस वालों ने किसी तरह से स्थिति को संभाला और अपहृत बीडीसी सदस्य को अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छुड़वाया।

रीवा रोड पर हुए इस घटनाक्रम के बाद लगी भीड़ को पुलिस ने लाठी पटक कर तितर बितर किया। अपहरण की कोशिश का आरोप सपा प्रत्याशी के समर्थकों पर लगा है।

पोलिंग स्टेशन चाका ब्लाक के सामने की घटना, सपा प्रत्याशी पर आरोप

प्रयागराज के विकास खंड शाखा में सपा की तरफ से अनिल कुमार सिंह पटेल और भाजपा की तरफ से राजू सिंह पटेल ब्लाक प्रमुख का चुनाव लड़ रहे थे। शनिवार को वोटिंग चालू थी। दोपहर में पोलिंग स्टेशन के बाहर से हाकी और डंडे के बल पर सफेद रंग की सफारी कार सवार लोग बीडीसी सदस्य मुमताज अहमद को जबरन गाड़ी में बैठाने लगे। अपहरण की कोशिश कर रहे हैं। लोग बीडीसी सदस्यों से कहीं चलने के लिए कह रहे थे, लेकिन वह कह रहा था कि मेरी बेटी की तबीयत खराब है। इसलिए मैं कहीं नहीं जाऊंगा। देखते ही देखते वहां अच्छा खासा मजमा लग गया। रीवा रोड जाम हो गई सरेआम किसी के अपहरण की कोशिश देख लोग भौचक थे। पता चलने पर वहां मौजूद पुलिस वाले पहुंचे और डांट डपट कर बीडीसी को उठाने की कोशिश कर रहे लोगों को वहां से हटाया।इसी दौरान किसी ने इस पूरी घटना का वीडियो बना लिया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

सपाइयों को शक था कि बीडीसी ने क्रॉस वोटिंग की है

चाका ब्लॉक गेट के ठीक बाहर अपहरण की घटना से हड़कंप मचा रहा। बताया गया कि वोट डालने के बाद बीडीसी सदस्य मुमताज बाहर निकल रहा था। सपा कार्यकर्ताओं को आशंका थी कि मुमताज ने क्रॉस वोटिंग की है और बीजेपी के पक्ष में मतदान किया है। अपहरण के कोशिश की घटना के बाद पुलिस ने पोलिंग सेंटर के बाहर लोगों को लाठियों के बल पर हटाया। चाका ब्लाक सेंटर के बाहर माहौल तनावपूर्ण बन गया था। सपा और बीजेपी के समर्थक आमने सामने आ गए थे। हालांकि बाद में सामान्य हो गई यहां से सपा प्रत्याशी अनिल कुमार पटेल विजई घोषित किए गए। नैनी कोतवाली के मामा भांजा चौकी इंचार्ज जगदीश कुमार का कहना है कि अपहरण नहीं हुआ था। कुछ लोग बीडीसी सदस्य को गाड़ी में बैठाने की कोशिश कर रहे थे, जिन्हें डाट डपटकर छुड़ा दिया गया।

खबरें और भी हैं...