• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • Confluence Of Folk Arts On The Streets Of Prayagraj, Organizing Colorful Programs Under The Amrit Mahotsav Of Azadi, Applause On The Poems Of Padmashree Sunil Jogi

प्रयागराज की सड़कों पर लोक कलाओं का संगम:आजादी का अमृत महोत्सव के तहत रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन, पद्मश्री सुनील जोगी की कविताओं पर बजी तालियां

प्रयागराजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रयागराज के सीएवी इंटर कालेज में लकड़ी के खंभे पर प्रदर्शन करते कलाकार। - Dainik Bhaskar
प्रयागराज के सीएवी इंटर कालेज में लकड़ी के खंभे पर प्रदर्शन करते कलाकार।
प्रयागराज की सड़कों पर कलाओं का प्रदर्शन करते चल रहे विभिन्न राज्यों से आए कलाकार।
प्रयागराज की सड़कों पर कलाओं का प्रदर्शन करते चल रहे विभिन्न राज्यों से आए कलाकार।

मंगलवार को प्रयागराज की सड़कों पर आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत विभिन्न कलाओं का संगम दिखा। यहां देश के विभिन्न राज्यों से आए 750 लोक कलाकारों ने अपनी कलाओं के जरिए रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया। केपी कॉलेज मैदान से निकली कला यात्रा शहर के विभिन्न इलाकों तक पहुंची। यह एमजी मार्ग पर मेडिकल चौराहे से लाउदर रोड होते हुये ऋषि भारद्वाज आश्रम चौराहा थार्नहिल मार्ग की ओर मुड़कर चन्द्रशेखर आजाद पार्क द्वार से हिन्दू हाॅस्टल से होते हुए लोक सेवा आयोग से आगे हनुमान मन्दिर, सिविल लाइन्स होते हुए सीएवी इंटर कालेज ग्राउंड पर समाप्त हुई। यहां जाने माने कवि पद्मश्री डॉ. सुनील जोगी ने अपनी राष्ट्रभक्ति कविताओं के जरिए लोगों को ओत प्रोत किया।

तलवारों के बीच अपनी कलाओं का प्रदर्शन करते कलाकार।
तलवारों के बीच अपनी कलाओं का प्रदर्शन करते कलाकार।

लकड़ी के खंभे पर कलाकारों का प्रदर्शन

सीएवी इंटर कॉलेज में रात में आयाेजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में ढेढ़िया नृत्य के अन्तर्गत लोक कलाकारों द्वारा जालीदार रंग-बिरंगे घड़ों में दीप जलाकर सर पर रखकर नृत्य किया। इसी तरह से मलखम्भ के अन्तर्गत मध्य प्रदेश एवं महाराष्ट्र के कलाकारों के द्वारा व्यायाम और शारीरिक शौष्ठव गतिविधियों के अन्तर्गत लकड़ी के खम्भे पर युवा कलाकारों के द्वारा विभिन्न मुद्राओं में अपनी कला का प्रदर्शन किया गया, जो लोगो को काफी पसंद आया। इसी तरह से गतका के अन्तर्गत पंजाब के कलाकारों के द्वारा पूर्व की सदियों में युद्ध में योद्धा जो कौशल का प्रदर्शन करते थे, उन्हीं अस्त्र-शस्त्रों के साथ कलाकारों के द्वारा प्रदर्शन किया गया।

देशभक्ति कविताओं पर झूम उठे श्रोता

सांस्कृतिक कार्यक्रम में कलाकारों द्वारा शानदार प्रस्तुति की गई। यहां पद्मश्री डॉ.सुनील जोशी ने देश भक्ति कविताओं की प्रस्तुति की तो श्रोता भी भावभिवोर हो गए। इसके पूर्व कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि इस कार्यक्रम की रचना प्रधानमंत्री द्वारा की गई है। इसके देश की कलाओं का प्रदर्शन तो होगा ही साथ ही कलाकारों का भी उत्साह बढ़ेगा। उन्होंने भारत को आजादी दिलाने में महाराजा सुहेलदेव तथा अन्य शूरवीरों के योगदान के बारे में बताया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी शिपू गिरि, सचिव संस्कृति विभाग, जिला विकास अधिकरी समेत अन्य रहे। संचालन डॉ. प्रभाकर त्रिपाठी ने किया।

खबरें और भी हैं...