प्रयागराज…दूरी रोकेगी TET में सेंधमारी:TET के लिए सिटी के आसपास ही बनेंगे सेंटर्स, एक परीक्षा केंद्र पर 500 से कम नहीं होंगे अभ्यर्थी

प्रयागराजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET) में किसी भी प्रकार की सेंधमारी न हो सके। इसके लिए परीक्षा नियामक प्राधिकारी(PNP) की ओर से तैयारी को अंतिम रूप दिया जा रहा है। UPTET के आगामी आयोजन को लेकर इस बार किसी भी जिले के मुख्यालय से कम दूरी वाले सेंटर्स को ही प्राथमिकता दी जाएगी। वहीं एक परीक्षा केंद्र पर 500 से कम अभ्यर्थी नहीं होंगे।

पेपर आउट के बाद निरस्त हुई थी परीक्षा

28 नवंबर को पूरे प्रदेश में UPTET की परीक्षा का आयोजन किया गया था। जिसमें 21 लाख 65 हजार परीक्षार्थी ने आवेदन किया था, पर एग्जाम शुरू होने से पहले ही प्रश्नपत्र लीक हो जाने के कारण परीक्षा को निरस्त कर दिया गया था।

इस बार घटेंगे परीक्षा केंद्र

दरअसल 28 नवंबर को आयोजित UPTET में एक खामी यह भी थी कि परीक्षा केंद्रों को शहर से 70 किमी दूर भी बना दिया गया था। इस वजह से सेंटर्स पर मुख्यालय से प्रश्नपत्र ले जाने में परेशानी के साथ ही लीक हो जाने का खतरा रहता है। वहीं इसबार परीक्षा केंद्रों को शहर के नजदीक रखा जाएगा। एक सेंटर्स पर कम से कम 500 अभ्यर्थी होंगे। जबकि पिछली बार 300 अभ्यर्थियों को रखा गया था, जिससे सेंटर्स की संख्या भी बढ़ गई थी। उल्लेखनीय है कि सूबे में 4308 परीक्षा केंद्र बनाये गए थे।

20 से 30 जनवरी के बीच हो सकती है TET

आगामी आयोजित UPTET की नई डेट का प्रस्ताव शासन को पिछले 10 दिसंबर को PNP की ओर से भेजा जा चुका है। सूत्रों की माने तो परीक्षा 20 से 30 जनवरी के बीच किसी भी तिथि पर करायी जा सकती है। वहीं परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी का कहना है कि शासन को परीक्षा के लिए प्रस्तावित तिथि भेजी गई है।

अब तक 37 लोग गिरफ्तार

प्रदेश के सभी जिलों में यूपी टीईटी की परीक्षा 28 नवंबर को थी। इससे एक दिन पहले ही टीईटी पेपर आउट हो गया। इस वजह से परीक्षा रद करनी पड़ी। प्रदेश में करीब 21 लाख परीक्षार्थी प्रभावित हुए थे। मामले में यूपी एसटीएफ ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव रहे संजय उपाध्याय, राय अनूप प्रसाद समेत करीब 37 आरोपियों की गिरफ्तारी कर चुकी है।

खबरें और भी हैं...