पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रयागराज में खोला गया दूसरा एटीएम:आग से खाक हुए दूसरे एटीएम में भी सुरक्षित मिला कैश, अधिकारियों ने ली राहत की सांस

प्रयागराज3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रयागराज में एसबीआई के दूसरे एटीएम में भी कैश सुरक्षित मिला। - Dainik Bhaskar
प्रयागराज में एसबीआई के दूसरे एटीएम में भी कैश सुरक्षित मिला।

प्रयागराज में पांच दिन पहले अतरसुइया थाना क्षेत्र के गोल पार्क स्थित एसबीआई के एटीएम बूथ में लगी आग के दौरान जली दूसरी मशीन को भी शुक्रवार को खोला गया। उस मशीन में भी सारा कैश सुरिक्षत मिला। हालांकि मशीन में कितने रुपये थे यह बताने से बैंक के शीर्ष अफसर कतराते नजर आए।

सिक्योरिटी रीजन से नहीं बताया मशीन में कितना था कैश
सिक्योरिटी रीजन का हवाला देकर बैंक अधिकारियों ने कैश की निर्धारित संख्या बताने से मना कर दिया। हैरानी की बात है गुरुवार को खोली गई पहली मशीन में 15 लाख 49 हजार 500 रुपये के बारे में बैंक अधिकारियों ने आराम से बता दिया था। तब कोई सिक्योरिटी रीजन नहीं था, लेकिन जब दूसरी मशीन खोली गई तो सिक्योरिटी रीजन का बहाना बनाकर उसका बैलेंस बताने से मना कर दिया गया। बैंक अधिकारियों के इस रवैये से सवाल उठ रहे हैं। इसके पीछे बैंक अधिकारियों का बड़ा गोलमाल हो सकता है।

कहा-किसी ने मूर्खता की तो क्या हम भी मूर्खता कर दें?
मीरापुर एसबीआई के ब्रांच मैनेजर सत्येंद्र कुमार उत्पल और सीएमएस अनिल सिन्हा ने पहले तो बैलेंस चेक करके बताने की बात घंटों करते रहे फिर अचानक से उन्होंने कहा कि सिक्योरिटी रीजन से हम बैलेंस नहीं बता सकते। पूर्व में बैलेंस की बातें कैसे लीक हुईं। इस पर सीएमएस अनिल सिन्हा का कहना था कि किसी ने मूर्खता की तो क्या जरूरी है कि हम भी मूर्खता कर दें। बैंक अधिकारियों का इस तरह का जवाब कहीं न कहीं सिक्योरिटी रीजन से ज्यादा उनके काले कारनामों को छिपाने का बहाना भी बताया जा रहा है। क्योंकि आग लगने की जो वजह बताई जा रही उसमें भी संशय है। जो पुलिस की जांच के बाद ही तय हो पाएगी।

पांच जुलाई को शार्ट सर्किट की वजह से लगी थी आग, जल गई थी दो मशीनें
पांच जुलाई की सुबह शहर के अतरसुइया गोल पार्क के समीप स्थित एसबीआई के एटीएम बूथ में आग लग गई थी। उस वक्त वहां सिक्योरिटी गार्ड मौजूद था। उसी ने पुलिस को सूचना दी थी। फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियों ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाया था। इस दौरान बूथ में लगी एस निकासी और कैश जमा करने की दोनों मशीने जल गई थीं।

खबरें और भी हैं...